इलेक्ट्रिशियन पिता की बेटी 21 साल की आर्या बनेंगी देश की सबसे युवा महापौर

चैतन्य भारत न्यूज

तिरुवनंतपुरम. 21 साल की छात्रा आर्या राजेंद्रन देश की सबसे युवा महापौर बनने जा रही है। इसके साथ ही देश की अब तक की सबसे युवा महापौर बन जाएंगी। माकपा की जिला तथा प्रदेश कमेटी ने उनकी उम्मीदवारी की मंजूरी दी है।

बता दें आर्या राजेंद्रन हाल ही में संपन्न हुए तिरुवनंतपुरम नगर निगम चुनाव में मुडावंमुगल वार्ड से काउंसलर चुनी गई हैं। सीपीएम (CPM) ने इस बार केरल नगर निकाय चुनाव में जितने भी उम्मीदवार उतारे थे, उनमें भी आर्या सबसे कम उम्र की प्रत्याशी थीं। उन्हें तिरुवनंतपुरम के महापौर पद पर नियुक्त करने का फैसला CPM के स्थानीय जिला पैनल ने लिया है।

वह शहर के मुदवनमुगल से पहली बार पार्षद चुनी गई हैं। पार्टी ने महापौर पद के लिए उनका नाम आगे बढ़ाते हुए उम्मीद जताई है कि और भी शिक्षित महिलाएं नेतृत्व की भूमिका में आएंगी। पार्टी ने 100 सदस्यीय निगम में 51 सीटें जीती हैं। जबकि 35 सीटों के साथ भाजपा मुख्य विपक्षी दल है और कांग्रेस नीत यूडीएफ को महज 10 सीटें ही हासिल हुई हैं। चार निर्दलीय भी निर्वाचित हुए हैं।

अपने चयन पर आर्या ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि यह पार्टी का फैसला है और मैं इससे बंधी हुई हूं। चुनाव में लोगों ने मुझे एक छात्रा होने के नाते तरजीह दी। लोग चाहते थे कि उनका प्रतिनिधि शिक्षित होना चाहिए। मैं अपनी पढ़ाई जारी रखते हुए मेयर के दायित्वों का भी निर्वाह करती रहूंगी।

कौन हैं आर्या राजेंद्रन

आर्या तिरुवनंतपुरम के ऑल सेंट्स कॉलेज में पढ़ती हैं। वे बीएससी गणित की दूसरे वर्ष की छात्रा हैं। बेहद कम उम्र से ही आर्या राजनीति में सक्रिय है।  वे स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया की राज्य समिति की सदस्य हैं। साथ ही वे बालसंगम की केरल अध्यक्ष भी हैं। बालसंगम सीपीएम की बच्चों की विंग है। चुनाव से पहले उन्होंने कहा था कि अगर वे चुनाव जीतती हैं, तो पहले से जारी विकास कार्यों के बजाए निचले प्राथमिक स्कूलों को बेहतर बनाने पर काम करेंगी। बता दें आर्या के पिता राजेंद्रन पेशे से इलेक्ट्रिशियन हैं।

Related posts