कांग्रेस पार्टी के घोषणा पत्र में ऐसे एजेंडा जो देश को तोड़ने का काम करते हैं: अरुण जेटली

चैतन्य भारत न्यूज।

नई दिल्ली। कांग्रेस ने मंगलवार को अपने घोषणा पत्र में कहा है कि उनकी सरकार बनने पर अंग्रेजों के जमाने के देशद्रोह के कानून को खत्म कर दिया जाएगा। राहुल गांधी ने कहा है कि अगर कांग्रेस की सरकार बनती है तो भारतीय दंड संहिता की धारा 124 (ए) को निरस्त कर देंगे। बीजेपी ने इसे देश को तोड़ने वाला बताया है।

देश की एकता के खिलाफ हैं ऐसी बातें

बीजेपी की तरफ से वित्त मंत्री अरूण जेटली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कांग्रेस के घोषणा पत्र में कहा गया कि जो वो वादे करते हैं उसे निभाते हैं। इस घोषणा पत्र में ऐसी बातें हैं जो देश को तोड़ने वाली हैं और देश की एकता के खिलाफ हैं। नेहरू-गांधी परिवार की जम्मू कश्मीर को लेकर जो ऐतिहासिक भूल थी, उस एजेंडा को ये आगे बढ़ा रहे हैं।

उन्होंने कहा कांग्रेस का आज का नेतृत्व जिहादियों और माओवादियों के चंगुल में है। वो घोषणा पत्र में कह रहे हैं कि आईपीसी से सेक्शन 124-ए हटा दिया जाएगा, देशद्रोह करना अब अपराध नहीं है। जो पार्टी ऐसी घोषणा करती है, वो एक भी वोट की हकदार नहीं है।

देशद्रोह का कानून हटाना सही नहीं

उन्होंने कहा कि AFSPA कानून उसी जगह पर लगा है जहां पर अशांति है, ऐसे में उन जगहों पर CRPC को बदलना किसी खतरे से कम नहीं होगा। उन्होंने कहा कि देशद्रोह का कानून हटाना सही नहीं है।

ये भी पढ़ें…

कांग्रेस ने जारी किया घोषणा पत्र, राहुल गांधी ने दिया नारा- ‘गरीबी पर वार 72 हजार

Related posts