इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की कुलपति की नींद में अजान से ‘खलल’, DM को लिखी चिट्ठी, मौलाना बोले- फिर तो सुबह की आरती भी गलत

चैतन्य भारत न्यूज

प्रयागराज. एक बार फिर अजान से नींद में खलल का मामला सामना आया है। इस बार इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी की कुलपति प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने इसे लेकर स्थानीय डीएम, कमिश्नर, आईजी और डीआईजी को चिट्ठी लिख शिकायत की है। उन्होंने अपनी शिकायत में कहा है कि, मस्जिद में होने वाली अजान से उनकी नींद में खलल पड़ता है, ऐसे में इस मामले में कुछ कार्रवाई की जाए। अब उनकी चिट्ठी सुर्खियां बटोर रही हैं और इसे लेकर प्रतिक्रियाओं का दौर भी शुरू हो गया है।

कुलपति ने ये चिट्ठी कमिश्नर, डीएम और आईजी समेत कई अफसरों को भेजी है। इस चिट्टी में लिखा है कि, ‘रोजाना सुबह की अजान से बहुत दिक्कत होती है। लाउडस्पीकर की तेज आवाज से नींद बाधित होती है। इसके कारण पूरे दिन सिर दर्द होता है और इसका असर उनके कामकाज पर पड़ता है। रमजान शुरू होने पर पूरे 1 महीने तक रोजाना सुबह के वक्त की अजान से नींद में खलल पड़ेगा।’

हालांकि, कुलपति ने अपनी चिट्ठी में साफ किया है कि वो किसी भी संप्रदाय, जाति या वर्ग के खिलाफ नहीं हैं। लेकिन एक कहावत का जिक्र करते हुए कहा कि, ‘आपकी स्वतंत्रता वहीं खत्म हो जाती है, जहां से मेरी नाक शुरू होती है।’ डीएम को लिखी चिट्ठी में प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने अपील की है कि, ‘अजान बिना लाउडस्पीकर के भी हो सकती है, ताकि किसी दूसरे व्यक्ति की दिनचर्या पर उसका असर ना पड़े। अभी ईद से पहले सहरी का ऐलान भी सुबह चार बजे ही होगा, ऐसे में इससे भी परेशानी बढ़ सकती है।’

प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने अपने पत्र में लिखा है कि, ‘भारत के संविधान में सभी वर्ग के लिए पंथनिरपेक्षता और शांतिपूर्ण सौहार्द की परिकल्पना की गई है, साथ ही इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश (पीआईएल नंबर- 570 ऑफिस 2020) का हवाला भी दिया है।’ बता दें प्रोफेसर संगीता प्रयागराज के पॉश इलाके सिविल लाइंस में रहती हैं। उनके घर के पास ही मस्जिद है।

शिया धर्मगुरु मौलाना सैफ अब्बास ने कुलपति द्वारा की गई शिकायत पर कहा कि, ‘ऐसे में तो सुबह होने वाली कीर्तन भी गलत है।अजान दो से तीन मिनट की होती है। ज्यादा से ज्यादा पांच मिनट। अगर उन्होंने सुबह की आरती और कीर्तन को लेकर भी शिकायत की होती तो मसला समझ में आता, लेकिन सिर्फ अजान को लेकर शिकायत पत्र देना ठीक नहीं है। वह भी एक यूनिवर्सिटी में उच्च पद पर बैठे अधिकारी द्वारा। मेरी गुजारिश है कि वह अपनी शिकायत वापस ले लें।’

आपको बता दें कि बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम भी इस मुद्दे को उठा चुके हैं जिस पर काफी बवाल हुआ था। उन्होंने कहा था कि लाउडस्पीकर से होने वाली अजान से उनकी नींद खराब होती है।

Related posts