एकमात्र ज्योतिर्लिंग जहां शयन के लिए आते हैं महादेव, जानें ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग का महत्व और विशेषता

omkareshwar yotirling ,omkareshwar yotirling ka mahatav,omkareshwar yotirling ki viseshta,bhagawan shiv,sawan 2019

चैतन्य भारत न्यूज सावन के महीने में भगवान शिव की विशेष पूजा की जाती है। इस महीने में शिवभक्त भोले बाबा के प्रति अपना प्रेम और श्रद्धा व्यक्त करने के लिए अलग-अलग कार्य करते हैं। मान्यता है कि, सावन महीने में जो भी भक्त भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग का नाम जपता है उसके सातों जन्म तक के पाप नष्ट हो जाते हैं। इन्हीं में से एक है ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग जिसे प्रमुख माना गया है। आइए जानते है ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग की विशेषता के बारे में। ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग का महत्व भगवान…

जानिए क्यों सावन में की जाती है शिव की पूजा, इस महीने भूलकर भी न करें ये गलतियां

sawan ka mahina,bhagvaan shiv puja vidhi

चैतन्य भारत न्यूज सावन महीने में सोमवार के व्रत का बहुत महत्व है। सोमवार का दिन भगवान शिव की पूजा के लिए होता है। ऐसे में सावन महीने में इस व्रत का महत्व अधिक बढ़ जाता है। दरअसल सावन का महीना भगवान शिव को अधिक प्रिय है। इस महीने में वह बेहद प्रसन्न रहते हैं। कहा जाता है कि, जो भी भक्त सावन के महीने में शिव की भक्ति पूरी श्रद्धा के साथ करता है, उसकी हर मनोकामना पूरी हो जाती है। सावन में शिव पूजा का महत्व शास्त्रों के…

शनिवार के दिन इस तरह पूजन से प्रसन्‍न होंगे शनिदेव, जानिए व्रत का महत्व और पूजा-विधि

shanivar vrat,shanivar vrat ka mahatava,shanivar vrat pujan vidhi

चैतन्य भारत न्यूज हिंदू धर्म में शनिवार का दिन शनि देवता को समर्पित है। शनिदेव हिंदू पुराणों में अपने क्रोध के लिए विख्यात हैं। मान्यता है कि जिस पर वे कुपित हो जाते हैं, उसके बुरे दिन शुरू हो जाते हैं। यही कारण है कि भक्ति से अधिक भय के कारण सारा संसार शनिदेव को पूजता है। आइए जानते हैं शनिवार व्रत का महत्व और पूजा-विधि। शनिवार व्रत का महत्व जीवन में ग्रहों का प्रभाव बहुत प्रबल माना जाता है और उस पर भी शनि ग्रह अशांत हो जाएं तो…

कालों के काल महाकाल है एकमात्र दक्षिणमुखी ज्योतिर्लिंग, दर्शन से टलती है अकाल मृत्यु

mahakaleshwar jyotirlinga,mahakaleshwar jyotirlingaka mahatav,mahakaleshwar jyotirlinga ki viseshta, ujjain,bhagwaan shiv

चैतन्य भारत न्यूज सावन के महीने में भगवान शिव की विशेष पूजा की जाती है। इस महीने में शिवभक्त भोले बाबा के प्रति अपना प्रेम और श्रद्धा व्यक्त करने के लिए अलग-अलग कार्य करते हैं। मान्यता है कि, सावन महीने में जो भी भक्त भगवान शिव के महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का नाम जपता है उसके सातों जन्म तक के पाप नष्ट हो जाते हैं। आइए जानते है महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग की विशेषता के बारे में। महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का महत्व भगवान शिव के प्रमुख 12 ज्योतिर्लिंगों में महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का स्थान तीसरा है।…

सुख, शांति और समृद्धि के लिए शुक्रवार को ऐसे करें मां संतोषी की पूजा

shukravar vrat,shukravar vrat ka mahatava,

चैतन्य भारत न्यूज हिंदू धर्म के मुताबिक, शुक्रवार का दिन संतोषी माता की पूजा के लिए निर्धारित है। मान्यता है कि संतोषी माता का व्रत हर तरह से गृहस्थी को धन-धान्य, पुत्र, अन्न-वस्त्र से परिपूर्ण रखता है और मां अपने भक्त को हर कष्ट से बचाती हैं। आइए जानते हैं शुक्रवार व्रत का महत्व और पूजा-विधि। शुक्रवार व्रत का महत्व मान्यता है कि शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी का पूजन करने वो प्रसन्न होती है और भक्त की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करती हैं। उसके घर में सुख-समृद्धि प्रवाहित होने लगती…

51 शक्तिपीठों में से एक है मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग, जानिए इसका इतिहास और महत्व

mallikarjun jyotirling,,mallikarjuna jyotirlinga ka mahatav,mallikarjuna jyotirlinga ka itihas

चैतन्य भारत न्यूज  सावन के पावन महीने में भगवान शिव की आराधना की जाती है। इस महीने में भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग का पूजन करना बेहद शुभ माना जाता है। आज हम आपको दूसरे ज्योतिर्लिंग यानी मल्लिकार्जुन की विशेषता के बारे में बताएंगे। मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग का महत्व भगवान शिव के प्रमुख 12 ज्योतिर्लिंगों में मल्लिकार्जुन का स्थान दूसरा है। मल्लिकार्जुन दो शब्‍दों के मेल से बना है जिसमें ‘मल्लिका’ माता पार्वती का नाम है, जबकि ‘अर्जुन’ भगवान शंकर को कहा जाता है। इसलिए भगवान शिव को मल्लिकार्जुन के रूप…

जानिए भगवान शिव के प्रथम ज्योतिर्लिंग सोमनाथ का इतिहास और इसका महत्व

somnath mandir,somnath mandir ka mahatav,somnath mandir ki viseshta,somnath mandir par hamla, kese jaae somnath mandir,somnath mandir jane ka rasta,mahmud gajnavi,koun tha mahamud gajnavi

चैतन्य भारत न्यूज सावन के पावन महीने में भगवान शिव की आराधना की जाती है। इस महीने में भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग का पूजन करना बेहद शुभ माना जाता है। आज हम आपको सबसे पहले ज्योतिर्लिंग यानी सोमनाथ की विशेषता के बारे में बताएंगे। सोमनाथ ज्योतिर्लिंग का महत्व भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में सोमनाथ को सबसे पहला ज्योतिलिंग माना जाता है। सोमनाथ मंदिर विश्व प्रसिद्ध धार्मिक पर्यटन स्थल है। मान्यता है कि इनके दर्शन, पूजन, आराधना से भक्तों के जन्म-जन्मांतर के सारे पाप नष्ट हो जाते हैं। पौराणिक…

आज है सावन माह की पहली संकष्टी चतुर्थी, जानिए क्या है चंद्रोदय का समय

चैतन्य भारत न्यूज संकष्टी गणेश चतुर्थी का त्योहार हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है। इस दिन गणेश जी की अराधना की जाती है। कहा जाता है जो भी भक्त गणेश जी की पूजा सच्चे मन से करते हैं उनकी हर मनोकामना पूरी होती है। इस बार 8 जुलाई को संकष्टी गणेश चतुर्थी है। आइए जानते हैं संकष्टी गणेश चतुर्थी का महत्व और पूजा-विधि। संकष्टी गणेश चतुर्थी का महत्व भगवान गणेश को सभी देवताओं में सर्वप्रथम पूजनीय माना गया है। इसलिए हमारे शास्त्र में गणेश चतुर्थी की महिमा…

सावन महीने में भोलेनाथ को करना है प्रसन्न, तो करें इन सरल मंत्रों का जाप

shani pradosh vrat, shani pradosh vrat 2020, shani pradosh vrat ka mahatava

चैतन्य भारत न्यूज हिन्दू धर्म के अनुसार सावन का महीना सबसे पवित्र माना जाता है। यह माह भगवान शिव को अति प्रिय है। सावन के महीने में आने वाले सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा विशेष रूप से होती है। सावन महीने में भगवान शिव बेहद प्रसन्न रहते हैं। कहा जाता है कि इस महीने में जो भी भक्त पूरी श्रद्धा के साथ भगवान शिव की भक्ति करता है, उसकी हर मनोकामना पूरी हो जाती है। सावन में आने वाले सोमवार शिवभक्तों के लिए महत्वपूर्ण हैं। सावन महीने में…

सावन माह में 300 साल बाद ऐसा दुर्लभ संयोग, 2 शनि प्रदोष, सोमवती अमावस्या और सोमवार को रक्षाबंधन भी

चैतन्य भारत न्यूज उज्जैन. श्रावण/सावन माह भगवान शिव को अति प्रिय है। इस बार सावन माह में 300 साल बाद दुर्लभ संयोग में आ रहा है। उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में सोमवार यानी आज से शुरू हो रहा सावन माह 3 अगस्त को रक्षाबंधन पर उत्तराषाढ़ा नक्षत्र और सोमवार के दिन ही समाप्त होगा। इस बार सावन माह में 5 सोमवार, दो शनि प्रदोष और हरियाली सोमवती अमावस्या पड़ रही है जो दुर्लभ संयोग है। ज्योतिषियों के मुताबिक, सावन माह में ग्रह, नक्षत्र व तिथियों का ऐसा विशिष्ट संयोग बीती तीन सदी…