मप्र के नेता प्रतिपक्ष ने बहुमत साबित करवाने के लिए लिखा राज्यपाल को पत्र

gopal bhargav,madhyapradesh,bhopal,bjp,congress

चैतन्य भारत न्यूज

लोकसभा चुनाव 2019 के संपन्न होने के बाद विभिन्न समाचार माध्यमों के एग्जिट पोल में बीजेपी को बहुमत मिलने की संभावनाओं के बीच मध्य प्रदेश के बीजेपी नेता गोपाल भार्गव ने उत्साहित होकर राज्यपाल को पत्र लिखकर विधानसभा का विशेष सत्र बुलवाने की मांग की है। भार्गव ने कहा कि, ऐसे बहुत से मुद्दे हैं जिन पर बात की जानी है। कांग्रेस विधायक अपनी पार्टी से खुश नहीं हैं, वे पार्टी छोड़ेने के लिए तैयार हैं। इससे सरकार के पास बहुमत नहीं बचेगा।

सोमवार को भार्गव ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि, एग्जिट पोल के अनुसार फिर से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं। मध्यप्रदेश में कांग्रेस को दो से तीन सीटें मिलने वाली हैं। इस बात से ये संकेत मिल रहा है कि वर्तमान सरकार ने जनता का भरोसा तोड़ दिया है। इसलिए उन्होंने विधानसभा सत्र बुलाने की मांग की है। भार्गव ने आगे ये भी कहा कि, ‘हर सर्वेक्षण में ही केंद्र में एनडीए सरकार तय लग रही है। नए परिप्रेक्ष्य में मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी को 29 में से 26-27 सीटें आने की संभावना है। इससे तो ये ही साबित हो रहा है कि कांग्रेस के पास विश्वास नहीं बचा है। ये जनमत राज्य सरकार के खिलाफ आया है और इसलिए सरकार को जल्द विधानसभा का सत्र बुलवा कर सदन में विश्वास साबित करना चाहिए।’

उन्होंने आगे कहा कि, जब जनता की राय कांग्रेस के खिलाफ है तो फिर जल्द ही नया सत्र बुलवाकर चर्चा करना बीजेपी का राजधर्म है। साथ ही भार्गव ने ये दावा भी किया है कि, 23 मई को एग्जिट पोल से बहुत अलग नतीजे नहीं आएंगे। गौरतलब है कि, मध्यप्रदेश विधानसभा में कुल 230 विधायक है। इनमे से कांग्रेस के 114 और बीजेपी के 109 विधायक है। कांग्रेस पार्टी बसपा, सपा और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से चल रही है। एग्जिट पोल में ज्यादातर समाचार माध्यमों ने राज्य में 29 सीटों में से कांग्रेस को करीब पांच सीटें मिलने की बात कही है।

Related posts