अजित पवार के पास था 54 विधायकों का समर्थन, अब बचे सिर्फ 3, संजय राउत बोले- हमारे पास 165 विधायकों का समर्थन

ajit pawar

चैतन्य भारत न्यूज

मुंबई. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नेता अजित पवार ने भारतीय जनता पार्टी को समर्थन देने के लिए अपने चाचा शरद पवार के साथ बगावत की। अजित ने एनसीपी के 54 विधायकों का समर्थन एक पत्र में दिखाकर बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस के साथ सरकार तो बना ली, लेकिन उनके सामने अभी फ्लोर टेस्ट पास करना बड़ी चुनौती है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि, महाराष्ट्र में एनसीपी ने बीजेपी को समर्थन नहीं दिया है, अजित पवार का फैसला व्यक्तिगत है और उनके साथ 2-3 विधायक ही हैं। साथ ही शिवसेना के संजय राउत ने कहा है कि, ‘हमारे पास 165 विधायकों का समर्थन है। राज्यपाल हमें मौका दें तो हम 10 मिनट में बहुमत साबित कर देंगे.’



हाल ही में जानकारी मिली है कि जिन भी विधायकों ने अजित पवार को समर्थन दिया था वो वापस लौट आए हैं। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि 3 ऐसे भी विधायक हैं, जिन्होंने अभी भी अजित पवार का साथ नहीं छोड़ा है।

एनसीपी में दोबारा लौट कर आए विधायकों के नाम-

  • सुनील शेलके – मावल
  • संदीप क्षीरसागर – बीड
  • राजेंद्र शिंगणे – सिंदखेडराजा
  • सुनील भुसारा – विक्रमगड
  • माणिकराव कोकाटे – सिन्नर
  • दिलीप बनकर – निफाड
  • सुनील टिंगरे – वडगाव शेरी
  • धनंजय मुंडे – परली
  • प्रकाश सोलंकी – माजलगांव
  • संजय बनसोडे – उदगीर
  • नरहरी झिरवल – दिंडोरी
  • बाबासाहेब पाटील – अहमदपुर

अजित पवार के साथ जो विधायक अभी हैं-

  • दौलत दरोडा – शहापुर
  • नितिन पवार – सुरगाणा
  • अनिल पाटिल – अमलनेर

बता दें राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शनिवार सुबह करीब 8 बजे बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलवाई। साथ ही उन्होंने अजित पवार को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को 288 सीटों पर चुनाव हुए थे। इसके नतीजे 24 अक्टूबर को आए थे। राज्य में किसी भी एक दल को पूर्ण बहुमत नहीं मिला था। नतीजों के मुताबिक, महाराष्ट्र में बीजेपी के पास 105 सीटें, शिवसेना की 56, एनसीपी की 54 और कांग्रेस के विधायकों की संख्या 44 है। इसके अलावा समाजवादी पार्टी को 2, एमआईएम को 2, एमएनएस व सीपीआई को एक-एक और अन्य को 23 सीटें मिली। ऐसे में बहुमत के लिए 145 सदस्यों का समर्थन चाहिए।

ये भी पढ़े…

एक रात में महाराष्ट्र में ऐसे बनी फडणवीस सरकार, पर्दे के पीछे यूं तैयार किया सरकार बनाने का प्लान

महाराष्ट्र : शिवसेना नेता संजय राउत बोले- भतीजे ने चाचा को धोखा दिया, अजित पवार ने अंधेरे में डाका डाला

महाराष्ट्र सरकार : अजित पवार ने पार्टी को तोड़ने का काम किया, यह NCP का फैसला नहीं : शरद पवार

महाराष्ट्र में BJP-NCP ने मिलकर बनाई सरकार, फडणवीस फिर बने मुख्यमंत्री, अजित पवार उप मुख्‍यमंत्री

Related posts