जोमैटो और स्विगी को टक्कर देने आ रहा अमेजन फूड, बेजोस ने नारायणमूर्ति से मिलाया हाथ

amazon food delivery

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. भारत में ऑनलाइन फूड डिलिवरी का चलन बढ़ता जा रहा है। ऐसे में फूड डिलीवरी करने वाली कंपनियों के बीच प्रतिस्पर्धा भी बढ़ रही है। UberEats लगातार इस स्पर्धा में पिछड़ती जा रही थी जिसके बाद उसने इस महीने की शुरुआत में अपना फूड डिलीवरी बिजनेस जोमैटो (Zomato) को बेच दिया है। फिलहाल बाजार में स्विगी (Swiggy) और जोमैटो (Zomato) का दबदबा कायम है। लेकिन अब इन दोनों कंपनियों को कड़ी टक्कर देने ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन भी बाजार में आ रही है।

जेफ बेजोस ने नारायमूर्ति से मिलाया हाथ

जी हां… अमेजन जल्द ही भारतीय बाजार में फूड डिलीवरी कारोबार में उतरने जा रही है। इसके लिए अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस ने इंफोसिस के सह-संस्थापक एन नारायमूर्ति के साथ हाथ मिलाया है। जानकारी के मुताबिक, अमेजन प्राइम या अमेजन फ्रेश प्लेटफॉर्म के जरिए लॉन्च की जाने वाली इस योजना पर पिछले करीब तीन महीने से काम चल रहा है। इसके लिए बेंगलुरु में पायलट प्रोजेक्ट चल रहा है।

ब्रांड्स के साथ चल रही कॉन्ट्रैक्ट की बात

बेंगलुरू के कुछ रेस्टाॅरेंट संचालकों ने बताया कि, ‘प्रीवन बिजनेस सर्विस अमेजन पर लिस्ट कराने के लिए ब्रांड्स के साथ कॉन्ट्रैक्ट कर रही हैं। वह इसके लिए 10-15% कमीशन ऑफर कर रही हैं। हालांकि इसमें बदलाव की भी गुंजाइश है। बता दें प्रीवन बिजनेस सर्विस इन्फोसिस के नारायणमूर्ति के कैटमरन वेंचर और अमेजन इंडिया का संयुक्त उद्यम है।

मार्च में हो सकता है लॉन्च

सूत्रों के मुताबिक, अमेजन अपनी इस सेवा को मार्च में लॉन्च कर सकता है। इस नई सेवा का नेतृत्व अमेजन के डायरेक्टर प्रोजेक्ट मैनेजमेंट रघु लक्कपरागडा करेंगे। बता दें अमेजन ने पिछले साल अगस्त में ही अमेजन फ्रेश लॉन्च किया था। इसमें भोजन और किराने की चीजें पेश की गईं, जो कि ग्रोफर्स और बिग बास्केट जैसे स्टार्टअप को सीधी टक्कर दे रहा।

ये भी पढ़े…

जोमैटो ने 2500 करोड़ में खरीदा उबर ईट्स का भारतीय बिजनेस, 5 महीने में हुआ था 2 करोड़ से ज्यादा का घाटा

जोमैटो ने कहा, कभी घर का खाना भी खा लेना चाहिए, तो यूट्यूब-अमेजन-हाजमोला ने ऐसे लिए मजे

पीयूष गोयल ने अमेजन निवेश कर कोई एहसान नहीं कर रहा वाले बयान पर दी सफाई, कहा- निवेश का स्वागत है लेकिन

 

Related posts