खिलौने में लगी बैटरी निगल गया डेढ़ साल का बच्चा, आहार नली फटने से मौत

swallowed toy battery death

चैतन्य भारत न्यूज

मध्‍यप्रदेश के भोपाल से एक ऐसी खबर आई है, जिसके बारे में जानकर आपके भी होश उड़ जाएंगे। यह खबर एक मासूम बच्‍चे से जुड़ी हुई है, जिसने खेल-खेल में ख‍िलौने में लगने वाली बैट्री निगल ली। बैट्री आहार नली में कुछ दिन तक फंसी रही। बैट्री का एसिड निकलने से आहार नली फट गई और तीन दिन बाद हमीदिया अस्पताल में उसकी मौत हो गई।



बच्चे का नाम संतोष है और उसके पिता का नाम प्रेम सिंह है जो बैरसिया के रहने वाले हैं। वह बच्चे को लेकर कुछ दिनों पहले हमीदिया अस्पताल पहुंचे थे। प्रेम सिंह ने बताया कि बच्चे ने खिलौने में लगी चने के दाने के आकार की बैटी निगल ली। इसके बाद बच्चे को नाक, कान एवं गला विभाग में रेफर कर दिया गया।

जानकारी के मुताबिक, विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर यशवीर जेके ने एंडोस्कोपी की मदद से बैट्री निकाली। उन्होंने बताया कि, बच्चे की आहार नली में बैट्री करीब 50 ग्राम गीली मिट्टी की तरह हो गई थी जिसका रंग भी मिट्टी की तरह ही था।

डॉक्टर ने बताया कि, अस्पताल आने के कई दिन पहले बच्चा बैट्री निगल गया था। परिजन इस इंतजार में थे कि अन्य ठोस चीजों की तरह बैट्री शौच के दौरान निकल जाएगी। लेकिन जब हालत खराब होने लगी तो बच्चे को अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां बच्चे का इलाज शुरू किया गया। लेकिन अगले दिन उसकी हालत और खराब हो गई। जिसके बाद बच्चे को वेंटिलेटर पर रखा गया, लेकिन उसे बचा नहीं पाए।

शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर राकेश मिश्रा ने कहा कि, ‘चना, मूंगफली, आलपिन, सुपारी, खिलौने की बैट्री, सिक्के छोटे बच्चों को नहीं देना चाहिए। इन चीजों के सांस नली में फंसने से बच्चे की जान जा सकती है। बच्चा बैट्री निगले तो तत्काल डॉक्टर के पास ले जाएं।’

 

Related posts