कोरोना ने तोड़ी हजारों साल पुरानी परंपरा, इस साल गोवर्धन में नहीं लगेगा करोड़ी मेला

चैतन्य भारत न्यूज कोरोना वायरस के चलते कई ऐसी परंपराएं हैं जिन्हें तोड़ना पड़ रहा है। इस बार मथुरा के प्रमुख तीर्थ स्थल गोवर्धन में हजारों साल पुरानी परंपरा टूट जाएगी। इस महामारी के चलते गोवर्धन में लगने वाले करोड़ी मेले का आयोजन नहीं होगा। करोड़ों लोग लगाते हैं परिक्रमा हर साल आषाढ़ शुक्ल पक्ष माह की पूर्णिमा को गोवर्धन में गुरु पूर्णिमा मेले का आयोजन किया जाता है। यह मेला पुलिस व प्रशासन की देख-रेख में लगता है। इस मेले में 5 दिन के अंदर 1 करोड़ से ज्यादा…

आखिर क्यों हर साल बीमार हो जाते हैं भगवान जगन्नाथ? इस चमत्कारी काढ़े ने किया स्वस्थ

चैतन्य भारत न्यूज करीब 15 दिन की अस्वस्थता के बाद भगवान जगन्नाथ, प्रभु बलभद्र एवं देवी सुभद्रा पूरी तरह से स्वस्थ हो गए हैं। प्रभु के स्वस्थ होने की जानकारी आज गजपति महाराज दिव्य सिंहदेव को दी गई है। इस वजह से हुए थे बीमार बता दें कि भगवान जगन्नाथ स्नान पूर्णिमा के दिन 108 घड़े जल से स्नान करने के बाद बीमार हो गए थे। दरअसल, इस पूर्णिमा पर देव स्नान कराने के दौरान भगवान जगन्नाथ को लू लगने की परंपरा है। ऐसे में उनके स्वास्थ्य में सुधार के…

काशी के काल भैरव मंदिर में होगा कोरोना का इलाज, मिल रहा ‘कोरोना नाशक तेल’

kashi kal bhairav mandir

चैतन्य भारत न्यूज वाराणसी. दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए कई देशों के वैज्ञानिक इसकी वैक्सीन और दवा बनाने में जुटे हुए हैं। इसी बीच यह खबर सामने आई है कि उत्तर प्रदेश के वाराणसी में स्थित प्रसिद्ध काल भैरव मंदिर में अब कोरोनोवायरस का इलाज किया जाएगा। 8 जून से देशभर में कई धार्मिक स्थानों को खोल दिया गया है। वाराणसी का काल भैरव मंदिर भी खुल गया है। बता दें काल भैरव मंदिर को काशी के कोतवाल के रूप में जाना जाता है। ऐसी…

शनि जयंती: चौथी शताब्दी से रोम में हो रही शनि भगवान की पूजा, वहां कृषि के देवता माने गए हैं शनिदेव

चैतन्य भारत न्यूज सूर्य पुत्र शनि भगवान की आज जयंती है। शनि नौ ग्रहों में से एक हैं। भारत में कई शनि मंदिर है जहां भक्तों का तांता लगा रहता है लेकिन सबसे पुरानी सभ्यताओं में से एक रोम में भी शनि भगवान को वैसे ही पूजा जाता है। आज भी रोम में चौथी शताब्दी का एक शनि मंदिर है। यहां शनि भगवान को कृषि का देवता माना जाता है। शनि को माना जाता था रोमन देवता रोम के शनि मंदिर के मुख्य हिस्से में उस काल के 8 विशाल…

रामजन्मभूमि परिसर में समतलीकरण के दौरान मिलीं प्राचीन देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां और शिवलिंग

ayodhya ram mandir

चैतन्य भारत न्यूज अयोध्या. कोरोना संकट के बीच लॉकडाउन के चौथे चरण की शुरुआत होने के साथ ही अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण का कार्य भी तेज कर दिया गया है। भव्य राममंदिर निर्माण के लिए समतलीकरण का कार्य जारी है। इसी दौरान की जा रही खुदाई में मंदिर के कुछ ऐतिहासिक अवशेष मिले हैं। रामजन्मभूमि परिसर के पुराने गर्भगृह स्थल के समतलीकरण का कार्य श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की देखरेख में 11 मई से चल रहा है। परिसर में मंदिर निर्माण की तैयारियां व ट्रेंचों को भरने, समतलीकरण…

आज ही के दिन अस्तित्व में आए थे महाराष्ट्र और गुजरात, जानिए इनके गठन की कहानी

maharashtra day,gujarat day

चैतन्य भारत न्यूज  महाराष्ट्र और गुजरात का स्थापना दिवस 1 मई को मनाया जाता है। भारत की आजादी के समय दोनों राज्यों के ज्यादातर हिस्से मुंबई (तत्कालीन बंबई) राज्य के अंग थे। जब बंबई से महाराष्ट्र और गुजरात के गठन का प्रस्ताव आया तो तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने बंबई को अलग केंद्र शासित प्रदेश बनाने की बात कही थी। उनका तर्क था कि अगर मुंबई को देश की आर्थिक राजधानी बने रहना है तो यह करना आवश्यक है। स्वतंत्रता के बाद करीब 600 रियासतों में बंटे भारत में राज्यों का…

6 माह के लिए खुले बाबा केदारनाथ धाम के कपाट, नर-नारायण की भक्ति से प्रसन्न होकर यहां प्रकट हुए थे भोलेनाथ

kedarnath

चैतन्य भारत न्यूज विश्व प्रसिद्ध भगवान केदारनाथ धाम के कपाट विधि विधान और पूजा-अर्चना के बाद खुल गए हैं। बुधवार को मेंष लग्न, पुनर्वसु नक्षत्र में प्रातः 06 बजकर 10 मिनट पर विधि-विधान पूर्वक बाबा केदार के कपाट खुले। केदारनाथ यात्रा के इतिहास में यह पहला मौका है जब मंदिर के कपाट खुलने के अवसर पर मंदिर परिसर पूरी तरह खाली रहा। हर वर्ष कपाट खुलने के दौरान हजारों की संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहते हैं लेकिन इस बार कोरोना वायरस लॉकडाउन के कारण कपाट खुलने के दौरान महज 15-16…

आदिशंकराचार्य जयंती: जगद्गुरु शंकराचार्य जिन्होंने हिंदू धर्म को दी एक नई चेतना, 8 वर्ष की उम्र में ले लिया था संन्यास

shankaracharya

चैतन्य भारत न्यूज वैशाख शुक्ल पंचमी बेहद भाग्यशाली तिथि है। इसी दिन हिंदू धर्म की ध्वजा को देश के चारों कौनों तक पहुंचाने वाले, अद्वैत वेदांत के मत को शास्त्रार्थ द्वारा देश के हर कौने में सिद्ध करने वाले, भगवान शिव के अवतार माने जाने वाले आदि शंकराचार्य ने जन्म लिया था। आदि गुरु शंकराचार्य के जन्म दिवस को आदि शंकराचार्य जयंती के रूप में मनाया जाता है। इस बार वैशाख शुक्ल पंचमी अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार वर्ष 2020 में 28 अप्रैल को है। शंकाराचार्य जयंती के अवसर पर आइए…

जन्मदिन विशेष: जिनकी याद में बनवाया गया था ताजमहल, उन्हीं मुमताज महल की 14वें बच्चे को जन्म देने के दौरान हो गई थी मौत

चैतन्य भारत न्यूज शाहजहां की बेगम मुमताज महल का जन्म 27 अप्रैल 1593 को आगरा में हुआ था। मुमताज महल का असली नाम अर्जुमंद बानो था। मुमताज महल की जयंती विशेष पर जानते हैं उनके बारे में कुछ खास बातें- शाहजहां और मुमताज की मुलाकात सबसे पहले मीना बाजार में हुई थी। बाजार में मुमताज कुछ सिल्क का सामान बेच रही थी। मुमताज की खूबसूरती शाहजहां के दिलो-दिमाग में इस कदर बस गई कि वो मुमताज का पीछा करने लगे। कुछ समय बाद शाहजहां को पता चला कि जिस लड़की…

जलियांवाला बाग हत्याकांड : 101 साल पहले जब डायर ने गोलियां चलवाकर हजारों जिंदगियों को कर दिया था खामोश

jalian wala bhag,jalian wala bhag hatyakand

टीम चैतन्य भारत भारत के इतिहास में 13 अप्रैल का दिन एक दुखद घटना के रूप में दर्ज है। 101 साल पहले यानी 13 अप्रैल 1919 को जनरल डायर के आदेश पर बंदूकधारियों ने बैसाखी का उत्सव मनाने जुटी भीड़ पर ताबड़तोड़ गोलीबारी कर दी थी। इस हत्याकांड में कई बेकसूर लोगों को जान चली गई थी। जालियांवाल बाग हत्याकांड के 100 साल पूरे होने पर ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा का भी बयान आया था। टेरेसा ने जलियांवाला बाग नरसंहार पर दुख जताया था और इसे इतिहास का शर्मनाक धब्बा…