देहज उत्पीड़न से तंग आकर साबरमती में कूद गई थी आयशा, मरते दम तक पति से किया बेइंतहा प्यार, वीडियो में कहा- मुझसे गलती कहा हो गई…

चैतन्य भारत न्यूज

सोशल मीडिया पर आयशा का नाम वायरल है। अधिकांश यूजर्स आयशा के बारे में बाते करते नजर आ रहे हैं। आयशा बानू मकरानी ने गुजरात के अहमदाबाद जिले में साबरमती नदी में 25 फरवरी को कूदकर अपनी जान दे दी। पहले आयशा ने एक वीडियो बनाया और चेहरे पर मुस्कान और दिल में दर्दों का पहाड़ लेकर उसने पानी में कूदकर आत्महत्या कर ली। आयशा की इस वीडियो ने लोगों को झकझोर कर रख दिया।

 

पुलिस को इस आत्महत्या मामले में बड़ी सफलता हाथ लगी है। गुजरात पुलिस ने सोमवार को राजस्थान के पाली से आयशा के फरार पति आरिफ खान को गिरफ्तार कर लिया है। वीडियो में आयाशा ने पति पर उसका शोषण करने का आरोप लगाया था। आयशा का 2018 में आरिफ खान से निकाह हुआ था। पुलिस ने आयशा के पति के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया था।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि, आयशा ने आत्महत्या करने से पहले अपने पति और माता-पिता से भी बात की थी। आयशा के पिता लियाकत अली मकरानी ने बताया कि आयशा का पति आरिफ बाबू खान उसका मानसिक उत्पीड़न करता था और उससे कहा, ‘अगर चाहती हो तो मर जाओ और मुझे एक वीडियो भेज दो।’

आरिफ और आयशा की शादी 2018 में हुई थी। शादी के बाद आरिफ ने दो बार आयशा के परिवार से पैसे मांगे। बेटी की खुशी के लिए आयशा के माता पिता ने 1-2 लाख दिए भी लेकिन आरिफ लगातार मांग करन रहा था जिसके बाद आयशा के परिवार ने शिकायत भी दर्ज करवायी। आयशा के वकील जफर पठान ने और भी चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। उन्होंने बताया कि, आरिफ का राजस्थान की ही एक लड़की से प्रेम-प्रसंग था। आयशा के सामने ही आरिफ गर्लफ्रेंड से वीडियो कॉल पर बात करता था। वह अपनी प्रेमिका पर ही पैसे लुटाता था और इसी वजह से वह आयशा के पिता से रुपयों की मांग करता था।

जफर ने कहा कि, ‘ आयशा का संघर्ष तो उसके निकाह के 2 महीने बाद ही शुरू हो गया था। खुद आरिफ ने ही आयशा को बताया था कि वह किसी और लड़की से प्यार करता है। इसके बावजूद आयशा अपने गरीब माता-पिता की इज्जत बचाए रखने के लिए लड़ती रही। वह हर पल एक नई तकलीफ से गुजरती रही, लेकिन चुपचाप रही। एक लड़की के लिए इससे बुरा अहसास और क्या हो सकता है कि उसका पति उसके सामने ही गर्लफ्रेंड से बातें करे।’ यह भी पता चला है कि आरिफ एक बार आयशा को अहमदाबाद छोड़ गया था। उस समय आयशा गर्भवती थी। परिवार का आरोप है कि आरिफ ने कहा था कि अगर आप मुझे डेढ़ लाख रुपए दे देंगे तो मैं आयशा को अपने साथ ले जाऊंगा।

गर्भावस्था के दौरान आरिफ के ऐसे बर्ताव से आयशा टूट गई थी। वह डिप्रेशन में आ गई। इसी वजह से उसे काफी तकलीफ होने लगी। डॉक्टर्स ने तुरंत सर्जरी की जरूरत बताई, लेकिन गर्भ में पल रहे उसके बच्चे को नहीं बचाया जा सका। परिवार का कहना है कि इसके बावजूद आरिफ और उसके परिवारवालों को कोई फर्क नहीं पड़ा। वे लगातार पैसों की मांग करते रहे।

आयशा ने साबरमती के किनारे खड़े होकर यह वीडियो बनाया था। उसमें अपनी बात कही थी। इस दौरान वह हंसी भी और भावुक भी हुई। कहा- मैं जो कुछ भी करने जा रही हूं, मेरी मर्जी से करने जा रही हूं। इसमें किसी का दबाव नहीं है। देखें वीडियो…

Related posts