स्टैचू और स्टेडियम के बाद अब गुजरात में बनेगा दुनिया का सबसे ऊंचा मंदिर, 1 हजार करोड़ आएगा खर्चा!

umiya devi temple

चैतन्य भारत न्यूज

अहमदाबाद. गुजरात में दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ और सबसे बड़ा स्टेडियम मोटेरा तो बन गया है और अब जल्द ही यहां दुनिया का सबसे ऊंचा मंदिर भी बनने जा रहा है। शुक्रवार और शनिवार को इस मंदिर का शिलान्यास किया जाएगा। आइए जानते हैं दुनिया के सबसे ऊंचे मंदिर की खासियत के बारे में।


 

2 लाख लोग होंगे शामिल

यह मंदिर विश्व उमिया फाउंडेशन की ओर से अहमदाबाद के वैष्णोदेवी-जासपुर के पास 100 बीघा जमीन पर बनाया जाएगा। मंदिर पाटीदारों की कुलदेवी मां उमिया का होगा। इसकी ऊंचाई 431 (131 मीटर) फीट होगी। मंदिर को बनाने में करीब 1 हजार करोड़ का खर्चा आएगा। मंदिर के शिलान्यास में देशभर के करीब 2 लाख लोग शामिल होने का अनुमान है।

निकाली गई उमिया यात्रा

मंदिर के शिलान्यास से पहले अहमदाबाद में पाटीदार समाज द्वारा बाइक और कार लेकर ‘उमिया यात्रा’ निकाली गई। इस यात्रा में 52 गज की ध्वजा भी लाई गई थी। यात्रा शहर के अलग-अलग हिस्सों में निकाली गई। 37 किमी की यात्रा जासपुर में जाकर खत्म हुई जहां मंदिर का निर्माण होना है।

ऐसा होगा मंदिर का डिजाइन

इस मंदिर का डिजाइन जर्मन और भारतीय आर्किटेक्ट ने मिलकर तैयार किया है। मंदिर के अंदर के हिस्से में एक व्यूइंग गैलरी बनाई जाएगी जहां से पूरे अहमदाबाद का नजारा देखा जा सकता है। इस व्यूइंग गैलरी की ऊंचाई तकरीबन 82 मीटर ऊंची होगी। मंदिर के गर्भ गृह को भी भारतीय संस्कृति के मुताबिक तैयार किया जाएगा। इसमें मां उमिया की मूर्ति 52 मीटर की ऊंचाई पर प्रस्थापित की जाएगी। इसके अलावा मंदिर में शिवलिंग भी स्थापित किया जाएगा।

ट्री म्युजियम भी बनेगा

उमिया फाउंडेशन के अध्यक्ष आरपी पटेल ने कहा कि, ‘हमारे इस अभूतपूर्व समारोह के लिए करीब 50 कमेटियां बनाई गई हैं। जिसमें 5000 से ज्यादा स्वयंसेवक योगदान दे रहे हैं। मंदिर ट्रस्ट द्वारा सरकार के सहयोग से विश्व का दूसरे नंबर का ट्री म्युजियम भी यहां बनाया जाएगा।’

ये भी पढ़े…

अयोध्या में स्थापित होगी भगवान श्रीराम की विश्व की सबसे ऊंची और भव्य प्रतिमा
स्टैच्यू ऑफ यूनिटी ने कमाई के मामले में ताजमहल को पछाड़ा, एक साल में कमाए इतने करोड़

 

Related posts