तेलंगाना: पुलिस ने जंजीरों से बंधे 73 वृद्धों को कराया मुक्त, वृद्धाश्रम चलाने वाले के खिलाफ केस दर्ज

telangana,telangana police

चैतन्य भारत न्यूज

हैदराबाद. तेलंगाना पुलिस ने हैदराबाद के बाहरी इलाके में मौजूद एक वृद्धाश्रम से 73 लोगों को मुक्त कराया है। इनमें से ज्यादातर मानसिक रोग और मानसिक विकारों से पीड़ित हैं। इन्हें वृद्धाश्रम में जंजीर से बांधकर रखा गया था।



पुलिस का कहना है कि आश्रम का स्टाफ इलाज और देखभाल के नाम पर उनपर अत्याचार करता था। इसमें 21 महिलाएं शामिल हैं। यह आश्रम हैदराबाद के बाहरी इलाके में स्‍थित नागरम गांव में है। इस मामले का खुलासा तब हुआ जब पड़ोसियों ने जंजीरों में जकड़े हुए लोगों की चीख-पुकार सुनी और पुलिस को फोन करके बुलाया।

केयरटेकर के खिलाफ वरिष्ठ नागरिकों का भरण पोषण तथा कल्याण अधिनियम 2007 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस के मुताबिक, वृद्धाश्रम को बढ़ावा देने वाले और अपने मां-बाप को वहां छोड़ने वालों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि, ‘ममता ओल्ड एज होम’ नामक एक एनजीओ के प्रोमोटर वृद्धाश्रम में ही अनधिकृत रूप से एक मनोवैज्ञानिक पुनर्वास केंद्र भी चला रहे थे।’

इसके अलावा 52 पुरुषों को एक घर में रखा था और दूसरे घर में 21 महिलाओं को अस्वस्थ स्थिति में जंजीर से बांधकर रखा गया था। इन असहाय लोगों को कई बार अनुशासन में रखने के लिए डंडों से भी पीटा जाता था। अधिकारी ने कहा कि, वृद्धाश्रम में रहने वालों को चिकित्सकीय परीक्षण के बाद विभिन्न पुनर्वास गृह में भेज दिया गया है।

ये भी पढ़े…

बुढ़ापे में माता-पिता को घर से न निकालें, यह बात बच्चों को सिखा रहे बुजुर्ग

100 साल के दूल्हे ने 103 साल की दुल्हन से रचाई शादी, पिछले एक साल से कर रहे हैं एक-दूसरे को डेट

2018-19 में सबसे ज्यादा अनाथ बच्चों को मिली मां की गोद, लड़कियों का आंकड़ा ज्यादा

Related posts