भव्य राम मंदिर निर्माण में आएगा 1100 करोड़ का खर्च, अब तक मिला 100 करोड़ का चंदा

चैतन्य भारत न्यूज

अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण का काम तेजी से चल रहा है। जनवरी की शुरुआत से काम में तेजी आएगी और इस बीच ट्रस्ट की ओर से मंदिर निर्माण में आने वाली लागत की जानकारी दी गई है। पूरे मंदिर को बनने में करीब 1100 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। मंदिर साढ़े तीन साल में बनकर तैयार होगा।

11 हजार मजदूर कर रहे काम

राम मंदिर निर्माण के लिए हजारों की संख्या में मजदूर और कारीगर काम कर रहे हैं। यह जानकारी परियोजना की देखरेख कर रहे न्यास के कोषाध्यक्ष ने दी है। उन्होंने बताया कि इतने धन का इंतजाम भी किया जा रहा है। इसके लिए ट्रस्ट देश-दुनिया के 11 करोड़ परिवारों से चंदा लेने का लक्ष्य लेकर चल रहा है।

100 करोड़ रुपए का दान ऑनलाइन मिला

श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने रामजन्मभूमि के 70 एकड़ का मानचित्र सार्वजनिक कर दिया है। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने अपने फेसबुक पेज पर 36 पेज का संपूर्ण निर्माण व विकास प्रारूप जारी किया है। इसमें मुख्य मंदिर सहित मंदिर परिसर में होने वाले अन्य प्रकल्पों के निर्माण की विस्तृत जानकारी दी है। अब तक राम मंदिर ट्रस्ट को मंदिर निर्माण के लिए 100 करोड़ रुपए का दान ऑनलाइन मिल चुका है। इसके अलावा ट्रस्ट का लक्ष्य देश के 4 लाख गांव में जाना और 11 करोड़ परिवारों से संपर्क कर चंदा जुटाने का है।

नहीं होगा लोहे का इस्तेमाल

आगामी पचास वर्ष को ध्यान में रखते हुए योजनाओं का प्रारूप निर्धारित किया गया है। रामजन्मभूमि परिसर की निगरानी के लिए प्रत्येक कोण पर ऊंचा निरीक्षण स्तंभ भी बनाया जाएगा। उन्होंने राममंदिर निर्माण के विशिष्ट मानक की भी जानकारी दी है। जिसके तहत राममंदिर का पूरा निर्माण लौहरहित होगा।

राममंदिर में होंगे पांच शिखर व 12 द्वार

मंदिर में कुल पांच शिखर और 12 द्वार होंगे। जिसके तहत 2.7 एकड़ में मुख्य मंदिर का निर्माण होगा। मंदिर का कुल निर्मित क्षेत्र 57400 वर्गफीट होगा। मंदिर में कुल पांच मंडप होंगे। लंबाई 360 फीट व चौड़ाई 235 फीट होगी। मंदिर की शिखर सहित ऊंचाई 161 फीट तय है। मंदिर में कुल तीन तल होंगे, प्रत्येक तल की ऊंचाई 20 फीट होगी। मंदिर के भूतल में स्तंभों की संख्या 160, प्रथम तल में स्तंभों की संख्या 132 व दूसरे तल में 74 स्तंभ होंगे।

Related posts