20 साल पहले जिस चोटी पर शहीद हुए थे विक्रम बत्रा, अब वहां पहुंचा उनका जुड़वां भाई, कहा- जोर-जोर से रोना चाहता था लेकिन…

vikram batra,kargil vijay diwas

चैतन्य भारत न्यूज

आज कारगिल युद्ध को 20 साल हो गए हैं। जब भी इस युद्ध के बारे में बात की जाती है तो कैप्टन विक्रम बत्रा के बारे में जरूर जिक्र होता है। कैप्टन बत्रा कारगिल युद्ध में अपनी वीरता का परिचय देते हुए शहीद हो गए थे। मरणोपरांत उन्हें वीरता सम्मान परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया। अब 20 साल बाद कैप्टन बत्रा के जुड़वां  भाई विशाल बत्रा भी उस चोटी पर पहुंचे, जहां 7 जुलाई 1999 को कैप्टन बत्रा शहीद हो गए थे। इस चोटी को ‘बत्रा टॉप’ के नाम से जाना जाता है।vikram batra,kargil vijay diwas,vishal batra


विशाल बत्रा ने बताया कि, उन्होंने इन 20 सालों में कई बार बत्रा टॉप पर जाने के बारे में सोचा लेकिन उनका यह सपना जनरल वाईके जोशी की बदौलत इस साल पूरा हो सका। दरअसल, जनरल वाईके जोशी जो करगिल युद्ध के दौरान विक्रम के कमांडिंग ऑफिसर थे, वह इन दिनों सेना के 14वीं कोर के जीओसी हैं। उनके ही इलाके में कारगिल भी आता है। विशाल बत्रा खुशी के मारे पूरी रात सो नहीं पाएं। विशाल पहले तो खुद चढ़ाई करके बत्रा टॉप तक जाना चाहते थे, लेकिन कुछ दिक्कतों के चलते उन्हें एयरड्रॉप करने का फैसला लिया। जब वह चॉपर से पैर नीचे रखने ही वाले थे कि इससे पहले उनके मन में कई तरह के सवाल उठने लगे जैसे- विक्रम कहां खड़ा था? किस किनारे से बंकर पर छलांग लगाई थी? कहां से उसने आमने-सामने की लड़ाई में तीन पाकिस्तानियों को मार गिराया था? कहां आखिरी सांस ली थी? आदि।

vikran batra

26 जून 1999 को कैप्टन बत्रा ने सैटेलाइट फोन के जरिए उनके माता-पिता से बातचीत की थी। फिर 5 जुलाई को उनकी टीम ने चढ़ाई करना शुरू की। 7 जुलाई को चोटी पर तिरंगा फहराया जा चुका था और इसी दिन विक्रम ने अपनी जान देश के लिए कुर्बान कर दी। अब विशाल ने उसी जगह से अपने माता-पिता को फोन किया। बत्रा टॉप पर पहुंचकर विशाल कुछ देर अकेले कोने में खड़े रहे। वहां पर विशाल अपने भाई विक्रम को महसूस करना चाहते थे। उन्होंने उन सभी पत्थरों को भी छूकर देखा जो 20 साल पहले उनके भाई विक्रम ने छूए होंगे। विशाल ने बताया कि, बत्रा टॉप पर पहुचंकर वह जोर-जोर से रोना चाहते थे लेकिन वह इसलिए नहीं रोए क्योंकि उसी जगह पर उनके भाई हंसते-हंसते लड़ते हुए शहीद हो गए थे।

ये भी पढ़े… 

कारगिल विजय दिवस: 20 साल पहले जब 18 हजार फीट की ऊंचाई पर भारत ने छुड़ाए थे पाकिस्तान के छक्के

कारगिल युद्ध के दौरान जब पाकिस्तानियों ने की थी माधुरी दीक्षित की मांग, कैप्टन विक्रम बत्रा ने दिया था ऐसा जवाब

ये हैं कारगिल युद्ध से जुड़े 10 महत्वपूर्ण तथ्य, जो आपको जरुर जानना चाहिए

Related posts