खजराना गणेश मंदिर में मन्नत पूरी करने के लिए शास्त्रों के विपरीत काम करते हैं भक्त, 3 करोड़ का सोना पहनते हैं भगवान

khajrana ganesh mandir

चैतन्य भारत न्यूज गणेश चतुर्थी की शुरुआत हो चुकी हैं। इस मौके पर हम आपको रोजाना भगवान गणेश के विश्वभर में प्रसिद्द कुछ खास मंदिरों के बारे में बताएंगे। इस कड़ी में हम आपको आज खजराना गणेश मंदिर के बारे में बता रहे हैं जो मध्य प्रदेश के इंदौर में स्थित है। यह मंदिर दुनियाभर के सबसे प्रसिद्द गणेश मंदिरों में से एक है। इस प्राचीन मंदिर का निर्माण अहिल्या बाई होल्कर ने कराया था। खजराना गणेश मंदिर में गणपति जी केवल सिंदूर से स्थापित किए गए हैं। मान्यता है…

सुदामा के इस श्राप के कारण बिछड़ गए थे राधा-कृष्ण, कृष्ण से 100 साल तक राधा के दूर रहने की ये थी वजह

चैतन्य भारत न्यूज राधा-कृष्ण का प्रेम जितना चंचल और निर्मल रहा उतना ही यह जटिल और निर्मम भी है। सदियों से भले ही कृष्ण के साथ राधा का नाम लिया जाता रहा है, लेकिन प्रेम की ये कहानी कभी पूरी नहीं हो पाई। राधा अष्टमी के इस खास दिन हम आपको राधा-कृष्ण की प्रेम कहानी के बारे में बता रहे हैं- आखिर क्यों शादी के बंधन में नहीं बंध सके राधा-कृष्ण आज भी ये सवाल लोगों के मन में आता है कि राधा और कृष्ण का प्रेम कभी शादी के…

इस शहर के राजा है प्रभु श्रीराम, कलेक्टर-SP सब करते हैं रिपोर्ट, गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया जाता है

ram mandir orcha

चैतन्य भारत न्यूज ओरछा. अयोध्या रामजन्म भूमि पूजन 5 अगस्त को होने वाला है। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए मेहमानों का आने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर की आधारशिला रखेंगे। न सिर्फ अयोध्या बल्कि ओरछा में बने प्रभु श्री राम के मंदिर की भी विशेष मान्यता है। इस जगह श्री राम को भगवान नहीं माना जाता है। आइए जानते हैं इसके पीछे का कारण? ओरछावासी प्रभु श्री राम को भगवान नहीं बल्कि वहां के राजा मानते हैं। शुरुआत से ही यहां…

आखिर क्यों बदरीनाथ मंदिर में नहीं बजाया जाता है शंख? जानें इसके पीछे की रहस्यमयी कहानी

badrinath dham shankh

चैतन्य भारत न्यूज हिंदू धर्म के सबसे पवित्र चार धामों में से एक बदरीनाथ धाम में भगवान विष्णु विराजमान हैं। पूजा के पहले वैसे तो आमतौर पर सभी मंदिरों में शंख जरूर बजता है लेकिन बदरीनाथ ऐसा अकेला मंदिर है जहां शंख नहीं बजाया जाता है। इसके पीछे एक पौराणिक और रहस्यमयी कहानी छुपी हुई है। क्या है कहानी? इस मंदिर में शंख नहीं बजाने के पीछे ऐसी मान्यता है कि एक समय में हिमालय क्षेत्र में दानवों का बड़ा आतंक था। वो इतना उत्पात मचाते थे कि ऋषि मुनि…

कोरोना ने तोड़ी हजारों साल पुरानी परंपरा, इस साल गोवर्धन में नहीं लगेगा करोड़ी मेला

चैतन्य भारत न्यूज कोरोना वायरस के चलते कई ऐसी परंपराएं हैं जिन्हें तोड़ना पड़ रहा है। इस बार मथुरा के प्रमुख तीर्थ स्थल गोवर्धन में हजारों साल पुरानी परंपरा टूट जाएगी। इस महामारी के चलते गोवर्धन में लगने वाले करोड़ी मेले का आयोजन नहीं होगा। करोड़ों लोग लगाते हैं परिक्रमा हर साल आषाढ़ शुक्ल पक्ष माह की पूर्णिमा को गोवर्धन में गुरु पूर्णिमा मेले का आयोजन किया जाता है। यह मेला पुलिस व प्रशासन की देख-रेख में लगता है। इस मेले में 5 दिन के अंदर 1 करोड़ से ज्यादा…

आखिर क्यों हर साल बीमार हो जाते हैं भगवान जगन्नाथ? इस चमत्कारी काढ़े ने किया स्वस्थ

चैतन्य भारत न्यूज करीब 15 दिन की अस्वस्थता के बाद भगवान जगन्नाथ, प्रभु बलभद्र एवं देवी सुभद्रा पूरी तरह से स्वस्थ हो गए हैं। प्रभु के स्वस्थ होने की जानकारी आज गजपति महाराज दिव्य सिंहदेव को दी गई है। इस वजह से हुए थे बीमार बता दें कि भगवान जगन्नाथ स्नान पूर्णिमा के दिन 108 घड़े जल से स्नान करने के बाद बीमार हो गए थे। दरअसल, इस पूर्णिमा पर देव स्नान कराने के दौरान भगवान जगन्नाथ को लू लगने की परंपरा है। ऐसे में उनके स्वास्थ्य में सुधार के…

काशी के काल भैरव मंदिर में होगा कोरोना का इलाज, मिल रहा ‘कोरोना नाशक तेल’

kashi kal bhairav mandir

चैतन्य भारत न्यूज वाराणसी. दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए कई देशों के वैज्ञानिक इसकी वैक्सीन और दवा बनाने में जुटे हुए हैं। इसी बीच यह खबर सामने आई है कि उत्तर प्रदेश के वाराणसी में स्थित प्रसिद्ध काल भैरव मंदिर में अब कोरोनोवायरस का इलाज किया जाएगा। 8 जून से देशभर में कई धार्मिक स्थानों को खोल दिया गया है। वाराणसी का काल भैरव मंदिर भी खुल गया है। बता दें काल भैरव मंदिर को काशी के कोतवाल के रूप में जाना जाता है। ऐसी…

शनि जयंती: चौथी शताब्दी से रोम में हो रही शनि भगवान की पूजा, वहां कृषि के देवता माने गए हैं शनिदेव

चैतन्य भारत न्यूज सूर्य पुत्र शनि भगवान की आज जयंती है। शनि नौ ग्रहों में से एक हैं। भारत में कई शनि मंदिर है जहां भक्तों का तांता लगा रहता है लेकिन सबसे पुरानी सभ्यताओं में से एक रोम में भी शनि भगवान को वैसे ही पूजा जाता है। आज भी रोम में चौथी शताब्दी का एक शनि मंदिर है। यहां शनि भगवान को कृषि का देवता माना जाता है। शनि को माना जाता था रोमन देवता रोम के शनि मंदिर के मुख्य हिस्से में उस काल के 8 विशाल…

रामजन्मभूमि परिसर में समतलीकरण के दौरान मिलीं प्राचीन देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां और शिवलिंग

ayodhya ram mandir

चैतन्य भारत न्यूज अयोध्या. कोरोना संकट के बीच लॉकडाउन के चौथे चरण की शुरुआत होने के साथ ही अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण का कार्य भी तेज कर दिया गया है। भव्य राममंदिर निर्माण के लिए समतलीकरण का कार्य जारी है। इसी दौरान की जा रही खुदाई में मंदिर के कुछ ऐतिहासिक अवशेष मिले हैं। रामजन्मभूमि परिसर के पुराने गर्भगृह स्थल के समतलीकरण का कार्य श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की देखरेख में 11 मई से चल रहा है। परिसर में मंदिर निर्माण की तैयारियां व ट्रेंचों को भरने, समतलीकरण…

आज ही के दिन अस्तित्व में आए थे महाराष्ट्र और गुजरात, जानिए इनके गठन की कहानी

maharashtra day,gujarat day

चैतन्य भारत न्यूज  महाराष्ट्र और गुजरात का स्थापना दिवस 1 मई को मनाया जाता है। भारत की आजादी के समय दोनों राज्यों के ज्यादातर हिस्से मुंबई (तत्कालीन बंबई) राज्य के अंग थे। जब बंबई से महाराष्ट्र और गुजरात के गठन का प्रस्ताव आया तो तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने बंबई को अलग केंद्र शासित प्रदेश बनाने की बात कही थी। उनका तर्क था कि अगर मुंबई को देश की आर्थिक राजधानी बने रहना है तो यह करना आवश्यक है। स्वतंत्रता के बाद करीब 600 रियासतों में बंटे भारत में राज्यों का…