आज है साल 2020 का पहला चंद्रग्रहण, बरतें ये सावधानियां

chandra grahan,chandra grahan 2020,

चैतन्य भारत न्यूज साल 2020 का पहला चंद्रग्रहण 10 जनवरी को यानी आज है। यह चंद्रग्रहण रात को 10 बजकर 39 मिनट पर लगेगा, जो 11 जनवरी की रात 2 बजकर 40 मिनट पर समाप्त होगा। ग्रहण की कुल अवधि 4 घंटे से भी अधिक रहेगी। यह ग्रहण भारत सहित एशिया के अन्य देशों, यूरोप, अफ्रीका, एशिया, ऑस्ट्रेलिया महाद्वीप में दिखाई देगा। चंद्रग्रहण में कुछ सावधानियां बरतने की सलाह दी जाती है जो इस प्रकार है। ग्रहण को कैसे देख सकते हैं चंद्रग्रहण को देखने के लिए आपको किसी भी…

10 जनवरी को है साल का पहला चंद्रग्रहण, भारत समेत इन जगहों पर दिखाई देगा नजारा

chandra grahan 2020, chandra grahan 2020 effect

चैतन्य भारत न्यूज साल 2020 का पहला चंद्रग्रहण 10 जनवरी शुक्रवार को पौष शुक्ल पूर्णिमा पर लग रहा है। यह चंद्रग्रहण 10 जनवरी की रात 10 बजकर 38 मिनट से शुरू होकर रात के 2 बजकर 42 मिनट तक चलेगा। यह चंद्रग्रहण मांद्य चंद्रग्रहण होगा। आइए जानते हैं क्या होता है मांद्य चंद्रग्रहण, ग्रहण का सूतक काल और कहां-कहां दिखाई देगा यह ग्रहण। क्या होता है मांद्य चंद्रग्रहण मांद्य का अर्थ है न्यूनतम यानी मंद होने की क्रिया। इसलिए इस चंद्रग्रहण को लेकर सूतक नहीं रहेगा। इसका किसी भी तरह…

भारत में दिखा सूर्य ग्रहण का अद्भुत नजारा, नासा ने जारी की चेतावनी

solar eclipse chaitanyabharat

चैतन्य भारत न्यूज साल 2019 के आखिरी सूर्यग्रहण की शुरुआत हो चुकी है। सुबह करीब 8 बजे शुरू हुए इस ग्रहण का असर दोपहर डेढ़ बजे तक रहेगा। ऐसे में सूर्य ग्रहण को लेकर अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने चेतावनी जारी की है। नासा ने लोगों को सूर्य ग्रहण के दौरान सावधानी बरतने की सलाह दी है। इसके साथ ही सूर्य ग्रहण की तस्वीरें लेते वक्त भी सोलर फिल्टर्स का इस्तेमाल करने का सुझाव दिया गया है। नासा के मुताबिक, यह ग्रहण खूबसूरत होने के साथ-साथ खतरनाक भी होगा। रिंग…

आज है साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, जानिए क्या होता है ग्रहण और इसे देखने के नियम

surya grahan 2019,

चैतन्य भारत न्यूज 26 दिसंबर को साल 2019 का आखिरी सूर्य ग्रहण लगने जा रहा है। ये वलयाकार सूर्य ग्रहण होगा, जिसमें सूर्य एक आग की अंगूठी की तरह नजर आएगा। भारतीय समयानुसार यह ग्रहण सुबह 8 बजकर 17 मिनट से शुरू होकर 10 बजकर 57 मिनट तक रहेगा। ग्रहण के दौरान मंदिरों के कपाट बंद रहेंगे। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, लगभग तीन सदी के बाद ऐसा सूर्य ग्रहण है, जिसका अशुभ से ज्यादा शुभ असर देखने को मिल सकता है। आइए जानते हैं क्या होता है सूर्य ग्रहण और इसे…

26 दिसंबर को है साल का आखिरी सूर्यग्रहण, 12 घंटे पहले शुरू हो जाएगा सूतक काल

surya grahan,surya grahan 2019

चैतन्य भारत न्यूज साल 2019 का आखिरी सूर्यग्रहण 26 दिसंबर को है। भारतीय समयानुसार यह ग्रहण सुबह 8 बजकर 17 मिनट से शुरू होकर 10 बजकर 57 मिनट तक प्रभावी रहेगा। इस बार यह दुर्लभ ग्रह-स्थिति में हो रहा है। वृद्धि योग और मूल नक्षत्र में हो रहे इस ग्रहण के दौरान गुरुवार और अमावस्या का संयोग बन रहा है। साल का तीसरा सूर्यग्रहण शास्त्रों के मुताबिक, यह साल का अंतिम और तीसरा सूर्यग्रहण है। लेकिन पूर्ण सूर्यग्रहण के रूप में यह साल का पहला ग्रहण होगा। इससे पहले इस…

मंत्र जाप करते समय करें इन नियमों का पालन, तभी मिलेगा पूरा फल

mantras,mantra jaap ke niyam,

चैतन्य भारत न्यूज हिंदू धर्म में मंत्रों का विशेष महत्व है। मंत्रों के जाप का फल तभी मिलता है, जब उससे संबंधित नियमों का पूरी तरह के पालन किया जाए। कहते हैं कि मंत्रो के  नियमों का पालन करेंगे तो घर में न केवल सुख-शांति आएगी, बल्कि आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। आइए जानते हैं मंत्रों का नियम। मंत्र के प्रकार वाचिक जप- वाणी द्वारा सस्वर मंत्र का उच्चारण करना वाचिक जप की श्रेणी में आता है। उपांशु जप- भगवान के ध्यान में मन लगाकर, जुबान और होंठों को कुछ…

अहंकारी रावण के ये हैं वो 5 योगदान, जिन्हें बनाया गया धर्मशास्त्र का हिस्सा

ravan

चैतन्य भारत न्यूज लंकापति रावण को सिर्फ उसके अहंकार और बुराइयों ने नष्ट कर दिया, वरना रावण जितना ज्ञानी और कोई नहीं था। रावण की बुराइयों के चलते उसे पूरी दुनिया नकारात्मक छवि से देखती है। लेकिन आपको बता दें कि रावण एक विद्वान और प्रकांड पंडित था और उसने धर्मशास्त्र को भी बहुत कुछ दिया हैं। आइए जानते हैं रावण के वो 5 योगदान के बारे में, जो धर्मशास्त्र का हिस्सा बने। शिव तांडव स्त्रोत लिखा था पौराणिक कथाओं के मुताबिक, एक बार तो रावण इतना ज्यादा अहंकारी बन…

इस शिव मंदिर में हजारों लीटर जल चढ़ाने के बावजूद बाहर नहीं आता जल, दिन में तीन बार रंग बदलते हैं महादेव

samujheshwar mahadev

चैतन्य भारत न्यूज देशभर में भगवान शंकर के कई ऐसे मंदिर हैं जो अपने आप में चमत्कारी है। हम आपको आज एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बता रहे हैं जो राजस्थान के जोधपुर के धुंधाड़ा कस्बे में स्थित है। इस मंदिर का नाम है समुझेश्वर महादेव जहां हजारों लीटर जल चढ़ाने के बाद भी जल बाहर नहीं आता है। साथ ही यह शिवलिंग दिन में तीन बार अपना रंग बदलता है। इस रहस्यमयी मंदिर में 5 घंटों तक भगवान शिव के पास बैठा रहता है सांप ग्रामीणों का…

नागपंचमी 2019 : सांपों को दूध पिलाने से हो सकती है उनकी मौत…

nagpanchmi,nagpanchmi, 2019

चैतन्य भारत न्यूज आज नागपंचमी है और इस मौके पर देशभर में नाग देवता की पूजा की जाएगी। घरों और मंदिरों में सांपों को दूध आदि चढ़ाया जाएगा। सपेरे भी पिटारों में सांप लिए घर-घर जाकर लोगों को नाग देवता के दर्शन कराएंगे। साथ ही उन्हें दूध पिलाने के नाम पर दक्षिणा लेंगे। लेकिन सांपों का अध्ययन करने वाले विशेषज्ञों का मानना है कि सांप को दूध पिलाना उनके हित में कतई नहीं है। दूध पिलाने से हो सकती है मौत जीव कल्याण एवं शिक्षा समिति के संयोजकों का कहना…

दुनिया का पहला पायलट था रावण, श्रीलंका का दावा- साबित करेंगे 5 हजार साल पहले कैसे भरी थी उड़ान

ravana first pilot,ravana

चैतन्य भारत न्यूज कोलंबो. श्रीलंका ने यह दावा किया है कि रावण दुनिया का पहला पायलट था। उसने पांच हजार साल पहले भारत के लिए उड़ान भरी थी और वह सकुशल लौटकर भी आया है। श्रीलंका के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने प्राचीन काल में रावण द्वारा उड़ान भरने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले तरीकों को समझने के लिए पहल शुरू की है। श्रीलंका के काटुनायके में नागरिक उड्डयन विशेषज्ञों, इतिहासकारों, पुरातत्वविदों, वैज्ञानिकों और भूवैज्ञानिकों का एक सम्मेलन आयोजित हुआ था। श्रीलंका का सबसे बड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बंदरानाइक पर…