दफ्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का और सरेआम जला डाला, विरोध में सड़क पर उतरे कर्मचारी

vijaya reddy

चैतन्य भारत न्यूज

हैदराबाद. तेलंगाना से एक ऐसा मामला सामने आया है जो हर किसी को झकझोर कर रख सकता है। सोमवार दोपहर को यहां दफ्तर में घुसकर एक महिला तहसीलदार को पेट्रोल छिड़ककर जिंदा जला दिया। इस घटना में महिला की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के विरोध में प्रदर्शन शुरू हो गया है। मंगलवार को राजस्व कर्मचारियों का संगठन और कॉलेजिएट स्टाफ विरोध में सड़कों पर उतर आया।



गुस्से में पेट्रोल छिड़का और लाइटर से आग लगा दी 

यह घटना हैदराबाद के पास रंगारेड्डी जिले में अब्दुल्लापुरमेट में दोपहर करीब 1:30 बजे के आसपास की है। अधिकारियों के मुताबिक, लंच के समय सुरेश मुदिराजू जमीन के कागजात लेकर दफ्तर आया था। दफ्तर में आते ही वह तहसीलदार विजया रेड्डी के केबिन में गया, जहां वह अकेली थीं। इस दौरान दोनों के बीच कोई विवाद हुआ और फिर कुछ देर बाद आरोपित ने महिला अफसर पर पेट्रोल छिड़का और लाइटर से आग लगा दी। घटना के चश्मदीद ने कहा कि, जब चीख-पुकार हुई तो लोग उनके कक्ष की ओर भागे और देखा कि वह आग की लपटों से घिरी बाहर की ओर आ रही थीं। महिला अफसर को बचाने की कोशिश करते समय दो कर्मचारी भी झुलस गए।

आरोपित भी झुलसा 

इस वारदात के दौरान खुद हमलावर भी 50 से 60 फीसदी झुलस गया। वह महिला अफसर पर आग लगाने के बाद कुछ दूर भागा, लेकिन फिर गिर गया। आरोपित और अन्य दो कर्मचारियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। रचकोंडा पुलिस कमिश्नर महेश भागवत ने बताया कि, प्राथमिकी जांच में यह मामला जमीन विवाद से जुड़ा लग रहा है। आरोपित पूरी तैयारी के साथ आया था। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। सूत्रों के मुताबिक, आरोपित सुरेश ने कई बार महिला अफसर से अपील की थी कि वह उसके भूमि रिकॉर्ड में त्रुटियों को दुरुस्त कर दें। वहीं सुरेश ने इस बात से इनकार किया है कि उसने मारने के इरादे से महिला अफसर पर हमला किया था।

दोषी को कड़ी सजा की मांग

घटना के बाद सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों के बीच दहशत का माहौल है। सभी कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन किया और सुरक्षा की मांग की। साथ ही उन्होंने दोषी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की भी मांग की है। पोस्टमॉर्टम के बाद विजया रेड्डी का पार्थिव शरीर नालगोंडा जिले स्थित उनके पैतृक गांव भेज दिया गया।

Related posts