झलकारी बाई जयंती : जानिए उस वीरांगना की कहानी, जिसे मर्दानी कहा जाता है

jhalkari bai,intresting fact of jhalkari bai, jhalkari bai jayanti,jhalkari bai birthday,

चैतन्य भारत न्यूज अंग्रेजों से आजादी दिलाने के लिए न जाने कितने लोगों ने अपनी जानें कुर्बान कर दीं। इन्हीं में से एक हैं झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की नियमित सेना में महिला शाखा दुर्गा दल की सेनापति रहीं झलकारी बाई, जिनकी बहादुरी की गाथा आज भी बुंदेलखंड की लोकगाथाओं और लोकगीतों में सुनी जाती है। आज (22 नवंबर) झलकारी बाई की 190वीं जयंती है। इस मौके पर आज हम आपको बताने जा रहे हैं झलकारी बाई के जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें। झलकारी बाई का जन्म बुंदेलखंड के…

जयंती विशेष: वीरता की अद्भुत मिसाल रानी लक्ष्मीबाई के बारे में जानें कुछ खास बातें

rani laxmi bai jayanti,rani laxmi bai

चैतन्य भारत न्यूज भारतीय वसुंधरा को गौरवान्वित करने वाली झांसी की रानी वीरांगना लक्ष्मीबाई की आज 192वीं जयंती है। 19 नवंबर, 1828 में एक ब्राह्मण परिवार में जन्मीं रानी लक्ष्मीबाई का नाम मणिकर्णिका रखा गया था। उन्हें बचपन में प्यार से मनु या छबीली के नाम से बुलाया जाता था। साल 1842 में उनका विवाह झांसी के मराठा शासक राजा गंगाधर राव के साथ हुआ और वह झांसी की रानी बनीं। जन्‍मदिन के मौके पर आइए जानते हैं रानी लक्ष्मीबाई के जीवन के बारे में… मणिकर्णिका का ब्याह झांसी के…

छत्तीसगढ़ में सैनेटरी पैड का उपहार देकर की जा रही महिला नक्सलियों का दिल जीतने की कोशिश

चैतन्य भारत न्यूज रायपुर. धुर नक्सल प्रभावित छत्तीसगढ़ के बस्तर इलाके में एक नई व रोचक पहल होने जा रही है। महिला नक्सलियों का भरोसा जीतने के लिए एक एनजीओ ने उन्हें सैनेटरी पैड देने की योजना बनाई है। संस्था का दावा है कि इस तरह का प्रयोग कोलंबिया में हो चुका है और वहां शांति वार्ता के दौरान महिला विद्रोहियों को सैनेटरी पैड दिए गए थे। दरअसल, ज्यादातर समय सुरक्षा बलों से बचते हुए जंगलों में गुजारने वाली महिला नक्सलियों के मन को जीतने में यह पहल कारगर हो…

9 साल की लिसिप्रिया ने सरकार से की दिल्ली में हेल्थ इमर्जेंसी लगाने की अपील, ठुकरा चुकी हैं पीएम मोदी का सम्मान

चैतन्य भारत न्यूज राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण बढ़ा तो एक 9 साल की बच्ची ने सरकार से दिल्ली में हेल्थ इमर्जेंसी लगाने की अपील की। इस बच्ची का नाम है लिसीप्रिया कांगुजम जो भारत के पूर्वोत्तर राज्य मणिपुर की रहने वाली हैं। वह दिल्ली में हो रहे जलवायु परिवर्तन के खिलाफ वह अभियान चला रही हैं। लिसीप्रिया ने ट्विटर अकाउंट के जरिए अपनी बात रखी। लिसीप्रिया कांगुजम ने कहा, ‘मैं सभी लोगों से दीवाली पर पटाखे न जलाने की अपील करना चाहती हूं क्योंकि इससे वायु प्रदूषण बढ़ता है…

कोरोना काल में गंभीर रोगों से पीडित और गर्भवती महिलाओ को उपवास न करने की सलाह

pregnant

चैतन्य भारत न्यूज कोरोना महामारी के बीच नवरात्रि में मां दुर्गा की उपासना में बड़ी संख्या में लोग उपवास भी रख रहे हैं, लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि महामारी को देखते हुए उपवास रखना नुकसानदेह हो सकता है। उपवास से शरीर की रोक प्रतिरोधक क्षमता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। खासकर पहले से ही गंभीर रोगों से पीडित लोगों और गर्भवती महिलाओं को तो डॉक्टर उपवास से बचने की सलाह दे रहे हैं। डॉक्टरों के मुताबिक अधिक जोखिम वाले क्षेत्रों से जुड़े लोगों और हाल फिलहाल कोरोना से…

समय में सुखद बदलावः बढ़ रही सिर्फ बेटी की इच्छा, पंजाब- हरियाणा में भी दिखा असर

mother and daughter,mothers day 2019

चैतन्य भारत न्यूज  नई दिल्ली.  कई मामलों में दकियानूसी सोच वाला भारतीय समाज बदल रहा है। कभी सिर्फ बेटों को कुलदीपक मानकर उन्हीं की चाहत रखने वाले लोगों की सोच में परिवर्तन आया है। बीते दिन दशक में सिर्फ बेटी की ख्वाहिश दोगुनी हुई है। अब नए परिवारों में हर कीमत पर बेटे की पैदाइश पर न जोर है, न खास इच्छा है। कभी बेटे की चाहत के लिए कुख्यात रहे हरियाणा में दो बेटियों वाले परिवार 41 प्रतिशत और पंजाब में 37 प्रतिशत बढ़े हैं। यह ट्रेंड सकारात्मक बदलाव…

दिल्ली की 18 वर्षीय चैतन्या 1 दिन के लिए बनी ब्रिटेन की हाई कमिश्नर, महिला सशक्तीकरण की पहल के तहत मिला अवसर

चैतन्य भारत न्यूज दिल्ली की एक लड़की को एक दिन के लिए भारत में ब्रिटेन की उच्चायुक्त (हाई कमिश्नर) बनने का मौका मिला। भारत में स्थित ब्रिटिश उच्चायोग ने अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर दिल्ली निवासी 18 वर्षीय चैतन्या वेंकटेश्वरन को एक दिन के लिए अपना उच्चायुक्त बनाया। ऐसा करने वालीं वो चौथी युवती हैं जो इतनी कम उम्र में इस पद पर बैठी हैं। हर साल होता है प्रतियोगिता का आयोजन दरअसल, दिल्ली स्थित ब्रिटिश उच्चायोग हर साल अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर एक प्रतियोगिता का आयोजन…

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस: देश में सुरक्षित नहीं हैं बेटियां, ऑनलाइन उत्पीड़न का भी हो रही शिकार, इस तरह रहे सुरक्षित

चैतन्य भारत न्यूज हर साल 11 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस (इंटरनेशनल डे ऑफ गर्ल चाइल्ड) मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का मूल उद्देश्य बालिकाओं के सामने आने वाली चुनौतियों और उनके अधिकारों के संरक्षण के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। सालों से चली आ रही बाव विवाह प्रथा, दहेज और कन्या भ्रूष हत्या जैसी रुढ़िवादी प्रथाएं काफी प्रचलित हुआ करती थी। अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस का इतिहास अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बालिका दिवस मनाने की पहल एक गैर-सरकारी संगठन ‘प्लान इंटरनेशनल’ प्रोजेक्ट के रूप में की गई। इस संगठन…

ऑनलाइन क्लास के दौरान प्रोफेसर ने छात्रा को स्तनपान कराने से रोका, बाद में मांगनी पड़ी माफी

चैतन्य भारत न्यूज अमेरिका में एक मां को अपने बच्चे को ऑनलाइन क्लास के दौरान स्तनपान करवाने से रोकने पर प्रोफेसर को माफी मांगनी पड़ी। यह मामला कैलीफोर्निया से सामने आया है। 23 वर्षीय मार्सेला मार्स, फ्रेस्नो सिटी कॉलेज की छात्रा होने के साथ-साथ एक मां भी हैं। उनका दस महीने का बच्चा है। प्रोफेसर के स्तनपान पर रोक लगाने के बाद मार्सेला ने अपने कॉलेज प्रशासन से इसकी शिकायत की। प्रोफेसर ने किया बुरा व्यवहार मार्सेला ने शिकायत में कहा कि, वह ऑनलाइन क्लास के दौरान अपने बच्चे को…

जीनोम एडिटिंग का तरीका ढूंढने वाली 2 महिला वैज्ञानिकों को रसायन का नोबेल पुरस्कार देने की घोषणा

चैतन्य भारत न्यूज नोबेल पुरस्कार (Nobel awards) इस समय पूरी दुनिया में चर्चा में हैं। इसी कड़ी में रसायन के लिए भी इस साल के पुरस्कार विजेताओं का ऐलान हो गया। इस बार फ्रांसीसी वैज्ञानिक इमानुएले शारपेंटियर और अमेरिका की जेनिफर ए डुडना को जीनोम एडिटिंग का तरीका विकसित करने के लिए साल 2020 का रसायन का संयुक्त रूप से नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है। बता दें जीनोम एडिटिंग आनुवंशिक रोगों और यहां तक कि कैंसर के उपचार में भविष्य में मददगार साबित  होगी। BREAKING NEWS: The 2020…