आगरा का पारस अस्पताल सील, 22 लोगों की ऑक्सीजन की कमी से मौत होने का वीडियो वायरल

चैतन्य भारत न्यूज

आगरा के पारस हॉस्पिटल को सील कर दिया गया है। इस अस्पताल का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें ऑक्सीजन की कमी के मॉकड्रिल के दौरान 22 लोगों की मौत का दावा किया जा रहा है। फिलहाल, पूरे मामले की जांच की जा रही है। हॉस्पिटल को सीज करने के साथ ही संचालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने बताया कि अस्पताल के संचालक डॉ। अरिंजय जैन के खिलाफ महामारी अधिनियम में मुकदमा दर्ज होगा। दरसअल, अरिंजय जैन का एक वीडियो सामने आया है। इसमें डॉक्टर को ये कहते हुए सुना जा रहा है कि 26 अप्रैल को अस्पताल में मरीजों की संख्या बढ़ गई थी। इस वजह से 5 मिनट के लिए ऑक्सीजन सप्लाई बंद कर दी। इससे 22 मरीजों की मौत हो गई। इस मामले में डॉ। अरिंजय ने ये तो माना है कि आवाज उन्हीं की है, लेकिन वो सारे आरोपों को खारिज करते हैं।

अस्पताल में 55 मरीज भर्ती हैं, जिन्हें सीएमओ की टीम शिफ्ट कराएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी से 22 मरीजों की मौत की बात निराधार है। ऑक्सीजन कमी से एक भी मौत नहीं हुई है। अस्पताल में हुई सभी मौतों का अलग से सीएमओ टीम से ऑडिट कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि तथाकथित वायरल वीडियो में कहा गया है कि मोदीनगर ड्राई हो गया है। इससे जन सामान्य में भय फैला। यह कृत्य महामारी में ठीक नहीं है।

आगरा प्रशासन ने जारी किया ऑक्सीजन स्टेटस

आगरा प्रशासन ने 25 मई से से लेकर 27 मई तक के बीच ऑक्सीजन सिलेंडर का स्टेटस जारी किया है। प्रशासन के मुताबिक 25 अप्रैल को आपूर्तित सिलेंडर की संख्या 149 था, वहीं 20 सिलेंडर रिजर्व रखे गए थे। 26 अप्रैल को 121 आपूर्तित सिलेंडर थे, वहीं 15 सिलेंडर रिजर्व रखे गए थे। 27 अप्रैल को 117 सिलेंडर थे, वहीं 16 सिलेंडर रिजर्व रखे गए थे।

राहुल-प्रियंका ने किया हमला

इस मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी सरकार को निशाने पर लिया है। राहुल ने सोशल मीडिया पर लिखा, ‘भाजपा शासन में ऑक्सीजन और मानवता दोनों की भारी कमी है। इस खतरनाक अपराध के जिम्मेदार सभी लोगों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए। दुख की इस घड़ी में मृतकों के परिवारजनों को मेरी संवेदनाएं।’

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उस वीडियो को पोस्ट किया है, जिसमें पारस अस्पताल के मालिक डॉक्टर अरिंजय जैन यह कह रहे हैं कि 5 मिनट के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति बंद कर दी गई और 22 मरीजों की मौत हो गई।

Related posts