सिवनी: आरोपी बोनट में ठूंसकर ले जा रहे थे 2 करोड़ रुपए, इंजन ने पकड़ी आग, हवा में उड़ने लगे 500 के नोट

चैतन्य भारत न्यूज

एमपी के सिवनी-नागपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर रविवार रात को अजब नजारा देखने को मिला। सिवनी जिले के बनहानी गांव के पास कुछ लोगों ने देखा कि एक कार से 500 रुपए के जले हुए नोट हवा में उड़ रहे हैं। फिर किसी ने पुलिस को इस मामले की जानकारी दी जिसके बाद सच्चाई सामने आई।

करीब पौने दो करोड़ रुपए की नकदी कार के बोनट में छुपाकर ले जाना तीन लोगों के लिए भारी पड़ गया। ये लोग वाराणसी से नकदी कार के बोनट में छुपाकर ले जा रहे थे। कुराई पुलिस स्टेशन के एसएचओ मनोज गुप्ता ने सारा माजरा बताया। गुप्ता के मुताबिक, ‘कार पर सवार लोग करेंसी नोटों को बोनट में छुपा कर ले जा रहे थे जिससे कि रास्ते में कहीं चेकिंग भी हो तो नोट पुलिस की नजर में न आएं। लेकिन इंजन ने आग पकड़ ली। जब कार रोककर बोने खोला तो अधजले करेंसी नोट तेज हवा चलने की वजह से सड़क पर उड़ने लगे। ये देखकर स्थानीय लोगों ने पुलिस को इसकी जानकारी दी।’

लेकिन जब तक पुलिस वहां पहुंचती उसके पहले ही कार सवाल लोग वहां से भाग निकले। लेकिन उनको हाईवे पुलिस पेट्रोल ने जल्दी ही पकड़ लिया। स्थानीय लोगों में से किसी ने कार का रजिस्ट्रेशन नंबर नोट कर लिया था। इनोवा कार का रजिस्ट्रेशन नंबर मुंबई का था। पुलिस ने तीनों आरोपियों की पहचान हुई है जो सभी उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं। इनमें दो जौनपुर के रहने वाले हैं- सुनील और न्यास। तीसरे आरोपी की पहचान आजमगढ़ के हरिओम के तौर पर हुई। पुलिस उनकी ओर से बताए गए पतों को वैरिफाई करा रही है।

आरोपियों ने बताया कि ये लोग इतनी बड़ी रकम सोने की गहने खरीदने के लिए वाराणसी से मुंबई ले जा रहे थे। उनका प्लान इसी रूट से कार से लौटने का था। वहीं पुलिस का कहना है कि आरोपियों ने टैक्स बचाने के लिए ऐसा किया जा रहा था और सारी रकम वाराणसी के जौहरी की हैं। फ़िलहाल पुलिस इस बारे में जांच कर रही है कि वाराणसी में जौहरी का पता क्या है और मुंबई में इस रकम को लेकर कहां जाना था। पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि कहीं आरोपियों का संबंध हवाला नेटवर्क से तो नहीं है।

Related posts