अमेरिका में एक शहर का नाम है ‘स्वस्तिक’, नाम बदलने को लेकर खूब हुआ विरोध, फिर हुई वोटिंग

चैतन्य भारत न्यूज

अमेरिका के न्यूयार्क में ‘स्वस्तिक’ नाम का एक छोटा-सा शहर है। बीते कई दिनों से इस छोटे से शहर स्वास्तिक के नाम को लेकर विवाद चल रहा है। कुछ लोगों ने इसपर आपत्ति जताते हुए इसे बदलने की मांग उठाई, वहीं कुछ लोगों ने इसे नहीं बदलने की वकालत की। अंत में इस शहर के नाम को स्वस्तिक ही रखे जाने को लेकर वोटिंग हुई, जिसमें इस नाम के खिलाफ में एक भी वोट नहीं पड़ा और इस तरह से शहर का नाम फिर स्वस्तिक ही रहा।

क्यों हो रहा विवाद

दरअसल, ‘स्वस्तिक’ हिंदू संस्कृति में मंगल का प्रतीक माना जाता है और हर शुभ कार्य से पहले इसका पूजन किया जाता है, लेकिन अमेरिका में लोग इसे नाजी शासन की हिंसा एवं असहिष्णुता से भी जोड़कर देखते हैं। इसी वजह से गांव के नाम को लेकर विवाद खड़ा हो गया था। शहर के ब्लैक ब्रुक टाउ बोर्ड ने सर्वसम्मति से ‘स्वस्तिक’ नाम नहीं बदलने के लिए वोट दिया। शहर के संचालन का जिम्मा इसी बोर्ड पर है। ब्लैक ब्रुक के पर्यवेक्षक जॉन डगलस ने इस बात की जानकारी दी।

स्वस्तिक शहर का इतिहास

डगलस के मुताबिक, इस शहर का नाम स्वस्तिक शहर के मूल निवासियों द्वारा 1800 के दशक में रखा गया था और यह संस्कृत के शब्द से लिया गया है, जिसका अर्थ ‘कल्याण’ होता है। उन्होंने कहा कि हमें इस क्षेत्र के बाहर के उन लोगों के पर तरस आता है, जो हमारे समुदाय के इतिहास के बारे में नहीं जानते और यह नाम देखकर ऑफेंड हो जाते हैं और इसका विरोध करते हैं। मगर हमारे समुदाय के सदस्यों के लिए यह वह नाम है जिसे हमारे पूर्वजों ने चुना था।

न्यूयॉर्क के पास है स्वस्तिक सिटी

स्वस्तिक नामक यह शहर न्यूयार्क महानगर के पास है। इस शहर के लोगों को सदियों पहले से रखे गये इस नाम से प्यार है। इसलिये नाजी प्रतीक चिन्ह कह कर विरोध किये जाने का स्वस्तिक शहर के लोगों ने विरोध किया। शहर का प्रशासन सम्हाल रहे ब्लैक ब्रुक टाउ बोर्ड ने सर्वसम्मति से ‘स्वस्तिक’ नाम नहीं बदलने के लिये अपना वोट दिया।

Related posts