दिल्ली.: जैश-उल-हिंद ने ली इजरायली दूतावास के बाहर धमाके की जिम्मेदारी, कहा- ये सिर्फ ‘ट्रेलर’ है

चैतन्य भारत न्यूज

दिल्ली में इजरायली दूतवास के पास शुक्रवार को धमाका हुआ था, जिसके बाद से ही इलाके में दहशत का माहौल है। धमाके के बाद घटनास्थल से बरामद एक लिफाफा ने दहशतगर्दों के मंसूबों की ओर इशारा दिया है। इस लिफाफे के अंदर मौजूद एक पत्र में धमाके को ‘ट्रेलर’ बताया गया है।

इजरायली दूतावास के बाहर IED ब्लास्ट की जिम्मेदारी जैश-उल हिंद नाम के संगठन ने ली है। इस संगठन ने दावा किया है कि उसने ही इजरायली दूतावास के सामने धमाका करवाया है। देश की खुफिया एजेंसियां इस दावे की सत्यता की जांच कर रही है। खुफिया एजेंसियों ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म टेलिग्राम पर एक चैट पाया है। ये पत्र इजरायल के राजदूत के नाम से है। मौके से बरामद पत्र में धमाके को ट्रेलर बताया गया है। इस चिट्ठी में ईरान के उस जनरल कासिम सुलेमानी का जिक्र है, जिनकी 3 जनवरी 2020 को इराक में बगदाद एयरपोर्ट के पास ड्रोन हमले में हत्या कर दी गई थी। इसके अलावा ईरान के टॉप न्यूक्लियर साइंटिस्ट मोहसिन फकीरजादेह का भी नाम है। जिनकी हत्या में सैटेलाइट नियंत्रित स्मार्ट सिस्टम मशीनगन का इस्तेमाल किया गया था। इस चिट्ठी में इन दोनों की हत्या का बदला लेने की बाद कही गई है।


शुक्रवार को इजरायली दूतावास के बाहर हुए धमाके के बाद दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा बढ़ा दी है। स्पेशल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा कुछ देर पहले घटनास्थल पहुंचे थे। स्पेशल सेल के कुछ अधिकारी एक बैग में कुछ दस्तावेज और दूसरे सामान लेकर इजरायली दूतावास के अंदर गए हैं।

दिल्ली के होटल में कितने ईरानी, जांच शुरू

दिल्ली पुलिस दिल्ली में बसे सभी ईरानियों का ब्यौरा इकट्ठा कर रही है। इसके अलावा दिल्ली के सभी होटलों से संपर्क किया जा रहा है और वहां रुके ईरानियों की डिटेल्स ली जा रही है। दिल्ली एयरपोर्ट और बाकी संवेदनशील क्षेत्रों मे सतर्कता बढ़ाई गयी है।

Related posts