बंगाल: बीजेपी नेता का विवादित बयान, ‘अगर मुझे कोरोना हुआ, तो ममता को लगाऊंगा गले’, FIR दर्ज

चैतन्य भारत न्यूज

पश्चिम बंगाल के नवनियुक्त राष्ट्रीय सचिव व पूर्व सांसद अनुपम हाजरा अपने एक विवादित बयान के कारण मुसीबत में फंस गए हैं। अनुपम ने अपने बयान में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का अपमान किया था। रविवार को उत्तर 24 परगना में एक बैठक के दौरान अनुपम हाजरा ने कहा था कि, अगर मुझे कोरोना हुआ तो मैं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को गले लगा लूंगा, जिससे कि वो भी प्रभावित हो जाएं। इसके बाद उनके खिलाफ सिलीगुड़ी पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज की गई।

दरअसल, भाजपा के राष्ट्रीय सचिव बनाए जाने के बाद अनुपम हाजरा जिला कार्यकारिणी के बैठक लेने दक्षिण 24 परगना के बरुईपुर पुहंचे थे। यहां उन्होंने कहा, ‘हमारे कार्यकर्ता कोरोना से भी बड़े दुश्मन से लड़ाई लड़ रहे हैं। वो ममता बनर्जी से लड़ रहे हैं। अगर कार्यकर्ता ममता के खिलाफ बिना मास्क के लड़ सकते हैं तो फिर कोरोना के खिलाफ भी लड़ सकते हैं। अगर किसी दिन मैं कोरोना पॉजिटिव हो जाता हूं तो मैं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के पास जाऊंगा और उन्हें गले लगा लूंगा। तब वह उन लोगों का दर्द समझेंगी जिन लोगों ने कोरोना महामारी के चलते अपनों को खोया है।’

‘कोरोना से बड़ी दुश्मन ममता’

अनुपम हाजरा के इस बयान पर टीएमसी ने हमला बोलते हुए कहा कि, ‘अगर यह बयान बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव का है तो इसे लोग समझ सकते हैं कि पार्टी के अन्य सदस्य किस तरह बात करते होंगे।’ बता दें कि अनुपम हाजरा पिछले ही साल TMC से बीजेपी में आए हैं, कोरोना संकट के दौरान बंगाल सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए उन्होंने ये बात कही। बीजेपी नेता ने आरोप लगाया कि ममता सरकार ने कोरोना से मृत लोगों के साथ बुरा बर्ताव किया, ऐसा बर्ताव को कुत्ते-बिल्ली के साथ भी नहीं होता।

जब बयान पर सफाई मांगी गई तो बीजेपी नेता अनुपम ने कहा कि ममता बनर्जी ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कई आपत्तिजनक बयान दिए हैं। अगर मेरे खिलाफ एक एफआईआर हुई है तो टीएमसी वालों के खिलाफ दस होनी चाहिए। इस विवाद पर भाजपा की राज्य यूनिट ने खुद को किनारे किया और कहा कि पार्टी इस तरह के बयान का समर्थन नहीं करती। अनुपम हाजरा को राष्ट्रीय टीम में जगह दी गई और भाजपा का सचिव बनाया गया।

Related posts