एआईसीटीई की नई पहल, अच्छा काम करने वाले छात्रों और शिक्षकों को शाबाशी के तौर पर मिलेगा कैशबैक

aictc

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) ने शिक्षकों, कर्मचारियों और छात्रों के व्यवहार में सुधार करने के लिए एक अनोखी पहल की है। एआईसीटीई द्वारा अब से अच्छा काम करने वाले लोगों को शाबाशी के रूप में प्रोत्साहन मुद्रा मिलेगी। खास बात यह है कि इससे कैशबैक भी लिया जा सकता है।

यह नई पहल एआईसीटीई के मुख्यालय में अगले हफ्ते से शुरू हाेगी। अच्छा काम करने वाले लोगों को प्रोत्साहन मुद्रा एप के जरिए रिवार्ड प्वाइंट मिलेंगे। फिर इन्हे तय किए गए स्टोर से डिस्काउंट के रूप में कैशबैक जैसे हासिल कर सकते हैं। फिलहाल इसे पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर चलाया जाएगा। फिर 6 महीने बाद एआईसीटीई की सभी साढ़े 10 हजार तकनीकी संस्थाओं में इसे लागू कर दिया जाएगा। इसके लिए एआईसीटीई और स्मार्ट कुकी रिवॉर्ड प्राइवेट लिमिटेड के बीच समझाैता हुआ है।

संबंधित अधिकारी ने बताया कि, सभी सीनियर अच्छा काम करने के लिए अपने जूनियर को शाबाशी देते हैं। ऐसे में प्रोत्साहन एप के जरिए भी 12 तरह के कामों की शाबाशी के लिए प्रोत्साहन मुद्रा दी जाएगी। साथ ही वरिष्ठ अफसरों और शिक्षकों को भी अच्छा काम करने के लिए रिवॉर्ड दिए जाएंगे। बता दें यह प्रोत्साहन मुद्रा प्रोत्साहन भारती एप के माध्यम से दी जाएगी। एआईसीटीई के चेयरपर्सन अनिल सहस्रबुद्धे ने कहा कि उनका मकसद छात्र-छात्राओं को मोटीवेट करना है।

अधिकारियों ने यह भी बताया कि, ‘प्रोत्साहन के लिए मिलने वाले कैशबैक को नगद की तरह नहीं देखना चाहिए, बल्कि इसके बदले आपको किसी भी प्रोडक्ट में डिस्काउंट या सामान खरीदने का विकल्प मिलेगा। सूत्रों के मुताबिक, मोंटे कार्लो, सबवे, एडिडास और हल्दीराम से इसके लिए बातचीत अंतिम दौर में है। इसके अलावा कई स्थानीय वेंडरों और दुकानदारों से भी बात की जाएगी।

Related posts