महाराष्ट्र: सेना के जवान ने की 8 साल की बच्ची से दुष्कर्म की कोशिश, विरोध करने पर ट्रेन से फेंका

चैतन्य भारत न्यूज

महाराष्ट्र से एक बड़ा मामला सामने आया है। यहां चलती ट्रेन में शौचालय में सेना के एक जवान ने 8 साल की बच्ची से दुष्कर्म करने का प्रयास किया। जब बच्ची बहादुरी से 33 साल के आरोपी से मुकाबला करते हुए चिल्लाने लगी तो उसने बच्ची को ट्रेन से नीचे फेंक दिया।

जानकारी के मुताबिक, पीड़ित बच्ची एक पूर्व सैनिक की बेटी है। ये घटना गोवा-निजामुद्दीन एक्सप्रेस में पश्चिमी महाराष्ट्र के सतारा जिले में लोनंद और सालपा रेलवे स्टेशनों के बीच हुई। पुलिस ने बच्ची से आरोपी का विवरण लिया और उसकी तलाश में जुट गई।

राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) के पुलिस अधीक्षक (पुणे संभाग) सदानंद वायसे पाटिल ने कहा कि लड़की अपनी मां, पिता, बहन और भाई के साथ दिल्ली जा रही थी। उन्होंने कहा कि आरोपी की पहचान प्रभु मलप्पा उपहार के रूप में हुई है। जब बच्ची अपनी बर्थ पर सो रही थी, तब उसने कथित तौर पर लड़की को उठा लिया और उसे शौचालय में ले गया।

एसपी ने कहा कि जब आरोपी ने उसका यौन शोषण करने की कोशिश की, तो लड़की जाग गई और उसने चिल्लाना शुरू कर दिया। तब आरोपी ने लड़की से कहा कि वह उसे उसके माता-पिता के पास वापस ले जा रहा है, लेकिन शौचालय से बाहर आने के बाद उसने उसे चलती ट्रेन से नीचे धकेल दिया।

गनीमत यह रही कि ट्रेन धीमी गति से चल रही थी जिसके कारण लड़की को कम गंभीर चोटें आईं। मंगलवार की सुबह, कुछ स्थानीय लोगों ने उसे रेलवे ट्रैक पर पड़ा देखा और उसे अस्पताल ले गए। अस्पताल में, लड़की ने न केवल आपबीती सुनाई बल्कि पुलिस को आरोपी का विवरण भी दिया।

एसपी ने आगे बताया कि आदमी के विवरण के आधार पर हमने ट्रेन में तलाशी अभियान शुरू किया और आदेश दिया कि कोई भी ट्रेन से नीचे न उतरे। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आरोपी भाग न जाए, कम से कम 400 पुलिस और जीआरपी कांस्टेबल विभिन्न स्टेशनों पर ट्रेन में चढ़े।

एसपी ने बताया कि तलाशी के दौरान, पुलिस ने कम से कम 30 यात्रियों की पहचान की, जिनका विवरण संदिग्ध से मेल खाता था। हमने चार संदिग्धों को शॉर्टलिस्ट किया। 30 में से और अंत में आरोपी की पहचान की। उसे हमने तब पकड़ा जब ट्रेन उत्तरी महाराष्ट्र में भुसावल के पास थी बाद में लड़की को उसके परिवार से मिला दिया गया। उपहार नाइक रैंक का जवान है और झांसी में तैनात है।

Related posts