छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी कोमा में, ब्रेन एक्टिविटी लगभग नहीं, अगले 48 घंटे अहम

चैतन्य भारत न्यूज

रायपुर. छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है। डॉक्टरों के मुताबिक, वे कोमा में हैं और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है। शनिवार को तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि उन्हें कार्डियक अरेस्ट (cardiac arrest) आया है।

अस्पताल ने जारी किया हेल्थ बुलेटिन

रायपुर के श्रीनारायणा अस्पताल द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार उनकी हार्ट बीट सामान्य है। ब्लड प्रेशर भी दवाओं से नियंत्रित किया गया है। डॉक्टरों ने उनकी स्थिति को चिंताजनक बताते हुए कहा है कि, उनके लिए अगले 48 घंटे काफी अहम हैं। डॉक्टरों के मुताबिक, रेस्पिरेटरी अरेस्ट होने के बाद कुछ देर तक उनके मस्तिष्क में ऑक्सीजन नहीं गई, इस वजह से दिमाग को संभावित नुकसान पहुंचा है। उनकी ब्रेन एक्टिविटी लगभग नहीं है। मेडिकल टर्म में इसे हाइपॉक्सिया कहा जाता है।

नाश्ता करने के दौरान बिगड़ी तबियत

बता दें शनिवार दोपहर अजीत जोगी नाश्ता कर रहे थे, तभी अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई। उन्हें सीने में अचानक दर्द महसूस हुआ और सांस लेने में दिक्कत होने लगी। इसके बाद पत्नी रेणु ने घर पर मौजूद स्टॉफ को बुलाया और आनन-फानन में अस्पताल लेकर पहुंची। तबियत ज्यादा खराब होने की सूचना मिलने पर अजित के बेटे अमित उन्हें बिलासपुर से रायपुर लेकर पहुंचे, जहां उन्हें श्रीनारायणा अस्पताल में भर्ती कराया गया।

IAS से बने राजनेता

कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे अजीत जोगी भारतीय प्रशासनिक सेवा से राजनीति में आए हैं। अजीत वर्तमान में मारवाही क्षेत्र से विधायक हैं। वह 2000 में छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के दौरान यहां के पहले मुख्यमंत्री बने तथा 2003 तक मुख्यमंत्री रहे। 2003 में हुए विधानसभा के पहले चुनाव में कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी से पराजित हो गई थी। राज्य में कांग्रेस नेताओं से मतभेद के चलते जोगी ने वर्ष 2016 में नई पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) का गठन कर लिया था और वह उसके प्रमुख हैं।

ये भी पढ़े…

छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम अजीत जोगी को कार्डियक अरेस्ट, वेंटिलेटर पर रखे गए, हालत बेहद गंभीर

Related posts