भगवद गीता का बढ़ा सम्मान, ब्रिटेन की संसद के दोनों सदनों में रखी जाएगी

bhagwat geeta ,houses of britain parliament ,House of lords ,House of commons

चैतन्य भारत न्यूज

हिंदूओं का पवित्र ग्रंथ श्रीमद्भगवद्गीता अब ब्रिटेन की संसद के दोनों सदनों ‘हाउस ऑफ लॉर्डस’ और ‘हाउस ऑफ कामन्स’ में स्थापित की जाएगी। इतना ही नहीं बल्कि इसके प्रचार-प्रसार के लिए 50 सदस्यों की एक समिति भी गठित की जाएगी। इस बात की जानकारी हरियाणा के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री विपुल गोयल ने दी।

वह हाल ही में लंदन में आयोजित तीन दिवसीय ‘अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव’ में भाग लेने पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि यह पहला मौका है जब देश से बाहर दूसरी बार ‘अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव’ आयोजित किया गया है। जानकारी के मुताबिक, इससे पहले ‘अंतरराष्ट्रीय गीता जयंती महोत्सव’ का आयोजन मॉरिशस में किया गया था।

बता दें हरियाणा किसानों, जवानों और खिलाड़ियों की भूमि होने के साथ-साथ पवित्र ‘गीता’ का उत्पत्ति स्थल भी है। कहा जाता है जो व्यक्ति गीता में कही गई बातों को अपने जीवन में अमल करता है वह सफल हो जाता है। अर्जुन को भगवान कृष्ण द्वारा कही गई प्रेरणा दायक बातें किसी भी व्यक्ति के लिए आज के समय में कारगर साबित होती हैं।

यह भी पढ़े…

ब्रिटेन की गृहमंत्री बनीं प्रीति पटेल, इस पद पर पहुंचने वालीं पहली भारतीय महिला

Related posts