गोडसे को ‘देशभक्त’ कहने पर प्रज्ञा ने मांगी माफी, राहुल को घेरते हुए कहा- मुझे शारीरिक-मानसिक रूप से प्रताड़ित किया गया

pragya thakur

चैतन्य भारत न्यूज

नई दिल्ली. नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ कहकर विवादों से घिरी सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने अपने बयान को लेकर माफी मांग ली है। संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान लोकसभा में शुक्रवार को प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि, ‘मेरे बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया। अगर किसी को ठेस पहुंची है तो मैं माफी मांगती हूं। मैं महात्मा गांधी का श्रद्धा सुमन से सम्मान करती हूं।’


साध्वी प्रज्ञा के बाद अब इस बीजेपी नेता ने भी गोडसे को बताया देशभक्त, कहा- गांधी जी ने हिंदुओं के लिए जो किया वह सही नहीं

राहुल पर साधा निशाना

प्रज्ञा ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लिए बिना कहा कि, ‘एक सदस्य ने मुझे आतंकी कहा है। जबकि मेरे खिलाफ कोई आरोप सिद्ध नहीं हुआ है। इसके बावजूद मुझे आतंकी कहना गैरकानूनी है। यह एक महिला, एक संन्यासी और एक सांसद का अपमान है। अगर मेरे बयानों से किसी को ठेस पहुंची है तो खेद प्रकट करते हुए माफी मांगती हूं। मैं राजनीतिक साजिश का शिकार रही हूं। मुझे शारीरिक-मानसिक रूप से प्रताड़ित किया गया।’ बता दें गुरुवार को राहुल गांधी ने प्रज्ञा को लेकर एक ट्वीट किया था कि, ‘आतंकी प्रज्ञा आतंकवादी गोडसे को देशभक्त बता रही हैं। यह भारतीय संसद के इतिहास का सबसे काला दिन है।’ हालांकि, राहुल ने कहा कि, ‘मैंने अपनी स्थिति साफ कर दी है। मैं अपने बयान पर कायम हूं और माफी नहीं मागूंगा।’

 

कांग्रेस सांसदों ने लगाए नारे

बता दें प्रज्ञा के बयान के दौरान कांग्रेस सांसदों ने हंगामा किया और ‘महात्मा गांधी अमर रहे’ के नारे भी लगाए। विपक्ष ने प्रज्ञा ठाकुर पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी जिसे लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने खारिज कर दिया। बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने कहा कि, ‘राहुल गांधी ने महिला सांसद को आतंकी कहा। यह महात्मा गांधी की हत्या से भी बदतर है। इसलिए सदन को राहुल गांधी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाना चाहिए।’

रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति से हटाई गईं प्रज्ञा ठाकुर, बीजेपी भी कर सकती है बाहर!

प्रज्ञा ने पेश की सफाई

गौरतलब है कि विवादों में फंसने के बाद प्रज्ञा ने गुरुवार को ट्वीट कर सफाई पेश करते हुए कहा था कि, ‘लोकसभा में उनकी विवादित टिप्पणी क्रांतिकारी उधम सिंह के अपमान के खिलाफ की गई थी।’ साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि, ‘कभी कभी झूठ का बवंडर इतना गहरा होता है कि दिन में भी रात लगने लगती है।’

गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान पर प्रज्ञा ठाकुर ने दी सफाई, कहा- कभी-कभी झूठ का बवंडर इतना गहरा होता है

क्या है मामला

बता दें बुधवार को लोकसभा में जब डीएमके के सांसद ए. राजा, गोडसे के एक बयान का हवाला दे रहे थे कि उसने महात्मा गांधी को क्यों मारा? तो प्रज्ञा ठाकुर ने उन्हें टोक दिया और कहा कि, ‘आप एक देशभक्त का उदाहरण नहीं दे सकते।’ इसके बाद गुरुवार को साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ सख्त कार्यवाही करते हुए उन्हें रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति से हटा दिया गया और सत्र के दौरान होने वाली भाजपा संसदीय दल की बैठक में आने पर भी रोक लगा दी गई।

ये भी पढ़े…

रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति से हटाई गईं प्रज्ञा ठाकुर, बीजेपी भी कर सकती है बाहर!

साध्वी प्रज्ञा को मिली रक्षा मंत्रालय की कमेटी में जगह, कांग्रेस ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

कमलनाथ के इस मंत्री ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को बताया अनोखा जीव, पीएम मोदी पर भी कसा तंज

बीजेपी नेताओं के निधन पर साध्‍वी प्रज्ञा के विवादित बोल, कहा- विपक्ष करा रहा है जादू-टोना!

Related posts