संसद परिसर में ट्रंप समर्थकों का बवाल, 4 लोगों की मौत, वाशिंगटन में 15 दिनों के लिए आपातकाल

चैतन्य भारत न्यूज

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों को लेकर पिछले कई महीनों से सियासी खींचतान चल रही है। 3 नवंबर को ही यह तय हो गया था कि दुनिया के सबसे ताकतवर देश के अगले राष्ट्रपति जो बाइडेन ही होंगे। वहीं जिद्दी डोनाल्ड ट्रंप फिर भी हार मानने को तैयार नहीं थे। चुनावी धांधली के आरोप लगाकर जनमत को नकारते रहे। उन्होंने हिंसा की धमकियां भी दीं। अब ट्रंप के समर्थक हिंसक हो गए। वाशिंगटन की हिंसा में अब तक चार लोगों की मौत की पुष्टि हुई है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल के अंतिम दिनों में अमेरिका ने एक बार फिर हिंसा का रूप देखा है। इस बार वाशिंगटन स्थित कैपिटल हिल में डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने जबरदस्त हंगामा किया। कैपिटल हिल में चल रही कार्यवाही से इतर जब ट्रंप समर्थकों ने अपना मार्च निकालना शुरू किया तो हंगामा होते देख सुरक्षा को बढ़ाया गया। लेकिन ये बवाल थमा नहीं और देखते ही देखते सभी समर्थक हथियारों के साथ कैपिटल हिल की ओर चले गए। यहां तोड़फोड़ की, सीनेटरों को बाहर किया और कब्जा कर लिया। सुरक्षाबलों ने इस दौरान उन्हें रोकने के लिए लिए लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल किया। हालांकि, लंबे संघर्ष के बाद सुरक्षाबलों ने इन्हें बाहर निकाला और कैपिटल हिल को सुरक्षित किया।


वॉशिंगटन डीसी में भड़की हिंसा पर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी चिंता जाहिर की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा है, ‘वॉशिंगटन डीसी में दंगों और हिंसा के बारे में जानकारी मिलने के बाद से मैं काफी चिंतित हूं। सत्ता का शांतिपूर्ण तरीके से हस्तांतरण होना चाहिए। गैरकानूनी विरोध प्रदर्शन लोकतांत्रिक प्रक्रिया को प्रभावित नहीं कर सकता।’

इस बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने समर्थकों से शांति की अपील की है। इस हंगामे को देखते हुए नेशनल गार्ड का रवाना किया गया है। व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी ने ट्वीट करके कहा कि, ‘राष्ट्रपति ट्रंप के निर्देश पर नेशनल गार्ड और दूसरी केंद्रीय सुरक्षा बल के जवान रवाना कर दिए गए हैं। हम हिंसा के खिलाफ और शांति बनाये रखने के लिए राष्ट्रपति की अपील को दोहरा रहे हैं।’

वाशिंगटन में बढ़ा सार्वजनिक आपातकाल

वाशिंगटन डीसी की मेयर म्यूरियल बोसेर ने कहा कि मैंने आज 15 दिनों के लिए घोषित किए गए सार्वजनिक आपातकाल को बढ़ाने का आदेश जारी किया है।

Related posts