‘आइटम’ वाला बयान देकर बुरे फंसे कमलनाथ, चुनाव आयोग ने भेजा नोटिस, 48 घंटे में मांगा जवाब

kamal nath operation,shivraj singh chouhan

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव में नेताओं की लगातार जुबान फिसल रही है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी और शिवराज सरकार में मंत्री इमरती देवी को आइटम कहने से बवाल मच गया। इस विवादित टिप्पणी के चलते अब कमलनाथ परेशानी में पड़ गए। इस बयान को लेकर चुनाव आयोग ने कमलनाथ से जवाब मांगा है। कांग्रेस के दिग्गज नेता को अपना जवाब 48 घंटे के अंदर देना होगा।

ये है बयान

बता दें कमलनाथ मध्य प्रदेश के डबरा में भाजपा प्रत्याशी इमरती देवी के खिलाफ उतरे कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे के समर्थन में प्रचार करने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने मंच से कहा कि, ‘सुरेंद्र राजेश हमारे उम्मीदवार हैं, सरल स्वभाव के सीधे साधे हैं। यह उसके जैसे नहीं है, क्या है उसका नाम? मैं क्या उसका नाम लूं आप तो उसको मुझसे ज्यादा अच्छे से जानते हैं, आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था, ‘यह क्या आइटम है।’


मैं क्यों माफी मांगूंगा?

भाजपा ने इस तरह की भाषा की काफी आलोचना की थी और कमलनाथ पर कड़ी कार्रवाई की मांग की थी। यहां तक कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा था कि, ‘उन्हें इस तरह की भाषा पसंद नहीं है।’ पूर्व सीएम कमलनाथ ने अपने बयान पर उठे विवाद पर सफाई देते हुए कहा था कि, ‘उनका इरादा किसी का अपमान करना नहीं था। उन्होंने कहा था कि मैं क्यों माफी मांगूंगा? किसी का अपमान करने का मेरा कोई इरादा नहीं था। फिर भी किसी को बुरा लगा तो मुझे इसके लिए खेद है।’

बीजेपी ने किया मौन धरना-प्रदर्शन

इसी बयान को लेकर बीजेपी ने कांग्रेस पार्टी के खिलाफ जगह-जगह मौन धरना-प्रदर्शन किया था। राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी इस मामले में संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग को आवश्यक कार्रवाई के लिए कहा है। निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने भी बताया कि इस मामले में मध्य प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट मांगी गई है।

Related posts