शपथ ग्रहण समारोह से एक दिन पहले जेटली ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर कहा- नहीं चाहिए मंत्री पद

arun jaitley,modi government

चैतन्य भारत न्यूज

लंबे वक्त से बीमारी से जूझ रहे वित्त मंत्री अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी को जेटली ने ट्वीटर पर शेयर किया है जिसमें उन्होंने लिखा है कि, ‘पिछले 18 महीने से मैं बीमार हूं। मेरी तबीयत खराब है, इसलिए मुझे मंत्री न बनाने पर विचार करें।’ बता दें 30 मई को पीएम मोदी और उनके मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह है।

जेटली ने चिट्ठी में लिखा कि, ‘आपके नेतृत्व में मुझे पिछली सरकार में पांच साल काम करने का सौभाग्य मिला। ये अनुभव मेरे लिए बहुत अच्छा रहा। इससे पहले भी एनडीए सरकार में मुझे जिम्मेदारियां दी गईं। सरकार के अलावा संगठन और विपक्ष के नेता के रूप में मुझे अहम जिम्मेदारियों से नवाजा गया। लेकिन अब मुझे कुछ नहीं चाहिए।’ जेटली ने आगे खराब सेहत का हवाला देते हुए लिखा कि, ‘पिछले 18 महीनों से मैं गंभीर बीमारी से पीड़ित हूं। चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद जब आप केदारनाथ जा रहे थे, तब मैंने आपको औपचारिक तौर पर कहा था कि स्वास्थ्य कारणों से मैं भविष्य में कोई भी जिम्मेदारी उठाने में असमर्थ रहूंगा। मुझे अपने इलाज और स्वास्थ्य पर ध्यान देना है। बीजेपी और एनडीए ने आपके नेतृत्व में शानदार जीत दर्ज की है। कल नई सरकार का शपथ ग्रहण होने वाला है।’

अंत में जेटली ने पीएम से अनुरोध करते हुए लिखा कि, ‘मैं आपसे औपचारिक रूप से अनुरोध करने के लिए लिख रहा हूं कि मुझे अपने इलाज और स्वास्थ्य के लिए उचित समय चाहिए और इसलिए मैं नई सरकार में किसी भी जिम्मेदारी का हिस्सा नहीं बनना चाहता हूं। इसके बाद निश्चित तौर पर मेरे पास काफी समय होगा, जिसमें मैं अनौपचारिक रूप से सरकार या पार्टी में कोई भी सहयोग कर सकता हूं।’

गौरतलब है कि, अर्जुन जेटली किडनी संबंधी बीमारी से जूझ रहे हैं। पिछले साल मई में उनका किडनी ट्रांसप्लांट भी हुआ था। फिर इस साल की शुरुआत में वह सर्जरी के लिये अमेरिका गए थे। सूत्रों के मुताबिक, जेटली के बाएं पैर में सॉफ्ट टिश्यू कैंसर है। इस वजह से वह मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान अंतरिम बजट भी पेश नहीं कर सके थे। जेटली की जगह रेलवे और कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने बजट पेश किया था।

 

 

Related posts