बिहार में मंत्री रह चुका यह युवा नेता नौवीं से आगे नहीं पढ़ सका, पांच साल में दोगुनी से अधिक संपत्ति

tejaswi yadav,tejaswi yadav tweet,rjd

चैतन्य भारत न्यूज

पटना. बिहार के लालू प्रसाद यादव चमत्कारिक नेता रहे हैं। वे बिहार के मुख्यमंत्री रहे। चारा घोटाले जैसे मामले में फंसे तो पत्नी राबड़ी देवी को मुख्यमंत्री बनवा दिया। इसी मामले में वे चुनाव लड़ने से वंचित हुए तो जेल भी गए। बेटों को राजनीतिक विरासत मिली तो बेटे तेजस्वी और तेजप्रताप भी 30 साल से कम उम्र में ही मंत्री बन गए। हालांकि औपचारिक शिक्षा के मामले में दोनों पीछे हैं। हिंदी के साथ ही अच्छी अंग्रेजी बोलने वाले तेजस्वी यादव अपनी पढ़ाई आगे नहीं बढ़ा सके। वे अब भी नौवीं कक्षा पास हैं।

हाजीपुर में दिए गए चुनावी हलफनामे में तेजस्वी ने बताया है कि वर्ष 2006 में दिल्ली के आरकेपुरम स्थित डेल्ही पब्लिक स्कूल (dps)से उन्होंने नौवीं की पढ़ाई पूरी की है। क्रिकेट एवं बिजनेस से जुड़े तेजस्वी के पास जहां 2015 में करीब दो करोड़ 32 लाख रुपए की चल-अचल संपत्ति थी। वहीं, 2020 में उनकी संपत्ति दोगुनी से अधिक हो गई।

विधानसभा चुनाव के लिए बुधवार को राघोपुर सीट से नामांकन के साथ उन्होंने यह हलफनामा दिया है। इसमें उन्होंने यह घोषणा की है कि उनके पास पांच करोड़ 88 लाख रुपये की चल-अचल संपत्ति है। उनके पास एक लाख 20 हजार रुपये नकदी है। वहीं, चार करोड़ 73 लाख की चल और एक करोड़ 15 लाख की अचल संपत्ति है। तेजस्वी के पास आयकर विभाग का 17, 578 रुपये बकाया है। यही नहीं, हलफनामे में उन्होंने खुद पर चार करोड़ दस लाख रुपए का कर्ज होना भी बताया है। तेजस्वी पर पटना, पूर्णिया, हाजीपुर और नई दिल्ली में एक दर्जन विभिन्न मामले भी दर्ज हैं।

Related posts