देश में पहली बार: बॉम्बे हाईकोर्ट ने महिला को दी 24 हफ्ते का गर्भ गिराने की अनुमति

चैतन्य भारत न्यूज

बॉम्बे हाईकोर्ट ने शुक्रवार को ऐसा फैसला सुनाया जो हर जगह चर्चा में है। दरअसल, कोर्ट ने एक महिला को 24 हफ्ते का गर्भ गिराने की इजाजत दे दी है। यह संभवत: देश में पहला ऐसा मामला है। जानकारी के मुताबिक, महिला के गर्भ में तीन भ्रूण पल रहे हैं। जे जे अस्पताल के एक विशेषज्ञ पैनल ने गर्भ को गिराने की अनुमति देने की सिफारिश की थी। कहा था कि यह गर्भ मां की मानसिक हालात के लिए ठीक नहीं है।

महिला के गर्भ में तीन भ्रूण

न्यायाधीश शाहरुख काठवाला और न्यायाधीश सुरेंद्र तावड़े की बेंच ने एक मानसिक समस्या से पीड़ित 41 वर्षीय महिला और उसके पति की उस याचिका को स्वीकार किया जिममें कहा गया कि महिला के गर्भ में तीन भ्रूण पल रहे हैं, जिनके स्वस्थ न होने के चलते गर्भपात की इजाजत दी जाए।

चिकित्सा विशेषज्ञों ने गर्भपात की दी सलाह

जानकारी के अनुसार, महिला के गर्भ में जो भ्रूण है उनमें से एक का सिर नहीं है और दूसरे में आनुवाशिंक असामान्यताएं के साथ पैदा होने की आशंकाएं जताई गई है। एक भ्रूण के स्वस्थ्य पैदा होने की संभावना है। ऐसे में डॉक्टरों ने महिला को गर्भपात की दी सलाह है। चिकित्सा पैनल ने कहा कि महिला को गर्भावस्था आगे चलकर जटिलताएं हो सकती हैं। वहीं तीन में से दो बच्चों के स्वस्थ न होने के बारे में सोचकर महिला की मानसिक स्थिति पर भी असर पड़ सकता है।

Related posts