एलोपैथी विवाद: बाबा रामदेव के खिलाफ आज ‘काला दिवस’ मना रहे देशभर के डॉक्टर, की गिरफ्तारी की मांग

चैतन्य भारत न्यूज

एलोपैथी चिकित्सा को लेकर बाबा रामदेव के साथ डॉक्टरों का विवाद बढ़ता ही जा रहा है। देशभर के हजारों डॉक्टर आज ब्लैक डे’ मना रहे हैं। कोरोना महामारी के बीच इस विवाद ने सरकारों को भी चिंता में डाल दिया है। दिल्ली एम्स समेत तमाम अस्पतालों में डॉक्टर काली पट्टी बांधकर काम कर रहे हैं और बाबा रामदेव की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।

बता दें बाबा रामदेव ने आधुनिक चिकित्सा को ‘बेकार’ कहा था। रामदेव ने कथित तौर पर कहा था कि कोरोना संक्रमण से ज्यादा आधुनिक मेडिसिन के चलते कोविड से लोगों की मौत हुई। इसके बाद केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने उनसे ‘बेहद दुर्भाग्यपूर्ण’ बयान वापस लेने को कहा। साथ ही विभिन्न चिकित्सा संघों ने रामदेव की कथित ‘असंवेदनशील और अपमानजनक’ टिप्पणियों के लिए ‘बिना शर्त खुली सार्वजनिक माफी’ की मांग की है।

देश के अलग-अलग हिस्सों में डॉक्टरों का विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया है। इस दौरान सिर्फ डॉक्टर अपनी बाह पर काली पट्टी बांधे हुए हैं और विरोध जता रहे हैं। हालांकि, कुछ अस्पतालों में डॉक्टरों ने रामदेव के खिलाफ प्लेकार्ड भी थामे हुए हैं और उनके बयान का विरोध किया है। दिल्ली के एम्स के रेसिडेंट डॉक्टरों ने भी प्रदर्शन में हिस्सा लिया।

हालांकि, देशभर में विरोध होने के बाद रामदेव ने रविवार को मजबूर होकर अपना बयान वापस ले लिया। अगले दिन उन्होंने भारतीय चिकित्सा संघ (आईएमए) को खुला पत्र लिखकर 25 सवाल पूछे। उन्होंने पूछा कि क्या एलोपैथी से बीमारियों से स्थायी रूप से छुटकारा मिल जाता है।

Related posts