अरुण जेटली के निधन से शोक में डूबा देश, पीएम मोदी, शाह और कांग्रेस ने ऐसे दी श्रद्धांजलि

arun jaitley shradhanjali

चैतन्य भारत न्यूज

पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के दिग्गज नेता अरुण जेटली का शनिवार को निधन हो गया है। उन्होंने दिल्ली के एम्स अस्पताल में अंतिम सांस ली। जेटली लंबे समय से बीमारी से जूझ रहे थे। 9 अगस्त को सांस लेने में तकलीफ के बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था। जेटली के निधन से देशभर में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री समेत कई राजनेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया।


प्रधानमंत्री मोदी इस समय विदेश दौरे पर हैं। उन्होंने जेटली के निधन की खबर मिलते ही संयुक्त अरब अमीरात से उनके परिवार से बात की। पीएम मोदी ने जेटली की पत्नी और उनके बेटे से बात कर संवेदना जाहिर की। इस दौरान जेटली के परिवार ने पीएम मोदी से अपील की है कि वे अपना विदेश दौरा रद्द न करें।


गृहमंत्री अमित शाह भी दौरा रद्द कर हैदराबाद से वापस लौट रहे हैं। शाह ने ट्वीटर के माध्यम से जेटली के निधन पर शोक व्यक्त कर इसे अपनी निजी क्षति बताई है।


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट में लिखा कि, ‘श्री अरुण जेटली के निधन से बहुत दुखी हूं। उन्होंने साहस और गरिमा के साथ लंबी बीमारी से जंग लड़ी। एक प्रतिभाशाली वकील, अनुभवी सांसद और प्रतिष्ठित मंत्री के रूप में उन्होंने राष्ट्र के निर्माण में बड़ा योगदान दिया।’


केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट में लिखा कि, ‘जेटली जी को हमेशा अर्थव्यवस्था को संकट से निकाने और पटरी पर लाने के लिए याद किया जाएगा। बीजेपी को अरुण जी की कमी खलेगी। मैं उनके परिवार के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं।’


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने श्रद्धांजलि देते हुए लिखा कि, ‘पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ नेता श्री अरुण जेटली का असमय निधन देश के लिए बड़ी क्षति है। एक दिग्गज वकील और अपने सुशासन के लिए जाने जाने वाले वरिष्ठ राजनेता को देश याद करेगा। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।’

कांग्रेस पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्वीटर अकाउंट के जरिए श्रद्धांजलि व्यक्त की है और कहा, ‘हम श्री अरुण जेटली के निधन से बेहद दुखी हैं। हमारी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।’

ये भी पढ़े… 

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का निधन, कैंसर और किडनी संबंधित बीमारी से थे पीड़ित

वकील से लेकर वित्त मंत्री बनने तक, काफी उतार-चढ़ाव से भरा है अरुण जेटली का राजनीतिक सफर

Related posts