नए अभियान से अमिताभ के जुड़ने का सिलसिला जारी, मैला ढोने की कुप्रथा के खिलाफ अभियान से भी जुड़ेंगे

चैतन्य भारत न्यूज

मुंबई. सदी के महानायक अमिताभ बच्चन का विभिन्न सामाजिक अभियानों से जुड़ने का क्रम जारी है। अब वे मैला ढोने की प्रथा को खत्म करने के अभियान का हिस्सा बनेंगे। अमिताभ बच्चन का कहना है कि यह कुप्रथा जड़ से समाप्त होनी चाहिए। उन्होंने मंगलवार को ट्वीट किया कर कहा कि रोजाना होने वाली घटनाएं कई बार आपको शब्दों से परे लेकर जाती हैं। आज का दिन ऐसा ही था। सिर पर मैला ढोना असंवैधानिक और गैरकानूनी कार्य है। यह कुप्रथा अब तक कायम है। मैं ऐसे किसी भी अभियान में शामिल होऊंगा, जो उनके हित में काम करता है, यह मेरा संकल्प है। अमिताभ ने इस समस्या के बारे में अपने ब्लॉग में भी लिखा है कि मैला ढोने और सीवर की सफाई करने वाले मजदूरों की स्थिति हमारे देश में अमानवीय है। कई मजदूरों की मौत सीवर सफाई के दौरान हो जाती है। जाति आधारित भेदभाव की वजह से वे इस काम को करने के लिए मजबूर हैं। सिर पर छत होना और परिवार का भरण-पोषण करना उनका मुख्य उद्देश्य होता है। मैं बात यहीं खत्म करता हूं, इस उम्मीद और प्रार्थना के साथ कि यह कुप्रथा खत्म होगी और उन्हें एक अच्छा जीवन मिलेगा। उल्लेखनीय है कि अमिताभ बच्चन पोलियो उन्मूलन और बेटी बचाओ जैसे अभियानों से भी जुड़ चुके हैं। वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान के ब्रांड एंबेसडर भी हैं। कोरोना के लिए जागरूकता अभियान से भी वे जुड़े।

Related posts