महिला दिवस: इन 5 महिलाओं ने बदली भारतीय राजनीति की तस्वीर, नेतृत्व क्षमता को सभी हुए नतमस्तक

women leaders

चैतन्य भारत न्यूज आज के जमाने में महिलाएं हर मामले में पुरुषों की बराबरी पर हैं। वह घर से लेकर बाहर तक सभी बड़ी जिम्मेदारियां संभाल रही हैं। फिर चाहे वो अंतरिक्ष पर जाना हो या सेना में ही शामिल होकर देश की रक्षा करना हो। इन सब महिलाओं के साथ ही भारत की उन महान राजनीतिज्ञों को भी नहीं भूल सकते हैं जिन्होंने भारत के निर्माण के लिए अहम योगदान दिया है। महिला दिवस के मौके पर हम आपको भारत की उन पांच नेत्रियों के बारे में बता रहे…

देहज उत्पीड़न से तंग आकर साबरमती में कूद गई थी आयशा, मरते दम तक पति से किया बेइंतहा प्यार, वीडियो में कहा- मुझसे गलती कहा हो गई…

चैतन्य भारत न्यूज सोशल मीडिया पर आयशा का नाम वायरल है। अधिकांश यूजर्स आयशा के बारे में बाते करते नजर आ रहे हैं। आयशा बानू मकरानी ने गुजरात के अहमदाबाद जिले में साबरमती नदी में 25 फरवरी को कूदकर अपनी जान दे दी। पहले आयशा ने एक वीडियो बनाया और चेहरे पर मुस्कान और दिल में दर्दों का पहाड़ लेकर उसने पानी में कूदकर आत्महत्या कर ली। आयशा की इस वीडियो ने लोगों को झकझोर कर रख दिया।   पुलिस को इस आत्महत्या मामले में बड़ी सफलता हाथ लगी है।…

पुण्यतिथि विशेष : ‘भारत कोकिला’ के नाम से प्रसिद्ध रहीं सरोजिनी नायडू जा चुकीं हैं जेल, जानें उनसे जुड़ी कुछ खास बातें

sarojini naidu,sarojini naidu death

चैतन्य भारत न्यूज आज ही के दिन स्वतंत्रता सेनानी और कवयित्री सरोजिनी नायडू ने दुनिया को अलविदा कह दिया था। 2 मार्च 1949 को उत्तर प्रदेश के लखनऊ में दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया था। देश की पहली महिला गवर्नर सरोजिनी नायडू को ‘भारत कोकिला’ के नाम से भी जाना जाता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं सरोजिनी नायडू से जुड़ी कुछ खास बातें जिन्हें बहुत कम लोग जानते हैं। सरोजिनी का जन्म 13 फरवरी 1879 को हैदराबाद में हुआ था। सरोजिनी स्वतंत्रता सेनानी,…

तलाक पर ऐतिहासिक फैसलाः जज ने कहा- शादी के बाद महिला ने घर में काम किया, पति को देना होगा 5 लाख मुआवजा

divorce,relationship,breakup

चैतन्य भारत न्यूज बीजिंग. दुनियाभर में हर काम करने के बदले वेतन मिलता है। लेकिन एक काम ऐसा भी है जिसके बदले कोई वेतन नहीं मिलता और वो है घर का काम। महिलाएं सुबह नींद खुलने से लेकर रात के सोने तक घर के कामों में लगी रहती है। जो महिलाएं कामकाजी होती है उन्हें भी घर का काम करना पड़ता है लेकिन इसके लिए उन्हें कोई वेतन नहीं मिलता। इसे लेकर चीन के एक कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने शख्स को अपनी पूर्व पत्नी को शादीशुदा…

मंगल ग्रह पर NASA के Perseverance Rover की सफलतापूर्वक लैंडिंग हुई, भारत की बेटी ने निभाई अहम भूमिका

चैतन्य भारत न्यूज अमेरिका की स्पेस एजेंसी NASA ने गुरुवार की रात विज्ञान की दुनिया में एक और मील का पत्थर अपने नाम किया है। नासा ने 18 फरवरी की रात करीब 2:30 बजे अपने मार्स पर्सिवरेंस रोवर को जेजेरो क्रेटर में सफलतापूर्वक लैंड कराया। इस लैंडिंग के दौरान एक महिला लगातार पूरी दुनिया को रोवर की स्थिति के बारे में बता रही थी। वह महिला भारतीय मूल की अमेरिकी साइंटिस्ट हैं जिनका नाम है स्वाति मोहन। It’s go time. The team is watching from Mission Control at @NASAJPL. Join…

जानिए कौन हैं जस्टिस पुष्पा वीरेंद्र, जिन्होंने यौन अपराध को लेकर दिए बैक-टू-बैक विवादित फैसले

चैतन्य भारत न्यूज बॉम्बे हाईकोर्ट की जस्टिस पुष्पा वीरेंद्र गनेडीवाला पिछले कुछ दिनों से अपने कुछ विवादित फैसलों को लेकर चर्चा में हैं। उनके द्वारा लिए गए इन फैसलों के कारण जस्टिस पुष्पा का प्रमोशन तक रोक दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने जस्टिस पुष्पा वीरेंद्र को स्थाई न्यायाधीश के रूप में नियुक्त करने के प्रस्ताव को मंजूरी देने के बाद अब वापस ले लिया है। जानकारी के अनुसार पॉक्सो ऐक्ट वाले मामले में जस्टिस पुष्पा के फैसले के व्याख्यान के बाद यह कदम उठाया गया है। इन दो…

जन्मदिन विशेष: गरीब बुनकर परिवार से हैं ‘स्वर्ण बेटी’ दुती चंद, जानिए उनके परिश्रम से जुड़ी कहानी

dutee chand,

चैतन्य भारत न्यूज भारतीय स्टार एथलीट दुती चंद का आज 25वां जन्मदिन है। 3 फरवरी 1996 को ओड़िसा के जाजपुर जिले के गरीब परिवार में जन्मीं दुती तीसरी महिला खिलाड़ी हैं, जिन्होंने ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेलों के 100 मीटर की इवेंट में क्वालीफाई किया है। साथ ही इन्होंने इटली में जुलाई, 2019 में संपन्न वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स में इतिहास रचा। ये वहां महिलाओं के ट्रैक एंड फील्ड इवेंट्स में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली महिला बन गयीं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं दुती से जुड़ी कुछ खास बातें… दुती…

राष्ट्रीय बालिका दिवस: हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहीं हैं लड़कियां, जानें इस दिन का इतिहास और उद्देश्य

national girl child day

चैतन्य भारत न्यूज हर साल 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है। इस दिन को साल 2008 में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने मनाने की शुरुआत की थी। इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य लड़कियों को समान अधिकार देने से संबंधित है। राष्ट्रीय बालिका दिवस का इतिहास 24 जनवरी के दिन ही इंदिरा गांधी पहली बार प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठी थीं। यही वजह है कि 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया गया। यह निर्णय राष्ट्रीय स्तर पर लिया…

एयर इंडिया की महिला पायलटों ने रचा इतिहास, 16 हजार किमी उड़ान भरकर पहुंची भारत, देश ने किया सलाम

चैतन्य भारत न्यूज एअर इंडिया (Air India) की महिला पायलटों की एक टीम ने दुनिया के सबसे लंबे हवाई मार्ग उत्तरी ध्रुव (नॉर्थ पोल) पर उड़ान भरने का कीर्तिमान रच दिया है। चार महिला चालकों का दल पहली बार 16 हजार किलोमीटर लंबी उड़ान के बाद सोमवार तड़के 3:45 बजे बंगलूरू के केम्पेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पहुंचा। एयर इंडिया के महिला पायलटों की यह टीम अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को शहर से उड़ान भरने के बाद एयर इंडिया के महिला पायलटों की यहनॉर्थ पोल से होते हुए बेंगलुरु पहुंच गई है।…