12 सितंबर को है गणपति विसर्जन, जानिए इसके नियम और शुभ मुहूर्त

ganesh visarjan,ganesh visarjan 2019, ganesh visarjan ke niyam,ganesh visarjan shuhbh muhurat

चैतन्य भारत न्यूज

गणेश चतुर्थी के दिन घर आए बप्पा अनंत चतुदर्शी के दिन अपने घर वापस लौट जाते हैं। इस साल अनंत चतुदर्शी 12 सितंबर को पड़ रही है। हालांकि कुछ लोग गणपति को डेढ़ दिन, 4 दिन, 5 दिन या 7 वें दिन में ही विसर्जित कर देते हैं। लेकिन गणपति विसर्जन का उपयुक्त समय स्थापना के 11 वें दिन यानी अनंत चतुदर्शी पर होता है। आइए जानते हैं गणेश विसर्जन का शुभ मुहूर्त और इसके नियम।

ganesh visarjan,ganesh visarjan 2019, ganesh visarjan ke niyam,ganesh visarjan shuhbh muhurat

गणेश विसर्जन के नियम

  • गणपति विसर्जन से पहले भगवान गणेश की विधिवत पूजा करें।
  • इसके बाद गणपति को नए वस्त्र पहनाएं।
  • अब एक रेशमी कपड़े में मोदक, थोड़े पैसे, दूर्वा घास और सुपारी रखकर उसमें गांठ लगा दें।
  • इस पोटली को बप्पा के साथ ही बांध दें।
  • इसके बाद गणेश जी की आरती गाते हुए ‘गणपति बाप्पा मोरया’ के जयकारे लगाएं।
  • इसके बाद अपने दोनों हाथ जोड़कर अपने मन में बप्पा से क्षमा प्रार्थना करते हुए अनजाने में हुई गलती के लिए क्षमा मांग लें।
  • इसके बाद किसी पवित्र जलाशय में पूजा की सभी सामग्री के साथ गणपति का विसर्जन कर दें।



ganesh visarjan,ganesh visarjan 2019, ganesh visarjan ke niyam,ganesh visarjan shuhbh muhurat

गणेश विसर्जन का शुभ मुहूर्त

  • सुबह- 06:16 से प्रातः 07:48 तक
  • दूसरा मुहूर्त- प्रातः 10:51 से 03:27 तक
  • दोपहर मुहूर्त- शाम 04:59 से शाम 06:30 तक
  • शाम मुहूर्त- 06:30 से 09:27 बजे

ये भी पढ़े…

भगवान गणेश ने क्यों लिया विकट अवतार, जानिए इसका रहस्य

इस देश में भभकते ज्वालामुखी पर पिछले 700 साल से विराजमान हैं भगवान गणेश

माता पार्वती के मैल से हुआ था भगवान गणेश का जन्म, जानिए वे क्यों कहलाएं गजमुख

Related posts