इन 16 पॉइंट में जानिए अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले की खास बातें

ayodhya decision main points

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार को अयोध्या मामले पर ऐतिहासिक फैसला सुना दिया है। राम जन्‍‍‍‍‍‍‍मभूमि और बाबरी मस्जिद जमीन विवाद मामले में सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की पीठ ने सर्वसम्मति से यह फैसला पढ़ा। आइए जानते हैं इस फैसले से जुड़ी सभी खास बातें-



  • ASI की रिपोर्ट में जमीन के नीचे मंदिर के सबूत मिले: सुप्रीम कोर्ट
  • सीजेआई ने विवादित जमीन रामलला विराजमान को दी।
  • सीजेआई ने रामलला को मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाए जाने को कहा।
  • सीजेआई रंजन गोगोई ने कहा कि, केंद्र सरकार 3 महीने में योजना बनाए। ट्रस्ट 3 महीने में मंदिर की योजना तैयार करे।
  • सुप्रीम कोर्ट ने फैसले में कहा- 2.77 एकड़ विवादित जमीन पर सरकार का हक रहेगा।
  • सीजेआई ने कहा- संविधान की नजर में सभी आस्थाएं समान हैं। कोर्ट आस्था नहीं सबूतों पर फैसला देती है।
  • सीजेआई ने कहा- जमीन का अंदरूनी हिस्सा विवादित है। हिंदू पक्ष ने बाहरी हिस्से पर दावा साबित किया।
  • सीजेआई ने फैसले में सुन्नी वक्फ बोर्ड को पांच एकड़ जमीन दी जाने की बात कही। उन्होंने कहा- यह जमीन या तो अधिग्रहित जमीन हो या अयोध्या में कहीं भी हो।
  • सीजेआई ने कहा- 1949 तक मुस्लिम मस्जिद में नमाज अदा करते थे। सुन्नी वक्फ बोर्ड का दावा विचार योग्य।
  • सीजेआई ने कहा कि- समानता संविधान की मूल आत्मा है।
  • सीजेआई के मुताबिक, हिंदू पक्ष ने कई ऐतिहासिक सबूत दिए।
  • फैसला पढ़ते हुए सीजेआई ने कहा कि, ‘सभी धर्मों को समान नजर से देखना सरकार का काम है। अदालत आस्था से ऊपर एक धर्म निरपेक्ष संस्था हैं। 1949 में आधी रात में प्रतिमा रखी गई।’
  • सीजेआई ने कहा कि, ‘इतिहास जरूरी है लेकिन इन सबमें कानून सबसे ऊपर है, सभी जजों ने आम सहमति से फैसला लिया है।’
  • सीजेआई ने कहा कि, राम जन्मभूमि एक न्यायिक व्यक्ति नहीं हैं।
  • सीजेआई रंजन गोगोई ने फैसला पढ़ते हुए कहा कि खुदाई में मिला ढांचा गैर इस्लामिक था।
  • सीजेआई ने कहा कि निर्मोही अखाड़े और सुन्नी वक्फ बोर्ड के दावे खारिज किए जाते हैं।

ये भी पढ़े…

सुप्रीम कोर्ट का फैसला : विवादित स्थल पर ही बनेगा राम मंदिर, मुस्लिम पक्ष को मिलेगी अलग से जमीन

इस शहर के राजा है प्रभु श्रीराम, कलेक्टर-SP सब करते हैं रिपोर्ट, गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया जाता है

अयोध्या विवाद : ये हैं राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद के 10 प्रमुख चेहरे

पांच सदी पुराना है अयोध्या विवाद, जानें शुरू से लेकर अब तक की कहानी

Related posts