कोटा में 104 बच्चों की मौत पर भड़कीं मायावती, की मुख्यमंत्री गहलोत को बर्खास्त करने की मांग

mayavati, ban on mayavati,

चैतन्य भारत न्यूज

लखनऊ. राजस्थान के कोटा के जेके लोन अस्पताल में पिछले एक महीने में 104 बच्चों की मौत हो गई है। नवजातों की मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसे लेकर बीजेपी समेत अन्य पार्टियां लगातार राज्य की कांग्रेस सरकार पर निशाना साध रही हैं। बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने तो मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को बर्खास्त करने की मांग की है।



बच्चों के मौत के मामले में मायावती ने कहा कि, ‘राजस्थान की कांग्रेसी सरकार के सीएम गहलोत मासूम बच्चों की हुई मौत पर अपनी कमियों को छिपाने के लिए आय दिन चोरी और ऊपर से सीनाजोरी मतलब गैर-जिम्मेदराना और असंवेदनशील बयानबाजी कर रहे हैं।’ उन्होंने आगे कहा कि, ‘कांग्रेस का करीब 100 माओं की कोख उजड़ जाने पर केवल अपनी नाराजगी जताने से काम नहीं चलेगा। बल्कि इनको तुरन्त बर्खास्त करके वहां अपने सही व्यक्ति को सत्ता में बैठाना चाहिए। तो यह बेहतर होगा। वरना वहां और भी माओं की कोख उजड़ सकती है।’

प्रियंका गांधी पर कसा तंज 

इतना ही नहीं बल्कि मायावती ने ट्वीट करके प्रियंका गांधी का नाम लिए बगैर उनपर भी सवाल उठाए। मायावती ने लिखा कि- ‘जिन मांओं की गोद उजड़ी, कांग्रेस की महिला महासचिव अब तक उनसे क्यों नहीं मिलीं?’

हरकत में आई केंद्र सरकार 

बता दें जेके लोन असपताल में दिसंबर महीने में 100 से अधिक बच्चों की मौत हुई थी। इसके बाद साल 2020 के पहले दिन 3 बच्चों ने दम तोड़ा, जबकि गुरुवार को एक बच्चे की मौत हुई। इसी के साथ अब तक मरने वाले बच्चों का आंकड़ा 104 तक पहुंच गया है। आंकड़े बढ़ते देख शुक्रवार को केंद्र की हाई लेवल टीम कोटा पहुंची। इस टीम में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों सहित एम्स (AIIMS) जोधपुर के डॉक्टर भी शामिल हैं। यह टीम बाल चिकित्सा सेवाओं, कर्मचारियों और उपकरणों की उपलब्धता की समीक्षा करेगी।

ये भी पढ़े…

कोटाः 104 मासूमों की मौत का जिम्मेदार कौन? आज जांच के लिए पहुंचेगी केंद्र की एक्सपर्ट टीम

कोटा: नहीं थम रहा बच्चों की मौत का सिलसिला, 4 दिन में 11 नवजातों की मौत, 102 के पार पहुंचा आंकड़ा

कोटा: 48 घंटे में 10 बच्चों की मौत, सीएम गहलोत बोले- हर रोज 3-4 मौतें होती हैं, कोई नई बात नहीं

ऑक्सीजन पाइपलाइन नहीं होने के कारण इंफेक्‍शन फैलने और ठंड के चलते हुई 91 मासूमों की मौत

Related posts