पूर्वोत्तर के दौरे पर मोदीः अरुणाचल प्रदेश को दी एयरपोर्ट की सौगात, असम में नागरिकता संशोधन बिल पर बोले

चैतन्य भारत न्यूज।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव से पहले आज पीएम नरेंद्र मोदी पूर्वोत्तर के दौरे पर हैं, जहां वह तीन जनसभा को संबोधित करेंगे। इस दौरान उन्होंने दो एयरपोर्ट का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इस क्षेत्र के लिए तो ये और भी अहम अवसर है, क्योंकि आज़ादी के इतने वर्षों तक यहां एक भी ऐसा एयरपोर्ट नहीं था।

4 हजार करोड़ से ज्यादा की परियोजनाओं का शिलान्यास

लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि पिछली सरकार ने विकास को लेकर इस क्षेत्र की उपेक्षा की लेकिन हमारी सरकार का नजरिया अलग है। पूर्वोतर में योजनाओं की सौगात देने पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी ने अरुणाचल प्रदेश में 4 हजार करोड़ से ज्यादा रुपए की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया।मोदी ने कहा हमारी सरकार पूर्वोतर के विकास के लिए हमेशा तत्पर है।

रैली को संबोधित करते हुए अपनी सरकार की उपल्बधियां गिनाईं। इस दौरान पीएम ने कहा कि मैं बार-बार कहता आया हूं कि न्यू इंडिया तभी अपनी पूरी शक्ति से विकसित हो पाएगा, जब पूर्वी भारत, नॉर्थ ईस्ट का तेज गति से विकास होगा।

हमने घरों से अंधेरे को दूर किया

इस दौरान उन्होंने कहा आज अरुणाचल ने जो हासिल किया है वो बहुत ही जल्द पूरे देश में होने वाला है। सौभाग्य योजना के तहत देश में करीब 2.5 करोड़ परिवारों के घरों से अंधेरे को दूर किया जा चुका है। उन्होंने कहा, नए एयरपोर्ट बनने से, नई रेल लाइन बिछने से, यहां देश विदेश के टूरिस्टों की संख्या भी बढ़ेगी। राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने को लेकर पीएम ने कहा कि अरुणाचल के लिए ना तो प्रकृति ने कोई कमी छोड़ी है और ना ही अध्यात्म और आस्था से जुड़े स्थानों की यहां कमी है।

 हमारी सरकार की विकास की पंचधारा है……

  1. बच्चों की पढ़ाई।
  2. युवा को कमाई।
  3. बुजुर्गों को दवाई।
  4. किसान को सिंचाई और
  5. जन-जन की सुनवाई।

बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी पूर्वोत्तर के दो दिवसीय दौरे पर हैं।

असम में मोदीः बिना जांच-पड़ताल नागरिकता नहीं मिलेगी

असम में चांगसारी के अमीनगांव में नागरिकता संशोधन बिल के बारे में बोलते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा बिना जांच-पड़ताल और राज्य की सिफारिश के बिना किसी को नागरिकता नहीं दी जाएगी। उन्होंने कांग्रेस और विपक्षी दलों पर भ्रम फैलाने का आरोप लगाया। रैली में पीएम मोदी ने कहा कि हमें भारत के संसाधनों पर कब्जा करने के इरादे घुसने वाले और अत्याचार के कारण अपना घर बार छोड़ने पर मजबूर लोगों का फर्क समझना चाहिए।

नागरिकता बिल पर पीएम मोदी ने कहा, कि भारत सरकार सिटिजनशिप बिल के अलावा असम समझौते में में निहित 6 समुदायों को जनजाति का दर्जा देने पर काम भी कर रही है। ‘यह सिर्फ असम और नॉर्थ-ईस्ट के लिए नहीं है, बल्कि देश के अनेक हिस्सों में मां भारती पर आस्था रखने वाले, भारत माता की जय बोलने वाली ऐसी संतानों के लिए है, जिनको अपनी जान बचाकर मां भारती की गोद में आना पड़ा है। चाहे वे पाकिस्तान से आएं हों या अफगानिस्तान से।

1947 से पहले वे सभी भारत का हिस्सा थे, आस्था के आधार पर देश का विभाजन हुआ तो उन देशों के अल्पसंख्यक, हिंदू, जैन, सिख, पारसी, ईसाई ऐसे लोग वहां रह गए थे। उनके साथ जो हुआ, उनसे मिलोगे तो पता चलेगा।’

सरकार ने एससी एसटी और पिछड़ा वर्ग को नुकसान किए बिना सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण दिया है, उसी तरह नागरिकता बिल पर भी काम होगा।

पिछली रैली का रिकॉर्ड तोड़ देती है मेरी हर रैली

असम में रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी बोले, ‘मैं पिछले काफी समय से देख रहा हूं कि मेरी हर रैली पिछली रैली का रिकॉर्ड तोड़ देती है।’उन्होंने कहा कि पहले यहां के अखबारों में यही देखने को मिलता था कि असम को नजरअंदाज किया जा रहा है लेकिन अब यहां विकास की खबरें आती हैं।

 

Related posts