इस दिन मनाई जाएगी जन्माष्टमी, जानिए इसका महत्व और व्रत के नियम

janmashtami 2019,kab hai janmashtami,janmashtami ka mahatv,janmashtami vrat puja vidhi,janmashtami ka shubh muhurat,

चैतन्य भारत न्यूज जन्माष्टमी हिंदू धर्म का खास पर्व है जिसे बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था। इस साल देशभर में जन्माष्टमी 23 अगस्त को मनाई जाएगी या 24 अगस्त को इसको लेकर उलझन की स्थिति बनी हुई है। कहीं जन्माष्टमी 23 अगस्त की बताई जा रही है तो कहीं 24 अगस्त की। मान्‍यता के मुताबिक, भगवान श्रीकृष्‍ण का जन्‍म भाद्रपद यानी कि भादौ माह की कृष्‍ण पक्ष की अष्‍टमी को हुआ था, जो कि इस बार 23 अगस्त को पड़…

सोमवार और गणेश चतुर्थी व्रत का खास संयोग, इस विधि से पूजा करने पर बन जाएंगे बिगड़े काम

ganesh chaturthi,ganesh chaturthi ka mahtav,ganesh chaturthi vrat ki puja vidhi,ganesh chaturthi

चैतन्य भारत न्यूज 19 अगस्त सोमवार को यानी आज भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी है। इस तिथि को गणेश चतुर्थी व्रत कहते हैं। इस बार आने वाली गणेश चतुर्थी का महत्व और भी बढ़ गया है। दरअसल इस बार गणेश चतुर्थी सोमवार के दिन पड़ रही है। ऐसे में गणेशजी के साथ ही शिवजी की भी विशेष पूजा करनी चाहिए। माना जाता है कि जो भी भक्त गणेश चतुर्थी का व्रत करता है उसे सुख-समृद्धि, ज्ञान और बुद्धि की प्राप्ति होती है। आइए जानते हैं गणेश चुतर्थी की…

यहां पर भी है अमरनाथ जैसा ‘शिवलिंग’, खतरनाक रास्तों को पार करके गुफा के अंदर पहुंचते हैं श्रद्धालु

ice caves in the world, shivling like amarnath,werfen austria

चैतन्य भारत न्यूज भारत में होने वाली अमरनाथ यात्रा एक तीर्थ स्थल है जहां लाखों श्रद्धालु दर्शन और पूजा अर्चना के लिए आते हैं। यहां पर पवित्र गुफा में बर्फ से खुद ही प्राकृतिक शिवलिंग बन जाता है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे शिवलिंग के बारे में बताने जा रहे हैं जो हूबहू अमरनाथ के शिवलिंग की तरह ही है। इतना ही नहीं बल्कि अमरनाथ के शिवलिंग की तरह यहां भी दर्शन करने के लिए दुनियाभर से लोग आते हैं। बता दें ऑस्ट्रिया के सल्जबर्ग शहर के पास वरफेन…

महाकाल मंदिर की सुंदरता और श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए 300 करोड़ खर्च करेगी कमलनाथ सरकार

madhya pradesh,cm kamalnath, ujjain, mahakaal mandir,

चैतन्य भारत न्यूज उज्जैन में स्थित भगवान महाकाल के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए कमलनाथ सरकार ने 300 करोड़ रुपए की योजना बनाई है। बता दें मुख्यमंत्री कमलनाथ की अध्यक्षता में शनिवार को मंत्रालय में भगवान महाकाल मंदिर की व्यवस्थाओं में सुधार और सुविधाओं के विस्तार पर बैठक रखी गई थी। मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि भगवान महाकाल के कारण पूरे विश्व में मध्यप्रदेश की पहचान है। उन्होंने कहा कि श्रद्धालु सिर्फ दर्शन करने के लिए नहीं आए बल्कि उज्जैन में ऐसी व्यवस्थाएं हो जिसके…

आज फिर 40 सालों के लिए जल समाधि ले लेंगे भगवान अती वरदार, 1 करोड़ से ज्यादा भक्तों ने किए दर्शन

bhagwan athi varadar,tamilnadu

चैतन्य भारत न्यूज तमिलनाडु के सबसे पुराने शहरों में से एक कांचीपुरम में पिछले डेढ़ महीने से करीब 90 लाख लोग आ चुके हैं। इसका कारण भी बेहद खास है। दरअसल यहां जो भगवान हैं वह 40 सालों में एक बार कुछ दिनों के लिए भक्तों को दर्शन देने जल समाधि से बाहर आते हैं। इस मंदिर का नाम है वरदराजा स्वामी मंदिर। वरदराजा स्वामी मंदिर में भगवान विष्णु के अवतार अती वरदार की प्रतिमा को तालाब से 40 साल में एक बार निकाला जाता है। फिर प्रतिमा को 48…

आज से शुरू हुआ भाद्रपद, जानिए इस महीने क्या करें और क्या न करें

bhadrapad

चैतन्य भारत न्यूज आज से भाद्रपद महीने की शुरुआत हो चुकी है। इस महीने को भादौ के नाम से भी जाना जाता है। भाद्रपद का महीना 16 अगस्त से शुरू होकर 14 सितंबर तक चलेगा। भाद्रपद के महीने में पीले रंग के वस्त्र धारण करने चाहिए। कहते हैं कि इससे मन और शरीर की स्थिति उत्तम बनी रहती है। भाद्रपद का अर्थ होता है शुभ परिणाम देने वाले व्रतों का महीना। इस महीने में लोगों को कई व्रत, उपवास, नियम तथा निष्ठा का पालन करना पड़ता है। भाद्रपद महीने के…

वैज्ञानिकों ने भी माना सबसे शक्तिशाली होता महामृत्युंजय मंत्र, इसे जपने मात्र से टल जाती है अकाल मृत्यु

maha mrityunjaya mantra,maha mrityunjaya mantra ka mahatv,maha mrityunjaya mantra ke laabh,

चैतन्य भारत न्यूज महामृत्युंजय मंत्र भगवान शिव के प्रमुख मंत्रों में सबसे महत्वपूर्ण माना गया है। महामृत्युंजय मंत्र यानी मृत्यु पर विजय का मंत्र कहा जाता है। इसलिए भगवान शिव को मृत्यु का देवता भी कहते हैं। कहा जाता है कि मृत्यु अगर निकट आ जाए और आप महाकाल के महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने लगें तो यमराज की भी हिम्मत नहीं होती कि वह भगवान शिव के भक्त को अपने साथ ले जाए। इस मंत्र की शक्ति से जुड़ी कई कथाएं शास्त्रों और पुराणों में मिलती है। इसके अलावा…

आज है रक्षाबंधन, जानिए इस पर्व का महत्व और राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

raksha bandhan,raksha bandhan ka mahatv,raksha bandhan shubh muhurat,kis samay bandhe rakhi,raksha bandhan sate and time

चैतन्य भारत न्यूज हर भाई-बहन के लिए रक्षाबंधन का त्योहार बेहद खास होता है। रक्षाबंधन सिर्फ त्‍योहार नहीं बल्‍कि एक ऐसी भावना है जो रेशम की कच्‍ची डोरी के जरिए भाई-बहन के प्‍यार को हमेशा-हमेशा के लिए संजोकर रखती है। रक्षाबंधन हिन्‍दू धर्म के बड़े त्‍योहारों में से एक है। इस दिन राखी बांधकर बहनें अपने भाइयों की लंबी उम्र और सुख की कामना करती हैं। तो आइए जानते हैं रक्षाबंधन का महत्व और शुभ मुहूर्त। रक्षाबंधन का महत्व यह हिन्‍दू धर्म के सभी त्‍योहारों में से एक है। इस…

रक्षाबंधन 2019 : जानिए क्यों मनाते हैं रक्षाबंधन का त्योहार और कैसे हुई इसकी शुरुआत

raksha bandhan ki pauranik katha,raksha bandhan,raksha bandhan ka mahatv,raksha bandhan ki shuruaat,raksha bandhan date nad time,independence day,independence day 2019

चैतन्य भारत न्यूज इस बार 15 अगस्त को देशभर में रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाएगा। यह त्‍योहार भाई-बहन के अटूट रिश्‍ते, बेइंतहा प्‍यार, त्‍याग और समर्पण को दर्शाता है। भाई-बहन के प्रतीक रक्षाबंधन का त्योहार सदियों से मनाया जा रहा है और इससे जुड़े तमाम किस्से और कहानियां भी हैं। पौराणिक मान्‍यताओं के मुताबिक रक्षाबंधन मनाने के पीछे कई कथाएं प्रचलित हैं। श्रीकृष्‍ण-द्रौपदी की कथा भगवान श्री कृष्ण और द्रौपदी की कहानी भी काफी लोकप्रिय है। जब कृष्ण ने सुदर्शन चक्र से शिशुपाल का वध किया तब उनकी तर्जनी अंगुली…

सावन के अंतिम सोमवार को बन रहा है ये विशेष योग, इस विधि से पूजा कर भगवान शिव को करें प्रसन्न

sawan ka antim somvar,sawan ka antim somvar puja vidhi,bhagwan shiv,som pradosh vratsom pradosh vrat puja vidhi,

चैतन्य भारत न्यूज 12 अगस्त यानी आज सावन का अंतिम सोमवार है। आज के दिन सोम प्रदोष व्रत भी है। मान्यता है कि सावन के अंतिम सोमवार को शिव-पार्वती साथ-साथ पृथ्वी पर विचरण करते हैं। कहा जाता है कि इस दिन रुद्राभिषेक करने से सारे मनोरथ सफल होंगे। इस साल सावन में कुल चार सोमवार हुए जिनमें बीते तीन सोमवार कई महत्वपूर्ण योग के साथ आए थे। ठीक इसी तरह सावन का अंतिम सोमवार भी एक विशेष संयोग के साथ समाप्त हो रहा है। दरअसल इस दिन त्रयोदशी तिथि होने…