प्रयागराज जा रहे अखिलेश यादव को लखनऊ एयरपोर्ट पर रोका, योगी ने कहा कानून व्यवस्था बिगड़ने का था खतरा

चैतन्य भारत न्यूज।

लखनऊ। शपथ ग्रहण कार्यक्रम में भाग लेने प्रयागराज जा रहे उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और सपा पार्टी अध्यक्ष को लखनऊ के चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डे पर रोक लिया गया। जिसके बाद सियासी घमासान जारी है। इस दौरान सपा समर्थकों और सुरक्षा कर्मियों के बीच नोकझोंक और धक्का मुक्की भी हुई।

मायावती ने किए ट्वीट, कहा ये निंदनीय

बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी इस मुद्दे पर भाजपा पर हमला बोला है। मायावती ने कहा कि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को इलाहाबाद नहीं जाने देने कि लिए उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट पर ही रोक लेने की घटना अति-निन्दनीय है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि यह भाजपा सरकार की तानाशाही व लोकतंत्र की हत्या का प्रतीक है। मायावती ने इस मामले में दो ट्वीट किए।

सपा अध्यक्ष अखिलेश ने कहा…

सपा अध्यक्ष ने घटना के बाद ट्वीट कर कहा ‘बिना किसी लिखित आदेश के मुझे एयरपोर्ट पर रोका गया। पूछने पर भी स्थिति साफ करने में अधिकारी विफल रहे। उन्होंने कहा छात्र संघ कार्यक्रम में जाने से रोकने का एक मात्र मकसद युवाओं के बीच समाजवादी विचारों और आवाज को दबाना है। एक छात्र नेता के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से सरकार इतनी डर रही है कि मुझे लखनऊ हवाई-अड्डे पर रोका जा रहा है।’

भाजपा का कहना…

मामले में भाजपा का कहना है कि,  यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ के बीच माहौल अच्छा नहीं है। कुंभ शांतिपूर्वक चल रहा है। कुछ गड़बड़ी न हो इसलिए रोका गया। अखिलेश यादव की भी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया गया है। वह इसे राजनीतिक मुद्दा बनाना चाहते हैं।

हो सकती थी हिंसाः योगी

उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अखिलेश के जाने से कानून व्यवस्था बिगड़ने का खतरा था, उन्होंने कहा कि सपा को अपनी अराजक गतिविधियों से बचना चाहिए। इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने अनुरोध किया कि छात्र संगठनों के बीच विवाद के कारण अखिलेश यादव की यात्रा कानून और व्यवस्था की समस्या पैदा कर सकती है।उन्हें प्रशासन के अनुरोध पर रोका गया है, अगर वह वहां जाते तो हिंसक झड़प हो सकती थी। इसलिए इलाहाबाद विश्वविद्यालय के अनुरोध पर प्रशासन ने ये फैसला लिया है।

 

 

 

Related posts