पैसा वसूलने के चक्कर में महिलाओं को जबरन डराकर ऑपरेशन कर देता था डॉक्टर, हुई 465 साल जेल की सजा

चैतन्य भारत न्यूज

अमेरिका के वर्जीनिया में एक डॉक्टर को जबरदस्ती मरीजों का ऑपरेशन करने के लिए जेल जाना पड़ा। दरअसल, यह गायनोलॉजिस्ट (स्त्री रोग विशेषज्ञ) ऐसे मरीजों का भी ऑपरेशन कर देता था जिसे ऑपरेशन की जरूरत नहीं होती थी। कोर्ट ने डॉक्टर को 465 साल जेल की सजा सुनाई है।

अमेरिका के न्याय विभाग ने सोमवार को मरीजों पर सर्जरी कराने के लिए दबाव बनाने के आरोप में डॉ. जावेद पेरवेज को दोषी ठहराया। कोर्ट ने यह माना कि, डॉक्टर ने निजी और सरकारी बीमा कंपनियों को लाखों डॉलर का बिल देकर खूब पैसे कमाए। कम से कम 2010 के बाद से उनके इस काम में काफी तेजी आ गई थी।

कोर्ट के रिकॉर्ड से यह पता चला कि, डॉक्टर ने गर्भवती महिलाओं को ऑपरेशन के जरिए डिलीवरी कराने के लिए प्रेरित किया। वैकल्पिक अपरिवर्तनीय नसबंदी के उन्होंने प्रतीक्षा अवधि का उल्लंघन किया। इसके बदले उन्होंने हजारों डॉलर की बीमा कंपनियों को बिल दिया जो उन्होंने गैर जरूरी रूप से किया था। यह डॉक्टर अपने मरीजों को बताते थे कि सर्जरी जरूरी थी, और कुछ उदाहरणों में, उन्होंने कैंसर के प्रसार से बचने के लिए रोगियों को ऐसा करने की नसीहत भी दी थी।

एफबीआई के नॉरफॉक फील्ड ऑफिस के प्रभारी विशेष एजेंट कार्ल शूमन ने बयान जारी कर कहा कि, ‘डॉक्टर, प्राधिकरण के लोग और भरोसेमंद पदों पर बैठे लोग अपने मरीजों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाने की शपथ लेते हैं। अनावश्यक, आक्रामक चिकित्सा प्रक्रियाओं के साथ, डॉ परवेज ने न केवल अपने रोगियों को स्थायी जटिलताओं, दर्द और चिंता का कारण बनाया, बल्कि उन्होंने उनके जीवन के सबसे व्यक्तिगत हिस्से पर हमला किया और उनका भविष्य भी लूट लिया।’

Related posts