अब MP में भी ‘ब्लैक फंगस’ को महामारी घोषित किया, रखा जाएगा रिकॉर्ड

चैतन्य भारत न्यूज

कोरोना संक्रमण के बीच ब्लैक फंगस विकराल रूप धारण करता जा रहा है। देश के कई राज्यों में यह तेजी से बढ़ रहा है। रोजाना सैकड़ों लोग इसके शिकार हो रहे हैं। कई राज्यों ने इसे महामारी घोषित कर रखा है। अब मध्य प्रदेश सरकार ने ब्लैक फंगस यानी म्यूकोरमाइकोसिस संक्रमण को प्रदेश में महामारी घोषित कर दिया है। सरकार इस बीमारी के मरीज़ों और मृतकों का इलाज का कोरोना की तरह ही रिकॉर्ड रखेगी।

प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने शुक्रवार को एक आदेश जारी कर मध्य प्रदेश लोक स्वास्थ्य अधिनियम तथा महामारी रोग अधिनियम के तहत ब्लैक फंगस को प्रदेश में महामारी घोषित किया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को अपने निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्था की समीक्षा की थी, जिसके बाद यह आदेश जारी किए गए।

राज्य सरकार की नजर इस पर भी होगी कि कोई अस्पताल इसका इलाज करने से मना तो नहीं कर रहा और इसकी दवाओं की कालाबाजारी तो नहीं हो रही। एसे करने वालों के खिलाफ सरकार सख्त कर्रवाई कर सकती है। बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा, ‘प्रदेश में ब्लैक फंगस को महामारी घोषित किया जाता है। इस बीमारी के उपचार की अच्छी से अच्छी व्यवस्था हो, जिन मरीजों का ऑपरेशन हुआ है, उन्हें इंजेक्शन ‘एम्फोटैरिसिन बी’ उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित किया जाए।’

MP में ब्लैक फंगस से 10 लोगों की मौत

बता दें कि मध्यप्रदेश में यह इंफेक्शन तेजी से फैल रहा है। राज्य में अभी तक 10 लोगों की मौत हो चुकी। वहीं कई मरीज अब भी इस बीमारी से जंग लड़ रहे हैं। ब्लैक फंगस से सबसे ज्यादा वह मरीज हैं, जो हाल ही में कोरोना से ठीक होकर घर लौटे हैं. लेकिन फिर से उन्हें अस्पताल जाना पड़ रहा है।

ना सिर्फ कोरोना संक्रमित बल्कि इन रोगों से जूझ रहे लोगों को भी अपना शिकार बना रहा ब्लैक फंगस

कोरोना मरीजों में ब्लैक फंगस के बाद अब व्‍हाइट फंगस का बड़ा खतरा, इन हिस्सों को नुकसान पहुंचाता है

डॉक्टरों से बात करते हुए पीएम मोदी हुए भावुक, कहा- वायरस ने कई अपनों को छीन लिया, ब्लैक फंगस नई चुनौती, बच्चों को बचाना जरूरी

Related posts