मध्यप्रदेश के 394 गांवों में बाढ़ ने मचाई भारी तबाही, सीएम शिवराज ने पीएम मोदी से की बात, आज भी बारिश का रेड अलर्ट

चैतन्य भारत न्यूज

भोपाल. पिछले कुछ दिनों से मध्य प्रदेश में लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है जिसके चलते राज्य की कई नदियां उफान पर हैं। राजधानी भोपाल समेत अन्य जिलों के बांधों के गेट खोल दिए गए हैं। जिसके कारण प्रदेश के 9 जिलों के करीब 394 गावों में बाढ़ की स्थिति बन गई है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की। उन्होंने प्रधानमंत्री को राज्य में बाढ़ के हालातों के बारे में बताया।

इन जिलों में ज्यादा असर

सीएम शिवराज ने कहा कि, ‘मध्यप्रदेश के नौ जिलों के 394 से ज्यादा गांवों में बाढ़ ने तबाही मचाई है। अब तक 7000 से अधिक लोगों को बचाकर सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है। छिंदवाड़ा में बाढ़ में फंसे 5 लोगों को हेलीकॉप्टर से एयरलिफ्ट किया गया है। वायुसेना के दो हलीकॉप्टर होशंगाबाद, सीहोर और रायसेन के लिए आने वाले थे पर खराब मौसम के कारण उनको रास्ते से ही बाहर लौटना पड़ा है। एक झांसी और एक नागपुर गया है। हमने और अतिरिक्त हेलीकॉप्टर वायुसेना से मांगे हैं। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें पूरी तरह से लगी हुई हैं।’

इन जिलों में रेड अलर्ट जारी

बाढ़ग्रस्त इलाकों में बचाव कार्य के लिए सरकार सेना और एनडीआरएफ की मदद ले रही है। बाढ़ग्रस्त इलाकों से लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने की कवायद बीते शनिवार से ही शुरू कर दी गई है। वहीं मौसम विभाग ने अत्यधिक भारी वर्षा यानी रेड अलर्ट छिंदवाड़ा विदिशा सीहोर राजगढ़ शाजापुर आगर जिला में जारी किया है। अति भारी वर्षा यानी ऑरेंज अलर्ट होशंगाबाद संभाग के जिलों में भोपाल रायसेन नरसिंहपुर सिवनी बालाघाट दमोह सागर बुरहानपुर खंडवा बड़वानी धार इंदौर रतलाम उज्जैन देवास नीमच एवं मंदसौर जारी किया गया है। इसके अलावा गुना अशोकनगर शिवपुरी श्योपुर कला जिलों में येलो अलर्ट जारी है।

Related posts