इस अनोखे मंदिर में भगवान जगन्नाथ स्वयं ही देते हैं मानसून आने की सूचना, मंदिर के गुंबद से टपकी बूंदें

चैतन्य भारत न्यूज कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर से करीब 50 किलोमीटर दूर घाटमपुर तहसील में स्थित बेहटा बुजुर्ग गांव में एक अदभुत मंदिर है, जो मानसून की सटीक भविष्यवाणी के लिए देश व प्रदेश में विख्यात है। इस प्राचीन जगन्नाथ मंदिर के गुंबद में लगे मानसूनी पत्थर से पानी की बूंदे टपकनी शुरू हो गई हैं। विशेष धार्मिक, ऐतिहासिक और भौगोलिक तथ्यों से परिपूर्ण यह मंदिर 21वीं सदी के विज्ञान के लिए बड़ी चुनौती है। चिलचिलाती धूम में तीन दिन पहले जब मंदिर की छत से पानी की…

भगवान जगन्नाथ को भी हर वर्ष 14 दिन के लिए किया जाता है क्वारेंटाइन, आज से नहीं बल्कि सदियों से है क्वारेंटाइन प्रथा

चैतन्य भारत न्यूज कोरोनावायरस महामारी का संक्रमण से पूरी दुनिया जूझ रही है। अमेरिका, फ्रांस, रूस, भारत, ब्राजील, तुर्की, ब्रिटेन समेत कई देशों की स्थिति चिंताजनक हो गई है। दुनिया में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा करीब 16 करोड़ तक पहुंच गया है। ऐसे में दुनिया क्वारेंटाइन यानी कुछ समय के लिए सबसे अलग रहने का तरीका अपना रही है जिससे कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण को रोका जाए। सदियों से अपनाया जा रहा क्वारेंटाइन का तरीका बता दें क्वारेंटाइन शब्द इटली के क्वारंटा जिओनी से बना है।…

महाशिवरात्रि 2021: इस शिव मंदिर में हजारों लीटर जल चढ़ाने के बावजूद बाहर नहीं आता जल, दिन में तीन बार रंग बदलते हैं महादेव

samujheshwar mahadev

चैतन्य भारत न्यूज देशभर में भगवान शंकर के कई ऐसे मंदिर हैं जो अपने आप में चमत्कारी है। हम आपको आज एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बता रहे हैं जो राजस्थान के जोधपुर के धुंधाड़ा कस्बे में स्थित है। इस मंदिर का नाम है समुझेश्वर महादेव जहां हजारों लीटर जल चढ़ाने के बाद भी जल बाहर नहीं आता है। साथ ही यह शिवलिंग दिन में तीन बार अपना रंग बदलता है। इस रहस्यमयी मंदिर में 5 घंटों तक भगवान शिव के पास बैठा रहता है सांप ग्रामीणों का…

साल के आखिरी सूर्यग्रहण पर बना ये खास संयोग, जानें कब और कहां लगेगा सूतक

surya grahan

चैतन्य भारत न्यूज कब लगेगा सूर्यग्रहण? साल 2020 का आखिरी सूर्यग्रहण 14 दिसंबर 2020 को शाम 7 बजकर 4 मिनट से मध्य रात्रि रात 12 बजकर 23 मिनट तक (भारतीय समयानुसार) लगने वाला है। ज्योतिशास्त्र के मुताबिक, ग्रहण का मध्य रात्रि 09 बजकर 39 मिनट पर और खग्रास की समाप्ति 11 बजकर 34 मिनट पर होगा जबकि मध्य रात्रि 12 बजकर 23 मिनट पर ग्रहण समाप्त हो जाएगा। बता दें, भारत में यह ग्रहण दिखाई नहीं देगा। भारत में इस ग्रहण को खंडग्रास माना जा रहा है। खंडग्रास सूर्य ग्रहण…

आज से सूर्य कर रहा है ज्येष्ठा नक्षत्र में प्रवेश, अपने नाम के पहले अक्षर से जानिए क्या होगा आपके जीवन पर असर

चैतन्य भारत न्यूज मार्गशीर्ष कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि और बुधवार का दिन है। द्वितीया तिथि शाम 6 बजकर 23 मिनट तक रहेगी। आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार 2 दिसंबर शाम 6 बजकर 34 मिनट पर सूर्यदेव ज्येष्ठा नक्षत्र में जायेंगे और 15 दिसंबर को रात 9 बजकर 32 मिनट तक सूर्यदेव यहीं पर रहेंगे। सूर्यदेव के ज्येष्ठा नक्षत्र में जाने से अलग-अलग राशि और नक्षत्र वालों को अलग-अलग फल प्राप्त होंगे। तो किस नक्षत्र और किस नाम वाले लोगों को सूर्यदेव के ज्येष्ठा नक्षत्र में इस गमन से क्या…

चंद्र ग्रहण आज, जानिए क्यों और कैसे लगता है उपच्छाया चंद्र ग्रहण, भारत में इसका क्या होगा असर

चैतन्य भारत न्यूज 30 नवंबर 2020 का साल का आखिरी चंद्र ग्रहण लगने वाला है। यह ग्रहण वास्तविक चंद्र ग्रहण ना होकर एक उपछाया चंद्र ग्रहण होगा। यह ग्रहण बाकी चंद्रग्रहण से अलग होगा। उपछाया चंद्रग्रहण के दौरान धर्मकर्म से जुड़ी कोई पाबंदी नहीं होगी। यानी इस बार के चंद्रग्रहण में आपकी दिनचर्या एकदम सामान्य रहने वाली है। हालांकि, ग्रहण के दौरान थोड़ी बहुत सावधानियां रखनी चाहिए। आइए जानते हैं कि यह चंद्र ग्रहण कब और कहां दिखाई देगा और भारत में इसका कितना असर होगा। कहां दिखेगा चंद्र ग्रहण?…

कल है साल 2020 का आखिरी चंद्रग्रहण, जरूर बरतें ये सावधानियां

chandra grahan,chandra grahan 2020,

चैतन्य भारत न्यूज साल 2020 का आखिरी चंद्रग्रहण 30 नवंबर को है। कार्तिक मास की पूर्णिमा तिथि को पड़ने वाला यह ग्रहण कुल 04 घंटे 18 मिनट 11 सेकंड तक रहेगा। जबकि, 3:13 मिनट पर यह अपने चरम पर होगा। यह चंद्र ग्रहण भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, प्रशांत महासागर और एशिया में दिखाई दे सकता है। चंद्रग्रहण में कुछ सावधानियां बरतने की सलाह दी जाती है जो इस प्रकार है। ग्रहण को कैसे देख सकते हैं चंद्रग्रहण को देखने के लिए आपको किसी भी विशेष प्रकार की सावधानी बरतने की जरूरत…

Blue Moon 2020 : आज रात दुनिया को होगा ‘ब्लू मून’ का दीदार, जानें क्‍यों है यह इतना खास और इसका धार्मिक-वैज्ञानिक महत्व

चैतन्य भारत न्यूज नई दिल्ली. आज आसमान में एक दुर्लभ ‘ब्लू मून’ का नजारा दिखाई देगा। खगोल वैज्ञानिकों का कहना है कि 31 अक्टूबर की रात कोई भी टेलीस्कोप की मदद से ब्लू मून को देख सकता है। खगोल विज्ञानी अध्ययन के लिए इस घटना को लेकर उत्सुक हैं। क्या नीले रंग का दिखता है चांद? ब्लू मून का दीदार आज रात 8:19 बजे के करीब हो सकेगा। ‘ब्लू मून’ की खगोलीय घटना बेहद दुर्लभ होती है। भले ही इस घटना को ‘ब्लू मून’ नाम दिया गया हो लेकिन ऐसा…

अहंकारी रावण के ये हैं वो 5 योगदान, जिन्हें बनाया गया धर्मशास्त्र का हिस्सा

ravan

चैतन्य भारत न्यूज लंकापति रावण को सिर्फ उसके अहंकार और बुराइयों ने नष्ट कर दिया, वरना रावण जितना ज्ञानी और कोई नहीं था। रावण की बुराइयों के चलते उसे पूरी दुनिया नकारात्मक छवि से देखती है। लेकिन आपको बता दें कि रावण एक विद्वान और प्रकांड पंडित था और उसने धर्मशास्त्र को भी बहुत कुछ दिया हैं। आइए जानते हैं रावण के वो 5 योगदान के बारे में, जो धर्मशास्त्र का हिस्सा बने। शिव तांडव स्त्रोत लिखा था पौराणिक कथाओं के मुताबिक, एक बार तो रावण इतना ज्यादा अहंकारी बन…

नागपंचमी 2020 : सांपों को दूध पिलाने से हो सकती है उनकी मौत…

nagpanchmi,nagpanchmi, 2019

चैतन्य भारत न्यूज 25 जुलाई यानी शनिवार को नागपंचमी है और इस मौके पर देशभर में नाग देवता की पूजा की जाएगी। घरों और मंदिरों में सांपों को दूध आदि चढ़ाया जाएगा। सपेरे भी पिटारों में सांप लिए घर-घर जाकर लोगों को नाग देवता के दर्शन कराएंगे। साथ ही उन्हें दूध पिलाने के नाम पर दक्षिणा लेंगे। लेकिन सांपों का अध्ययन करने वाले विशेषज्ञों का मानना है कि सांप को दूध पिलाना उनके हित में कतई नहीं है। दूध पिलाने से हो सकती है मौत जीव कल्याण एवं शिक्षा समिति…