Tokyo Olympics: भारत की शेरनियों ने इतिहास रचा, हॉकी के सेमीफाइनल में पहली बार पहुंची

चैतन्य भारत न्यूज टोक्यो. भारतीय महिला हॉकी टीम ने यादगार प्रदर्शन करते हुए पहली बार ओलंपिक के सेमीफाइनल में जगह बना ली। सोमवार को खेले गए क्वार्टर फाइनल में भारत ने वर्ल्ड नंबर-4 ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से मात दी। जीत की नायिका गोलकीपर सविता पूनिया रहीं, जिन्होंने कुल 9 बेहतरीन बचाव किए। वहीं, भारत के लिए एकमात्र और निर्णायक गोल गुरजीत कौर ने 22वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर किया। अब सेमीफाइनल में भारत का सामना 4 अगस्त को अर्जेंटीना से होगा, जिसने जर्मनी को 3-0 से हराकर सेमीफाइनल में…

बचपन में लकड़ियां बीना करती थीं, अब 21 साल बाद मीराबाई चानू ने देश को दिलाया वेटलिफ्टिंग में सिल्वर मेडल

चैतन्य भारत न्यूज नई दिल्ली. मीराबाई चानू ने ओलंपिक खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में पदक का भारत का 21 साल का इंतजार खत्म किया और 49 किग्रा स्पर्धा में रजत पदक जीतकर टोक्यो ओलंपिक में देश का खाता भी खोला। यह पहली बार है, जब भारत ने ओलंपिक के पहले दिन पदक जीता। देश के लिए मेडल जीतने के बाद मीराबाई चानू बहुत खुश हैं। मीराबाई चानू ने भांगड़ा कर मेडल का जश्न मनाया। PM Modi congratulates Mirabai Chanu on her winning the Silver medal in weightlifting Couldn’t have asked…

लॉकडाउन में बेसहारा पशुओं का सहारा बनीं पूर्व मेजर प्रमिला, पीएम मोदी ने की तारीफ

चैतन्य भारत न्यूज कोटा. पिता के संस्कारों की राह चल बेजुबान पशुओं का सहारा बनी कोटा की पूर्व मेजर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सराहना मिली है। दरअसल, प्रमिला सिंह ने अपने पिता श्यामवीर सिंह के साथ जमापूंजी से लॉकडाउन में सड़कों पर घूम रहे आवारा जानवरों के लिए खाने और इलाज की व्यवस्था की। इस अनोखे काम के लिए पीएम ने पत्र लिखकर उनको धन्यवाद दिया है। पीएम का पत्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोटा के श्रीनाथुपरम निवासी सेना से रिटायर्ड मेजर प्रमिला सिंह के इस कार्य को समाज के…

सड़कों पर झाड़ू लगाने वाली महिला ने पलटी अपनी किस्मत, बनी गई SDM

asha kandara jodhpur

चैतन्य भारत न्यूज चेहरे के चारों तरफ दुपट्टा बांधकर, हाथों में झाड़ू लेकर सड़कों पर सफाई करती एक महिला ने वो कारनामा कर दिखाया जो शायद ही कुछ लोग कर पाते हैं। अब वही महिला एसडीएम बनने जा रही है। किस्मत पलटना इसी को तो कहते हैं, अगर इंसान मन में हौसला रखें और अपनी मंजिल की तरफ बढ़ता रहे तो उसे कोई नहीं रोक सकता। जोधपुर नगर निगम में सफाईकर्मी की नौकरी करके अपना घर चलाने वाली आशा कण्डारा ने मिसाल पेश की है। अपनी मेहनत से आशा ने…

भारतीय सेना ने 147 और महिला अधिकारियों को दिया स्थायी कमीशन

चैतन्य भारत न्यूज भारतीय सेना ने बयान जारी कर कहा कि 147 और महिला अधिकारियों को स्थायी कमीशन (पीसी) प्रदान किया जा रहा है। सेना ने बुधवार को बताया कि अब स्थायी कमीशन के लिए जिन 615 महिला अधिकारियों पर विचार किया गया था, उनमें से 424 को यह दिया जा चुका है। प्रशासनिक कारणों से कुछ महिला अधिकारियों के परिणाम रोके गए हैं। सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार द्वारा दायर स्पष्टीकरण याचिका के परिणाम की प्रतीक्षा है। सुप्रीम कोर्ट को घटनाक्रम की जानकारी देते हुए भारतीय सेना ने कहा कि,…

आज अंतरिक्ष जा रही भारत की बेटी सिरिशा, 4 साल की उम्र में अकेले गई थीं अमेरिका, जानिए उनके बारे में सबकुछ

चैतन्य भारत न्यूज कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स के बाद अब एक और भारतवंशी बेटी अंतरिक्ष की सैर करने वाली है। भारतीय मूल की अमेरिकी सिरिशा बांदला आज अंतरिक्ष की यात्रा के लिए रवाना होने वाली हैं। इसी के साथ वह अंतरिक्ष में जाने वाली देश में जन्मीं तीसरी और तेलुगु-भाषी पहली महिला बन जाएंगी। वह शाम 6.25 बजे अंतरिक्ष के लिए रवाना होंगी। शिरीषा बंडला का जन्म आंध्र प्रदेश के गुंटूर में हुआ था। वे वर्तमान में एक प्रमुख अमेरिकी निजी अंतरिक्ष एजेंसी ’वर्जिन गेलेक्टिक’ के लिए काम करती…

अंतरिक्ष यात्रा पर जाने वालीं हैं देश की बेटी सिरिशा, बचपन का सपना करेंगी पूरा

चैतन्य भारत न्यूज कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स के बाद अब एक और भारतवंशी बेटी अंतरिक्ष की सैर करने वाली है। भारतीय मूल की अमेरिकी सिरिशा बांदला जल्द ही अंतरिक्ष की यात्रा के लिए जाने वाली हैं। इसी के साथ वह अंतरिक्ष में जाने वाली देश में जन्मीं दूसरी और तेलुगु-भाषी पहली महिला बन जाएंगी। शिरीषा बंडला का जन्म आंध्र प्रदेश के गुंटूर में हुआ था। वे वर्तमान में एक प्रमुख अमेरिकी निजी अंतरिक्ष एजेंसी ’वर्जिन गेलेक्टिक’ के लिए काम करती हैं। कंपनी की योजना अगले सप्ताह के अंत में…

जयंती विशेष: वीरता की अद्भुत मिसाल रानी लक्ष्मीबाई के बारे में जानें कुछ खास बातें

rani laxmi bai jayanti,rani laxmi bai

चैतन्य भारत न्यूज भारतीय वसुंधरा को गौरवान्वित करने वाली झांसी की रानी वीरांगना लक्ष्मीबाई की आज पुण्यतिथि है। 19 नवंबर, 1828 में एक ब्राह्मण परिवार में जन्मीं रानी लक्ष्मीबाई का नाम मणिकर्णिका रखा गया था। उन्हें बचपन में प्यार से मनु या छबीली के नाम से बुलाया जाता था। साल 1842 में उनका विवाह झांसी के मराठा शासक राजा गंगाधर राव के साथ हुआ और वह झांसी की रानी बनीं। जन्‍मदिन के मौके पर आइए जानते हैं रानी लक्ष्मीबाई के जीवन के बारे में… मणिकर्णिका का ब्याह झांसी के महाराजा…

गटर अंदर से ठीक से साफ है या नहीं… ये देखने साड़ी पहनकर ही मैनहोल में उतर गई महिला ऑफिसर

चैतन्य भारत न्यूज मुंबई के ठाणे जिले से एक वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो में देखा जा सकता है कि एक महिला सफाई निरीक्षक साड़ी पहनकर नाले की सफाई को जांचने के लिए खुद ही मैनहोल में उतर गई। महिला की काम के प्रति जिम्मेदारी और ईमानदारी को देखकर हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है। सुविधा चव्हाण ने बारिश से पहले शहर के कुछ मैनहोल का निरीक्षण किया था। जांच के दौरान उन्हें सफाई पर संदेह हुआ तो वे सीधे गटर में सीढ़ियों के सहारे उतर गईं। कुछ जगह…

जयंती विशेष: रानी अहिल्याबाई होल्कर जो हाथी की पीठ पर चढ़कर करती थीं युद्ध, पति-पुत्र की मृत्यु के बाद संभाली राज्य की कमान

चैतन्य भारत न्यूज महान शासक और मालवा प्रांत की महारानी अहिल्याबाई होल्कर की आज जयंती है। रानी अहिल्याबाई होल्कर का जन्म महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले के चौड़ी नामक गांव में मनकोजी शिंदे के घर सन 1725 ई में हुआ था। लोग उन्हें राजमाता अहिल्यादेवी होल्कर नाम से भी जानते हैं। उनके पिता मानकोजी शिंदे खुद धनगर समाज से थे, जो गांव के पाटिल की भूमिका निभाते थे। बचपन से था दया और निष्ठा का भाव जब गांव में कोई स्त्री-शिक्षा का ख्याल भी मन में नहीं लाता था तब मनकोजी…