चीन के बाद दक्षिण कोरिया की रैपिड जांच किट भी हुई फेल, कोरोना पॉजिटिव मरीजों को बताया नेगटिव

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. भारत में कोरोना संकट से निपटने के लिए चीन से रैपिड जांच किट मंगाई गई थी जो फेल हो गई थी। इसके बाद केंद्र सरकार ने दक्षिण कोरिया की एक कंपनी द्वारा निर्मित किट मंगाई थी लेकिन वो भी विफल हो गई। इन रैपिड किट ने कई कोरोना पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट भी नेगेटिव दी है।

हरियाणा सरकार ने लगाई रोक

जानकारी के मुताबिक, हरियाणा सरकार ने कीटों से जांच पर रोक लगा दी है। गुरुग्राम की एसआरएल लैब पर भी कार्रवाई तय हो गई है, जिसके खिलाफ करनाल और सोनीपत मेडिकल कॉलेज के बाद अब रोहतक पीजीआइ ने भी नकारात्मक रिपोर्ट दी है।

केंद्र सरकार और ICMR ने दी थी मंजूरी

बता दें दक्षिण कोरिया की कंपनी द्वारा मानेसर के आइटी पार्क में रैपिड किट से टेस्ट की मंजूरी केंद्र सरकार और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने भी दी थी। इसके बाद हरियाणा सरकार को 380 रुपए की दर से 25 हजार किट की डिलीवरी की गई थी। जबकि 75 हजार किट के आर्डर पेंडिंग ही हैं। प्रदेश सरकार ने इन रैपिड किटों से टेस्टिंग शुरू करने से पहले कोरोना पॉजिटिव मरीजों पर इस्तेमाल करने का फैसला लिया। लेकिन इसके नतीजे सही नहीं मिले हैं। पॉजिटिव मरीजों को रैपिड किट में नेगेटिव दिखाया गया। जब अधिकतर ऐसे मामले सामने आए तो राज्य सरकार ने इन किटो के इस्तेमाल पर रोक लगा दी।

Related posts