बहू मायके न जा सके इसलिए ससुराल वालों ने कर दिया गंजा

kota,women get bald,kota news

चैतन्य भारत न्यूज

जयपुर. कोटा जिले के देवलीमांझी से एक शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक बहू को सिर्फ इसलिए गंजा कर दिया ताकि वह मायके न जा सके। इतना ही नहीं बल्कि ससुराल वालों ने उसके साथ मारपीट भी की। पीड़िता ने इस मामले की शिकायत पुलिस में की।इसके बाद पुलिस ने पीड़िता को मायके रवाना कर दिया। पीड़िता के मुताबिक, यह घटना पांच दिन पहले की है।

घटना के बाद पीड़िता ने कोटा ग्रामीण पुलिस अधीक्षक और कोटा के जिला कलेक्टर को भी शिकायत कर अपनी व्यथा की जानकारी दी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। अठारह वर्षीय विवाहिता मीना का कहना कि, तीन साल पहले उसकी शादी देवलीमांझी में सुरेश नाम के युवक से हुई थी। उसने बताया कि, ससुराल पक्ष में अच्छा बर्ताव नहीं होने कारण वह दोबारा ससुराल नहीं गई। इस दौरान ससुराल पक्ष के कुछ लोग उसके घर आए और उसे जबरदस्ती अपने गांव ले गए। ससुराल में उसके साथ मारपीट भी की गई।

मीना के मुताबिक, ससुराल वालों ने कहा कि वह इतने दिनों से नहीं आ रही है इसलिए अब इसके बाल काट दो ताकि वह वापस अपने मायके नहीं जा सके। मीना का आरोप है कि, इसके बाद चार-पांच लोगों ने उसे पकड़ा और रेजर से उसके सिर के पूरे बाल काट दिए। इस घटना के बाद भी वह ससुराल में करीब पांच दिन रही। खबरों के मुताबिक, जब उसे पानी भरने के लिए हैंडपंप पर भेजा तो इस दौरान वह बर्तन छोड़कर किसी तरह देवलीमांझी थाने पहुंची और अपने साथ हुई इस घटना की शिकायत की। लेकिन इस दौरान पुलिस ने उसे समझा बुझाकर अपने घर भेज दिया।

पुलिस की मदद न मिलने पर मीना सीधे अपने पिता के घर पंहुच गई। मायके आने के बाद उसने पुलिस अधीक्षक और जिला कलेक्टर से शिकायत की। शिकायत करने के बाद भी पांच दिन गुजर गए लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद मीना ने अपनी आपबीती अपने ही गांव के रहने वाली कुन्हाड़ी निवासी रणवीर सिंह झाला को बताई। रणवीर ने ही इस बात का खुलासा किया।

अदालत में यह मामला

मीना का आरोप है कि, बाल उम्र में उसका विवाह जबरदस्ती किया गया था। यही वजह है कि वह ससुराल नहीं जाना चाहती थी। मीना ने पारिवारिक न्यायालय क्रम एक में सुरेश पुत्र अमर लाल के खिलाफ भरण पोषण का केस भी किया। मीना ने बताया कि, अशिक्षित होने की वजह से वह कोर्ट में पेश होकर अपनी बात नहीं रख सकी।

 

Related posts