21 जुलाई से शुरू होगी अमरनाथ यात्रा, इस साल 15 दिन ही चलेगी, श्रद्धालुओं के लिए कोरोना टेस्ट जरूरी

baba amarnath

चैतन्य भारत न्यूज

अमरनाथ यात्रा 2020 को लेकर बड़ी जानकारी सामने आ रही है। सूत्रों के मुताबिक, इस बार अमरनाथ यात्रा की अविध केवल 14 दिन रहेगी। जी हां… आगामी 21 जुलाई से 3 अगस्त के बीच अमरनाथ यात्रा 2020 शुरू होगी।

कोरोना टेस्ट कराना जरूरी

यही नहीं बोर्ड ने यात्रा पर जाने वाले श्रद्धाुलओं की आयु सीमा भी निर्धारित कर दी है। साधुओं को छोड़कर यात्रा पर जाने वाले अन्य श्रद्धालु की उम्र 55 वर्ष से कम होनी चाहिए। इस बार सिर्फ उन्हीं श्रद्धालुओं को अमरनाथ यात्रा 2020 की अनुमति दी जाएगी, जो कोरोना टेस्ट कराएंगे।

यात्रा के लिए एक रूट निर्धारित

अमरनाथ यात्रा 2020 के लिए केवल एक रूट ही निर्धारित किया गया है। इस बार अमरनाथ यात्रा 2020 केवल उत्तरी कश्मीर बालटाल मार्ग से होकर निकलेगी। साथ ही जो श्रद्धालु यात्रा नहीं कर पाएंगे उनके लिए बाबा बर्फानी की लाइव कवरेज मुहैय्या कराई जाएगी। अधिकारियों ने कहा, ‘इस वर्ष किसी भी तीर्थयात्री को पहलगाम मार्ग के माध्यम से यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।’

amaranath yatra,amaranath yatra information,amarnath yatra security,amarnath yatra 2019

रहने, खाने-पीने सभी का इंतजाम

श्राइन बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि, यात्रा मार्ग को बहाल करना ही काफी नहीं है। इस पूरे मार्ग पर श्रद्धालुओं के रहने, खाने-पीने, स्वास्थ्य सुविधाओं का भी प्रबंध किया जाना है। टेलीफोन सेवा को भी बहाल करना है। यह सभी सुविधाएं अगले एक पखवाड़े में बहाल नहीं की जा सकती। इनके लिए कम से कम एक माह का समय चाहिए। यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं की सुरक्षा भी एक बड़ा मुद्दा है। यात्रा का सुरक्षा कवच तैयार करने के लिए सुरक्षाबलों को कम से कम 20 दिन चाहिए होते हैं।

आरती का होगा सीधा प्रसारण

यह भी तय किया गया है कि 15 दिनों के दौरान सुबह और शाम गुफा मंदिर में की जाने वाली ‘आरती’ का देश भर के भक्तों के लिए सीधा प्रसारण किया जाएगा। अधिकारियों ने कहा कि स्थानीय मजदूरों की अनुपलब्धता और बेस कैंप से गुफा मंदिर तक ट्रैक बनाए रखने में कठिनाइयों के कारण, यात्रा 2020 के लिए गांदरबल जिले में बालटाल बेस कैंप से गुफा तक पहुंचने के लिए हेलिकॉप्टर का उपयोग किया जाएगा।

Related posts