कृषि कानून को लेकर राज्यसभा में तल्ख बहस: कृषि मंत्री बोले- दुनिया जानती है कि पानी से खेती होती है, खून से खेती सिर्फ कांग्रेस ही कर सकती है

चैतन्य भारत न्यूज

राज्यसभा में शुक्रवार सुबह जब किसानों के मुद्दे पर बहस शुरू हुई, तो सभी सांसदों के तल्ख तेवर नजर आए। किसान आंदोलन के मामले पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने राज्यसभा में कांग्रेस पार्टी पर जमकर निशाना साधा। कृषि मंत्री ने कहा कि कांग्रेस ‘खून से खेती’ कर सकती है।

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने राज्यसभा में कहा कि, कृषि कानूनों को लेकर विरोध केवल एक राज्य तक ही सीमित है और किसानों को उकसाया जा रहा है। कृषि मंत्री ने दावा किया कि, किसान संगठन, विपक्षी दल तीनों नए कृषि कानूनों में एक भी खामी बताने में नाकाम रहे। वहीं कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे को एक में जवाब में तोमर ने कहा कि पानी से खेती होती है। खून से खेती कांग्रेस करती है, भाजपा नहीं।

गुरुवार को राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर आगे की चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि हमारा ध्यान किसानों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाना है। किसने सोचा होगा कि फलों और सब्जियों को रेल द्वारा ले जाया जाएगा? एक तरह से मोबाइल कोल्ड स्टोरेज वाली 100 किसान रेल शुरू की गई हैं। वे किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने में मदद कर रहे हैं।

सिर्फ एक राज्य को इससे दिक्कत- तोमर

केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि किसानों को गुमराह किया जा रहा है कि अगर इन कानूनों को लागू किया गया तो अन्य लोग उनकी जमीन पर कब्जा कर लेंगे। मुझे बताएं कि क्या कृषि कानून में एक भी प्रावधान है जो किसी भी व्यापारी को किसी भी किसान की जमीन छीनने की अनुमति देता है।

Related posts