अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने भारत को गंदा बता दिया, हवा भी खराब बताई लेकिन बात दावे से परे

चैतन्य भारत न्यूज

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होने वाले हैं और प्रचार जारी है। इस दौरान आखिरी प्रेसिडेंशियल डिबेट में राष्ट्रपति और प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रम्प ने भारत, चीन और रूस पर प्रदूषण फैलाने के आरोप लगा दिए। उन्होंने कहा- भारत को देखिए, गंदा है, वहां की हवा भी खराब है। हवा खराब करने के लिए चीन और रूस भी जिम्मेदार हैं। ट्रम्प पर्यावरण और पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते को लेकर चर्चा कर रहे थे।

भारत में हो रही ट्रम्प के बयान की निंदा

ट्रम्प के इस बयान की भारत में चहुंओर निंदा हो रही है। दरअसल, वायु प्रदूषण का बड़ा कारण कार्बन उत्सर्जन को माना जाता है और इस मामले में भारत अन्य कई देशों के मुकाबले बेहतर स्थिति में है। प्रति व्यक्ति कार्बन उत्सर्जन देखें तो अमेरिका का एक नागरिक एक भारतीय के मुकाबले आठ गुना ज्यादा कार्बन उत्सर्जन कर रहा है। हालांकि चीन के बारे में ट्रम्प का दावा सही है क्योंकि प्रदूषण फैलाने में चीन की हिस्सेदारी 30 प्रतिशत है। यही नहीं अमेरिका भारत से दोगुना प्रदूषण फैला रहा है।

भारत कार्बन उत्सर्जन कम करने के प्रयासों के मामले में भी बेहतर स्थिति में है। भारत में 2019 से अगस्त 2020 तक कार्बन उत्सर्जन 6.5 फीसदी घटा है। जबकि प्रदूषण कम करने वाले देशों में चीन टॉप 10 में भी नहीं है। यूरोपीय यूनियन, वर्ल्ड बैंक और कार्बन मॉनिटर की रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि होती है।

Related posts