अब से हर माह प्रजा से मिलने और उनका हालचाल जानने निकलेंगे रामलला

चैतन्य भारत न्यूज

अयोध्या. प्रभु श्री राम अब हर माह अपनी प्रजा का हाल जानने के लिए नगरी में भ्रमण करेंगे। जानकारी के मुताबिक, रामलला हर महीने में शुक्लपक्ष की नवमी तिथि को प्रजा के हालचाल जानेंगे और उनसे मिलने अपने मंदिर से सरयू तट पर बने रामघाट तक जाया करेंगे। यहां पर वैदिक विधि-विधान से कल्याण महोत्सव पूजन के बाद रामलला सरयू दर्शन करेंगे। सरयू दर्शन के बाद वो वापस मंदिर लौट आएंगे।

श्री रामजन्मभूमि तीर्थक्षेत्र न्यास के अनुसार, प्रिय रामलला और अवधवासियों की भावना के मुताबिक न्यास ने यह उत्सव तय किया है और विशेष शोभायात्रा के रूप में चक्रवर्ती कोशलेश दशरथ के पुत्र रामलला कभी पालकी, कभी रथ और कभी सुंदर विमान से नगर भ्रमण करेंगे। चक्रवर्ती सम्राट के महिमामय स्वरूप में चंवर छ्त्र और राजदंड धारण कर भव्य शोभायात्रा के साथ रामलला बाहर निकला करेंगे।

अवध वासियों के साथ-साथ पूरे विश्व के भक्तों को सुख देंगे

श्री रामनवमी यानी चैत्र शुक्ल नवमी को अपने जन्मदिन पर रामलला अपने तीनों भाइयों भरत, लक्ष्मण और शत्रुघ्न के साथ अलग-अलग रथ पर सवार होकर अपने मंदिर से निकलकर रामकोट में नगरभ्रमण करेंगे। ये विशिष्ट यात्रा दोपहर बारह बजे अभिजीत मुहूर्त में श्री रामलला के प्राकट्य उत्सव के बाद जन्म महाभिषेक और श्रृंगार, राजभोग और आरती के बाद प्रारंभ होगी। यानी उस दिन राजभोग आरती के बाद प्रभु विश्राम नहीं करेंगे बल्कि नगर में प्रजा से मिलने और उनकी भावनाएं- शुभकामनाएं स्वीकार करने और शुभ आशीष देने स्वयं निकलेंगे। अभी रामलला का नौ दिवसीय जन्मोत्सव समारोह का भव्य समापन शोभायात्रा से होता रहा है। अब वार्षिक के साथ-साथ मासिक उत्सव भी अवध वासियों के साथ-साथ पूरे विश्व के भक्तों को सुख देंगे।

Related posts